अपनी राशि के अनुसार करें मां लक्ष्मी के स्वरूप की पूजा

हिंदू धर्म के प्रमुख देवताओं में एक देवी लक्ष्मी को माना जाता है, और वह धन, ज्ञान और समृद्धि की स्वामी हैं। मां लक्ष्मी की पूरी भक्ति के साथ पूजा करने से आपको मनचाहा धन लाभ प्राप्त हो सकता है। या आप देवी का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं। हम सभी जानते हैं कि हिंदू धर्म के देवी-देवताओं की अलग-अलग रूपों में पूजा की जाती है और हर रूप का एक विशेष अर्थ तथा उद्देश्य होता है। इसी तरह मां लक्ष्मी के भी अलग-अलग रूप हैं और इसलिए हमें इसके बारे में जानना जरूरी है। हमें इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि देवी के किस रूप की किस प्रकार पूजा की जाए। आपकी शंकाओं को दूर करने के लिए, हमने अपने सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषियों को हमारे एस्ट्रो-प्लेटफॉर्म पर बुलाया ताकि आप देवी लक्ष्मी के विभिन्न रूपों के बारे में जान सकें। तो आइए बिना समय बर्बाद किए जानते हैं देवी लक्ष्मी के विभिन्न रूप और उनसे जुड़ी हुई अन्य महत्वपूर्ण बातें।


देवी लक्ष्मी की पूजा का महत्व (Significance Of Worshipping Goddess Lakshmi)

हिंदू संस्कृति में, लोग मां लक्ष्मी से आशीर्वाद और प्यार पाने के लिए उनकी पूजा करते हैं। उन्हें भाग्य, सौंदर्य, प्रकाश और धन की देवी माना जाता है। देवी लक्ष्मी भगवान विष्णु की पत्नी हैं, वह आंतरिक शक्ति, ऊर्जा और समृद्धि का प्रतीक हैं। देवी को प्रसन्न करने के लिए लोगों को लालच, आलस्य और बुरे व्यवहार से दूर रहना चाहिए। भक्त उन्हें महालक्ष्मी कहते हैं क्योंकि वह तीन त्रिदेवियों में से एक हैं। ऐसा माना जाता है कि देवताओं और राक्षसों द्वारा एकजुट होकर किए गए समुद्र मंथन के समय लक्ष्मी का जन्म हुआ था। उन्होंने भगवान विष्णु को अपने पति के रूप में चुना।

मां लक्ष्मी का धार्मिक रूप से आह्वान करने वाले भक्त सकारात्मक दिमाग और आध्यात्मिक जीवन का विकास कर सकते हैं। हिंदू धर्म के नियमानुसार देवी मां लक्ष्मी की पूजा करने के लिए किसी भी शुभ दिन को लेकर विचार किया जाता है। आप में से कई लोगों ने देखा होगा कि दिवाली या छोटी दीपावली के त्योहार के दौरान लोग लक्ष्मी मंदिर में जाते हैं। मां लक्ष्मी के विभिन्न रूप उनके अनगिनत गुणों से जुड़े हैं। तो आइए एक नजर डालते हैं देवी लक्ष्मी तथा विभिन्न चन्द्र राशियों से उनके अलग-अलग रूपों के संबंध पर और साथ ही जानते हैं उनके संबंधित मंत्र


विभिन्न चंद्र राशियों के लिए देवी लक्ष्मी का रूप (Goddess Lakshmis Forms For Various Moon Signs)

नीचे विभिन्र राशियों को देवी लक्ष्मी के किस स्वरूप की और किस मंत्र के साथ पूजा करनी चाहिए, यह बताया गया है। पुराणों और वेदों के आधार पर इस प्रकार आप अपनी राशि के अनुरूप लक्ष्मी की पूजा करेंगे तो निश्चय ही मां लक्ष्मी आप पर प्रसन्न होकर आपकी सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करेगी। आइए जानते हैं इस रहस्य के बारे में विस्तार से

मेष राशि के लिए रमा देवी (Rama Devi For Aries Sign)

मेष राशि के जातकों को राम की पूजा करने की सलाह दी जाती है। देवी लक्ष्मी का रूप या स्वरूप रूप दोनों विभिन्न है। आप नीचे दिए गए मंत्रों का जाप करके देवी को अपनी प्रार्थना में रखें। इसे कर के आप अपने जीवन में अच्छा स्वास्थ्य, समृद्धि, कल्याण और खुशी अर्जित कर सकते हैं।

मंत्र
ॐ श्री लक्ष्मी देवायाय नमः श्री ह्री

वृषभ राशि के लिए मोहिनी माता (Mohini Mata For Taurus Sign)

वृषभ राशि के जातकों को देवी लक्ष्मी के मोहिनी रूप को प्रणाम करना चाहिए। आपको अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए मंत्र का प्रयोग करके देवी के नाम का ध्यान करना चाहिए। इस मंत्र का जाप नियमित रूप से करना चाहिए, खासकर दिवाली के समय तो विशेष रूप से इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

मंत्र
ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद:प्रसीद:श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:॥

पद्माक्षी देवी मिथुन राशि के लिए (Padmakshi Devi For Gemini Sign)

मिथुन राशि के जातकों को लक्ष्मी पूजा करते समय मां लक्ष्मी के पद्माक्षी रूप का स्मरण करना चाहिए। देवी को प्रसन्न करने के लिए प्रसाद चढ़ाएं और नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें।

मंत्र
ॐ श्री लक्ष्मी देवायाय नमः श्री ह्री

कर्क राशि के लिए कमला देवी (Kamala Devi For Cancer Sign)

कर्क राशि के जातकों को देवी लक्ष्मी के कमला रूप की पूजा करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति हो सकती है। आप अच्छे स्वास्थ्य का विकास भी कर सकते हैं और कमला माता की कृपा से जीवन में सफलता प्राप्त करने के तरीके खोज सकते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार इस राशि के जातकों को लक्ष्मी पूजा करते समय कनकधारा मंत्र का पाठ करना चाहिए।

सिंह राशि के लिए क्रांति देवी (Krantimati Devi For Leo Sign)

सिंह राशि के तहत पैदा हुए जातकों को मां लक्ष्मी के रूप देवी क्रांतिमति को अपना सर्वोच्च सम्मान देना चाहिए। ऐसा करने से आप उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं और अपने जीवन में खुशियां ला सकते हैं। मां लक्ष्मी पूजा के दौरान नीचे दिए गए मंत्र का जाप करना चाहिए।

मंत्र
ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम:

कन्या राशि के लिए मां अपराजिता (Maa Aparajita For Virgo Sign)

यदि आप कन्या राशि के जातक हैं तो आपको अपने जीवन में सकारात्मक परिणाम प्राप्त करने के लिए देवी लक्ष्मी के अपराजित रूप की पूजा करनी चाहिए। ऐसा कर आप अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए आप नीचे दिए गए मंत्र का उपयोग करके उनके नाम का ध्यान कर सकते हैं।

मंत्र
ॐ महालक्ष्मी च विदमहे, विष्णुपत्नी च धीमहि। तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात।।

तुला राशि के लिए पद्मावती देवी (Padmavati Devi For Libra Sign)

तुला राशि के जातकों को देवी पद्मावती की पूजा करने की सलाह दी जाती है। यह मां लक्ष्मी का एक स्वरूप है। यह भगवान को प्रसन्न करने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है। यदि आप अपनी भक्ति से देवी को प्रभावित करने में सफल हो जाते हैं, तो आपको अपने समस्त प्रकार के आर्थिक संकटों से छुटकारा मिल सकता है। अपनी इच्छा की पूर्ति के लिए नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें।

मंत्र
ॐ महालक्ष्म्यै नम:॥

वृश्चिक राशि के लिए देवी राधा (Goddess Radha For Scorpio Sign)

वृश्चिक राशि के जातकों को राधा स्वरूप की पूजा करने के लिए विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए। आपको आगे सलाह दी जाती है कि भगवान को प्रसन्न करने के लिए अपने घर में लक्ष्मी पूजा का आयोजन करें। लक्ष्मी पूजा के दौरान आपको श्री सूक्त मंत्र का स्मरण करना चाहिए। दिवाली त्योहार हो या फिर नया साल, इसके आसपास आपको अच्छे परिणाम मिल सकते हैं।

अब आप भी एक क्लिक कर अपने घर पर लक्ष्मी पूजा का आयोजन कर सकते हैं। अपने घर पर पूजा करने के लिए एक्सपर्ट ज्योतिषियों से केवल एक रुपया प्रति मिनट में बात करें।

धनु राशि के लिए मां विशालाक्षी (Maa Vishalakshi For Sagittarius Sign)

धनु राशि के जातक को विशालाक्षी स्वरूप मां लक्ष्मी का आह्वान करना चाहिए। मां की पूजा करते समय आपको ताजे कमल के फूल, सूखे मेवे और शुद्ध घी चढ़ाकर पूजा करनी चाहिए। मां विशालाक्षी को प्रसन्न करने का सबसे अच्छा तरीका दिवाली के त्योहार के दौरान यज्ञ का आयोजन करना है।

मकर राशि के लिए देवी लक्ष्मी (Goddess Lakshmi For Capricorn Sign)

मकर राशि के जातकों को कमल के फूल या ताजे गुलाब का भोग लगाकर देवी लक्ष्मी का सम्मान करना चाहिए। देवी लक्ष्मी की मूर्ति को चंपा के फूल भी चढ़ा सकते हैं। यदि आप श्रद्धा और भक्ति के साथ उनकी पूजा करते हैं, तो आप अपने जीवन में सफलता अर्जित कर सकते हैं। आप धन और विलासितापूर्ण जीवन का विकास कर सकते हैं।

कुंभ राशि के लिए रुक्मणी देवी (Rukmani Devi For Aquarius Sign)

कुंभ राशि के जातकों को देवी लक्ष्मी के सुंदर रूप रुक्मिणी देवी की पूजा करनी चाहिए। अपने घर में यज्ञ या लक्ष्मी पूजा का आयोजन करने से आपको देवी का आशीर्वाद प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। आपको फल या बिल्वपत्र का प्रसाद बनाना चाहिए। ऐसा करने से मां लक्ष्मी आपकी भक्ति से प्रभावित हो सकती हैं, और आपको सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

मीन राशि के लिए विलक्षणा देवी (Vilakshana Devi For Pisces Sign)

मीन राशि के जातकों को अपने घर के मंदिर में देवी लक्ष्मी के एक रूप विलक्षणा देवी की मूर्ति रखनी चाहिए। अगरबत्ती या दीया जलाकर लक्ष्मी पूजा करें। उसे ताजे फल और कमल के फूल का प्रसाद चढ़ाएं। ऐसा करने से आपको देवी की विशेष कृपा प्राप्त हो सकती है।


आखिर में

अत: में ऐसा माना जाता है कि अपनी चंद्र राशि के अनुसार देवी लक्ष्मी की पूजा करने से आपको सफलता और कल्याण की नई ऊंचाइयां प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। देवी का आह्वान करने से आपको जीवन की कई बाधाओं से छुटकारा मिल सकता है। लक्ष्मी पूजा का आयोजन करके व्यक्ति अपने परिवार में शांति और खुशी को बहाल कर सकता है। अब आप जान गए हैं कि आपको मां लक्ष्मी के किस रूप की पूजा करनी है। इसलिए अपनी पूजा में देवी लक्ष्मी का ध्यान रखें। मां लक्ष्मी आप पर सदैव कृपा बनाये रखें।



Get 100% Cashback On First Consultation
Pay Now