leo

सिंहराशि पर

संस्कृत या वैदिक नाम : सिंह

प्रमुख लक्षण : जीवंत, क्रिएटिव, स्टेबल, लीडरशिप और कंसिसटेंस

सबसे बड़ी इच्छा : शाइन लाइक ए स्टार

सबसे प्रमुख गुण : इन्सपायर्ड, डेडिकेटेड, एम्बिशियस, एक्सप्रेसिव, फीयरलेस, करेजियस, चार्मिंग और बोल्ड

लाइफ फिलोसॉफी : पैर जमीन पर आग दिल में और जीत पर निगाहें

राशिचक्र में 121 से 150 डिग्री तक के क्षेत्र को सिंह राशि के नाम से जाना जाता है। राशि क्रम में सिंह का नंबर पांचवां है और यह अग्नि तत्व की दूसरी राशि है। सिंह राशि के प्रकार या स्वभाव की बात करें तो यह एक फिक्स्ड मतलब स्थिर साइन है। सिंह राशि के लोगों को सदैव स्पाॅटलाइट में रहना पसंद होता है, क्योंकि वे खुद को किसी सेलेब्रिटी से कम नहीं मानते। अपने रिश्तेदारों, फैमिली व फ्रेंड के यहां दिलकश पार्टियों, लेट नाइट डीनर और सामाजिक समारोह में आकर्षण का केंद्र होते हैं।

सिंह को आकाशीय जंगल के राजा और रानी के तौर पर भी प्रस्तुत किया जाता है। इन सिंह राशि के लोगों को शोबाज भी कहा जा सकता है। जीवन की भव्यता और शक्ति को प्रदर्शित करने वाली इस राशि के स्वामी सूर्य है। ये लोग सोशल एनिमल होते हैं, और उनका सामाजिक दायरा अन्य राशियों की तुलना में बड़ा होता है।

सूर्य को नवग्रहों में राजा की उपाधि प्राप्त है। सूर्य के प्रभाव के कारण ही सिंह राशि के लोगों का स्वभाव राजसी व रौबदार होता है। वे मजबूत कद काठी वाले होते हैं और उन्हें किसी के अधीन रहना पसंद नहीं होता। सिंह राशि वाले जातकों में गजब की लीडरशिप क्वालिटी होती है।

एक नजर डालें सिंह राशि पर

सिंह राशि चिह्न

सिंह राशि चिह्न

सिंह पुरुषत्व से भरपूर राशि हैं, जिसका प्रतीक चिह्न शेर हैं। इनके व्यक्तित्व में गजब की शक्ति और महिमा होती हैं। जो इन्हें जन्मजात लीडर बनाने का कार्य करती हैं। सिंह अव्यक्त शक्ति से भरपूर होते हैं और वे अपने शिकार को मात्र देखकर ही घायल करने की क्षमता होती है। सिंह जातक शेर की ही तरह महत्वाकांक्षी होते हैं और अपने पसंद के क्षेत्र में सबसे ऊपर तक पहुंचने का प्रयास करते हैं। ठीक उसी तरह जैसे शेर अपने क्षेत्र में किसी अन्य की दखलअंदाजी पसंद नहीं करता है।
सिंह राशि का मास्टर प्लेनेट - सूर्य (सन)

सिंह राशि का मास्टर प्लेनेट - सूर्य (सन)

सिंह राशि का मास्टर प्लेनेट सूर्य हैं, जो हमारे सौर मंडल का राजा है। सूर्य केंद्र में होता हैं और अन्य ग्रह उसी की परिक्रमा करते हैं। सूर्य के प्रकाश से ही अन्य सभी ग्रहों को प्रकाश प्राप्त होता है और एनर्जी का मुख्य स्रोत भी सूर्य ही हैं। ज्योतिषीय शास्त्र के अनुसार सूर्य हमारी इच्छा का प्रतिनिधित्व करता है, यह ईंधन की तरह हमारे पर्सनल इंट्रेस्ट को बनाए रखने का काम करते हैं। सूर्य द्वारा शासित होने के कारण सिंह राशि के लोगों में भी अपने आसपास के लोगों का पोषण करने की गजब की क्षमता होती है।
सिंह का रूलिंग हाउस - फिफ्थ

सिंह का रूलिंग हाउस - फिफ्थ

सिंह चार्ट के फिफ्थ हाउस को कंट्रोल करता है, इस घर का सीधा संबंध बच्चों से होता हैं। पांचवें घर के प्रभाव के कारण ही सिंह राशि के लोग अपनी भावनाओं और इच्छाओं को किसी बच्चें की तरह प्रकट करते हैं। यहां तक कि जब आप बड़े हो जाते हैं, तो यह आपके स्वभाव को प्रभावित करता है और इसका सबसे शानदार प्रभाव तब दिखाई देता हैं जब आप बच्चों के साथ बच्चा बन जाते हैं। सही मायनों में सभी आत्म एक्सप्रेशन और क्रिएटिविटी इस हाउस से जन्म लेती हैं। इतना ही नहीं पांचवें हाउस का संबंध लव लाइफ से भी होता है। पांचवें भाव को आनंद और उल्लास का भी घर कहा जाता है।
सिंह तत्व राशि - अग्नि (फायर)

सिंह तत्व राशि - अग्नि (फायर)

सिंह राशि चक्र का दूसरा फायर साइन है, इसके अलावा मेष और धनु भी अग्नि तत्व की राशियां है। अग्नि तत्व राशि होने के कारण सिंह राशि के लोगों को उनकी एनर्जी और एक्साइटमेंट के लिए भी जाना जाता है। अग्नि तत्व राशि होने के कारण सिंह की एनर्जी समय के साथ कम नहीं होती, बल्कि आपकी एनर्जी किसी वायरल की तरह दूसरों को भी ऊर्जा देने का काम करती है। हालांकि सिंह में अग्नि की तरह आगे की योजना बनाने की क्षमता नहीं होती है और उन्हें अपने कामों में अप्रत्याशित होने के लिए भी जाना जाता है। सिंह राशि के लोगों में अग्नि के समान ही कभी तृप्त न होने गुण होते हैं, और वे सदैव अपने काम को आगे बढ़ने में लगे रहते हैं।
सिंह राशि का प्रकार - फिक्स्ड (स्थिर)

सिंह राशि का प्रकार - फिक्स्ड (स्थिर)

फिक्स्ड मतलब स्थिर राशियों को उनकी दृढ़ता के लिए जाना जाता है। स्थिरता सिंह राशि के लिए कीवर्ड के समान है। अग्नि तत्व के साथ निश्चित प्रकृति उन्हें गजब की स्ट्रेंथ देने का काम करती है, इससे उन्हें खुद को व्यक्त करनी की क्षमता भी मिलती है। अपनी स्थिर प्रकृति के कारण सिंह राशि के लोग अपनी थाॅट्स को जमीन पर उतारने के लिए अपना बेस्ट देने का प्रयास करते हैं। वे किसी शेर की तरह अपने लक्ष्य का तब तक पीछा करते हैं, जब तब वह उसे प्राप्त न कर लें।
सिंह जन्म का रत्न - माणिक्य (रूबी)

सिंह जन्म का रत्न - माणिक्य (रूबी)

सिंह राशि के लोगों के लिए माणिक्य भाग्यशाली रत्न माना जाता है। सूर्य की तरह सुर्ख लाल रूबी सिंह राशि के जीवन पाॅजिटिव बदलाव लाने में सक्षम होता है। इस रत्न को धारण करने से सूर्य से मिलने वाली एनर्जी को बढ़ाया जा सकता है, जिसे सिंह जातक अपने लाभ के लिए उपयोग कर सकते है। रूबी पहनने से आत्मविश्वास बढ़ोतरी होती है और नाम, प्रसिद्ध और लोकप्रियता में भी वृद्धि होती है। हालांकि कभी-कभी रत्न धारण करने के लिए दूसरों ग्रहों की एनर्जी का अध्ययन किया जाना चाहिए।
सिंह रंग - गुलाबी (पिंक)

सिंह रंग - गुलाबी (पिंक)

गुलाबी रंग सिंह राशि के लोगों के लिए बेहद लाभदायक और पाॅजिटिविटी लाने वाला होता है। सिंह राशि के लोग यदि गुलाबी रंग के वस्त्र धारण करते है या महज एक गुलाबी रंग का टुकड़ा भर भी अपनी जेब में रखते हैं तो उन्हें इससे कई तरह के लाभ मिलने की संभावना होती है। गुलाबी रंग फैमिली में आत्मीयता बढ़ाने का कार्य करता है। मैरिड सिंह कपल को अपने बेडरूम में इस रंग का उपयोग करना चाहिए इससे उनकी मैरिड लाइफ और भी रोमांटिक और अंतरंग हो सकती है।

सिंह अनुकूलता

असंगत मिलान : वृषभ और वृश्चिक

तटस्थ मैच : मीन

सिंह राशि के लिए सबसे बस्टे साइन एक सिंह ही हो सकता है, सिंह और सिंह की जोड़ी में जबरदस्त अनुकूलता देखने को मिलती है। इसके अतिरिक्ति अग्नि तत्व की अन्य राशियों जैसे धनु और मेष के साथ भी सिंह की अनुकूलता अच्छी होती है। वायु तत्व की राशियों की बात करें तो मिथुन और तुला के साथ भी सिंह का एक अच्छा मैच बन सकता है, क्योंकि ये दोनों ही राशियां सिंह के उत्साह और जुनून को बनाए रखने में हेल्प करती है। वहीं पृथ्वी तत्व वृषभ और जल राशि वृश्चिक के साथ संबंधों में सिंह जातकों को कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है, क्योंकि इन दोनों ही राशियों के स्वभाव सिंह को चुनौती देने का काम करते हैं, इससे उनमें असुरक्षा का भाव पैदा होता है। इन राशियों के साथ सिंह अपने अंतर को कम करने की जगह गहरी खाई बनाने का कार्य करते हैं। वाटर साइन मीन के साथ भी सिंह के संबंध जटिल हो सकते हैं, क्योंकि इनकी प्रकृति एक दूसरे के अनुकूल नहीं होती और वे दोनों एक दूसरे के साथ अधिक समय तक तालमेल भी नहीं बिठा पाते। हालांकि मीन के साथ भी कुछ हद तक चीजें नाॅर्मल हो सकती है, लेकिन यह बेस्ट नहीं हो सकती है।

सिंह लकी चार्म
लकी कलर: गुलाबी
लकी स्टोन: माणिक्य (रूबी)
भाग्यशाली दिन: रविवार
लकी मेटल: सोना, लोहा और पीतल

सिंह प्लैनेटरी गवर्नर

  • राशि स्वामी - सूर्य (मार्स)

    सौरमंडल के राजा सूर्य से सिंह राशि के लोगों को भरपूर समर्थन मिलता है। सूर्य सौरमंडल की शक्ति का केंद्र है। सिंह राशि के शासक के नाते सूर्य का इस राशि पर अधिक प्रभाव होता है, जिससे सिंह को भरपूर सेल्फ काॅन्फिडेंस और काम करने की क्षमता प्राप्त होती है। सूर्य बल और कीर्ति के दाता है, जिससे सिंह के अंदर इन्हें प्राप्त करने की प्रबल इच्छा पैदा होती है।

  • सिंह राशि में कमजोर ग्रह- शनि (सेटर्न)

    सिंह राशि के लिए में कोई ग्रह उच्च या नीच का नहीं होता, लेकिन शनि, शुक्र इतना अच्छा परिणाम नहीं देते हैं। सामान्य और सीधे शब्दों में कहें तो सिंह राशि में शनि ग्रह के प्रभाव कमजोर होते हैं।  शनि की सिंह राशि में मौजूदगी लोगों के काॅन्फिडेंस, क्रिएटिविटी और आर्टिस्टिक क्षमताओं में कमी लाने का काम करती है।