चूहा और बैल अनुकूलता के बारे में विस्तृत रूप से जानिए

वैदिक ज्योतिष के विपरीत चीनी ज्योतिष एक ऐसा वर्गीकरण है, जो जानवरों पर आधारित है। यह सितारों और ग्रहों के संरेखण पर अधिक बल देता है। इस प्रणाली में कुल 12 जानवर चेन में एक-दूसरे से जकड़े हुए हैं। ऐसा माना जाता है कि ये सभी 12 जानवर एक दर्जन साल के अंत में खुद को दोहराते हैं। जैसे कि चूहा और बैल चीनी राशियां हैं, जिनमें कि चूहे पानी के पृथ्वी तत्व से जुड़े हुए हैं। वहीं, बैल का संबंध पृथ्वी तत्व से है। इन जानवरों का व्यक्तित्व कैसा होगा और दूसरों के साथ उनकी अनुकूलित किस तरह की रहेगी, इन सभी चीजों को इनके संबंधित तत्व नियंत्रित करते हैं। इस लेख में हम आपको चूहे और बैल की अनुकूलता के बारे में जानकारी दे रहे हैं। तो चलिए, अब हम इसके बारे में पढ़ने की करते हैं शुरुआत…


चीनी राशि चूहा और बैल: व्यक्तित्व के लक्षण

चूहे एक मेहनती जातक की तरह होते हैं। अपने परिवार का पालन-पोषण करने की उनमें बहुत ही अच्छी क्षमता मौजूद होती है। उनकी निष्ठा महान होती है। उनके अंदर किसी चीज को करने की ललक होती है। उनमें किसी भी चीज के प्रति समर्पण भी खूब होता है। महिला बैल अपने पुरुष चूहे के लिए घर को बहुत ही आरामदायक और बेहद सुरक्षित बना देती हैं। मादा बैल हमेशा चिंताओं से घिरी रहती हैं। चूहे पूरे संयम के साथ अक्सर उन्हें आराम पहुंचाने की कोशिश में रहते हैं। बैल कठोर और दृढ़ निश्चयी होते हैं। उन्हें इस बात की समझ होती है कि लक्ष्यों को किस तरीके से निर्धारित करना है और कैसे लक्ष्य तक पहुंचना है।

चूहे अपनी चतुरता और बौद्धिक क्षमता के लिए जाने जाते हैं। जोड़-तोड़ करने में तो उन्हें बड़ी ही कुशलता हासिल होती है। अपने व्यक्तिगत लक्ष्यों को हासिल करने के लिए वे दूसरों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। चूहे के वर्ष में जन्म लेने वाले जातक ज्यादातर नेता बन जाते हैं। लिंग की परवाह न करते हुए चूहे अपने साथी बैल को नियंत्रित करने का प्रयास करते हैं। चूहे और बैलों का व्यक्तित्व वाकई बहुत ही अलग होता है। हालांकि, जब वे एक साथ आते हैं, तो वे एक दुर्लभ संयोजन भी बना सकते हैं। यह जोड़ी इस मुहावरे को चरितार्थ करती है कि विरोधी आकर्षित करते हैं।


पुरुष चूहे: व्यक्तित्व का अवलोकन

चूहे ज्ञानी होते हैं। वे चतुर होते हैं और करिश्माई भी होते हैं। चूहे बड़े तेज तर्रार और यथार्थवादी होते हैं। वे काफी आशावादी भी होते हैं। आर्थिक रूप से भी वे जानकार होते हैं और सामाजिक रूप से भी। चूहा राशि में पैदा हुए जातकों के व्यक्तित्व के ये सभी लक्षण हैं। चूहों में कमी यही होती है कि वे बड़े ही शर्मीले होते हैं। कई बार वे बड़े जिद्दी और चिड़चिड़े भी नजर आते हैं। इतना ही नहीं, वे बड़े अभिमानी और कुटिल स्वभाव के भी होते हैं। सत्ता की उनमें  भूख होती है। उनके ज्यादा चिड़चिड़े होने की आशंका बनी रहती है। पुरुष चूहे, जो संकीर्ण मानसिकता वाले और नाजुक भी होते हैं, वे एक समर्पित पति हो सकते हैं, जो अपनी पत्नियों का पूरा सम्मान करते हैं। वित्तीय तौर पर अपनी संपन्नता के बावजूद पुरुष चूहे उन लोगों के प्रति बहुत ही उदार होते हैं, जिन्हें वे प्यार करते हैं।

चूहा राशि में जन्म लेने वाले अधिकतर जातक ज्यादातर बड़े ही उत्साही होते हैं और उन्हें पूरी दुनिया में किसी भी चीज से कमजोर नहीं किया जा सकता है। इसकी वजह से उनके हजारों फॉलोवर्स उनकी ओर आकर्षित हो जाते हैं। जब वे एक लंबी अवधि तक चलने वाले रिश्ते के लिए प्रतिबद्ध हो जाते हैं, तो उनके साथी उन्हें थोड़ा लापरवाह पाते हैं। साथ ही उन्हें उनमें साहस की कमी भी नजर आती है। वास्तव में उनके अंदर की आत्मा काफी नाजुक और कोमल होती है।

 

चूहे जिनकी परवाह करते हैं, उनके प्रति वे हमेशा करुणा का भाव रखते हैं। उनके प्रति वे संवेदनशीलता और सहिष्णुता भी दिखाते हैं। चूहे के वर्ष में जन्म लेने वाले जातकों से यह उम्मीद की जाती है कि वे सच्चा प्यार करेंगे। हालांकि इसके लिए उनका धैर्यवान होना और वफादार होना जरूरी होता है। पुरुष चूहे न।केवल सौम्य स्वभाव के होते हैं, बल्कि वे सुरुचिपूर्ण, सम्मानजनक और चिंतनशील व्यवहार के साथ शांत चित्त वाले भी होते हैं। अपने रिश्ते को वे हमेशा बड़ी ही गंभीरता से लेते हैं, लेकिन ज्यादा सफलता की वजह से वे कई बार अनाड़ी की तरह भी बर्ताव करते हैं। इसकी वजह से वे अपने प्यार को भी खो देते हैं। जब सुंदर लड़कियां उनका मजाक उड़ाती हैं, तो भले ही वे पूरे विनम्र और ईमानदार होते हैं, लेकिन वास्तव में उनका नियंत्रण खुद पर से खत्म हो जाता है। वे जब उनके साथ होते हैं, जिनसे वे प्यार करते हैं, तो वे बस स्वयं ही होते हैं। अपने सच्चे स्वरूप को वे जाहिर कर देते हैं। विवाह के हिसाब से वे लगभग आदर्श होते हैं, क्योंकि वे बड़े ही व्यवहारिक प्रवृत्ति के इंसान होते हैं। वे एक सफल पति और पिता बनने की कोशिश करते हैं।

क्या 2021 में चूहा का वर्ष भाग्यशाली है

वर्ष 2021 में चूहा राशि में जिन जातकों का जन्म हुआ है या होने वाला है, उनका भाग्य स्थिर रहेगा। उनकी दृढ़ता, धैर्य और उनकी निष्ठा की वजह से उनमें से अधिकांश जातकों को अपने कॅरियर में आगे बढ़ने के लिए कई सुनहरे अवसर प्राप्त होने वाले हैं। वे बहुत ही उत्कृष्ट तरीके से अपना कार्य करेंगे। साथ ही उनके अंदर नए विचार भी आएंगे। इसकी वजह से न केवल उनके कॅरियर में पदोन्नति होगी, बल्कि उनके वेतन में भी बढ़ोतरी देखने के लिए मिलेगी। चूहों को अपनी रोजाना की जिंदगी में पैसे बचाने के लिए इसलिए प्रोत्साहित किया जाता है, ताकि आपातकालीन परिस्थितियों से निपटने में उन्हें आसानी हो।

 

वर्ष 2021 के लिए चूहा भाग्य पूर्वानुमान पर नजर डालें, तो प्रेम संबंधों में उनका भाग्य बहुत ही अच्छा रहने वाला है। सच्चा प्यार पाने के लिए उन्हें कई बार साहसी होने की जरूरत पड़ेगी। चूहों के लिए जीवन साथी के साथ मधुर प्रेम जीवन का आरंभ करने के लिए 2021 एक बड़ा ही शुभ वर्ष है।

 

ज्योतिषीय मार्गदर्शन के जरिए शुरू करें अपना हर दिन

विशेषज्ञों से पूछे @ सिर्फ रु. 1/मिनट में


महिला बैल: व्यक्तित्व अवलोकन

बैल के चीनी राशि चक्र के तहत जिन जातकों का जन्म होता है, उनमें से अधिकांश जातक का व्यक्तित्व बड़ा ही रूढ़िवादी और पारंपरिक होता है। वे दूसरों के सामने बड़े ही दृढ़ रहते हैं। दूसरों के सामने उनकी कार्यशैली और कड़ी मेहनत की तस्वीर बन जाती है। किसी भी तरह की विपत्ति या कष्ट से उनका कोई सरोकार नहीं होता है। वे बड़े ही दृढ़ निश्चयी होते हैं, लेकिन बड़े जिद्दी भी होते हैं। वे सतर्क तो होते हैं, लेकिन स्थिर नहीं होते हैं। उनका मूड बार-बार बदलता रहता है। वे चिड़चिड़े भी होते हैं। बैल का व्यक्तित्व ऐसा है कि काम करने में वे धीमे होते हैं, लेकिन बैल एक बार कोई निर्णय ले लेते हैं, तो अंत तक वे उसी पर टिके रहते हैं। कोई भी काम करने से पहले वे काफी सोच-विचार करते हैं, क्योंकि वे हमेशा काफी सावधान और सतर्क रहते हैं। उनके व्यक्तित्व का एक और पहलू स्थिरता है। वह इसलिए कि दुनिया में हो रहे बदलाव या फिर लोगों की राय से वे ज्यादातर प्रभावित नहीं होते हैं। यदि उनमें अच्छा आत्मविश्वास और इच्छाशक्ति होती है, तो वे अपने उद्देश्यों को प्राप्त कर ही लेते हैं। इतना ही नहीं, वे बड़े ही भरोसेमंद साथी और दोस्त भी होते हैं, क्योंकि वे सच्चे और धैर्य रखने वाले होते हैं।

इसके अलावा वे बड़े आत्मनिर्भर तो होते ही हैं, साथ में मेहनती भी खूब होते हैं। इसकी वजह से अपने लक्ष्यों को वे बहुत जल्दी हासिल कर लेते हैं। किसी भी तरीके के मामले से निपटने के दौरान वे चीजों को साफ-सुथरी तरीके से और व्यवस्थित रखने में सक्षम होते हैं। अपने परिवार को वे बहुत प्यार और स्नेह भी देते हैं। बैल के वर्ष में पैदा हुए जातक ज्यादातर लोगों के साथ उचित तरीके से व्यवहार करते हैं। बैल के व्यक्तित्व की खामियों की बात करें तो जिद उनमें से एक है। वह इसलिए कि उनके लिए अपना मन बदलना और बाकी लोगों की सलाह को स्वीकार कर लेना बहुत ही कठिन होता है। आमतौर पर वे बड़े इत्मिनान से और अपनी गति से आगे बढ़ना पसंद करते हैं। कई बार उनकी क्षमता की वजह से परिणाम औसत आते हैं। वे बड़े उत्तेजित भी हो जाते हैं। कई बार वे अवरोध पैदा करने वाले भी होते हैं। इसके अलावा उनका स्वभाव कई बार बड़ा चिड़चिड़ा प्रतीत होने लगता है।

बैल राशि वाले जातक अपने व्यक्तित्व में खास तरह की कठोरता की वजह से अपने आसपास होने वाले बदलावों के प्रति सही तरीके से प्रतिक्रिया दे पाने में असमर्थ होते हैं। जब वे निष्क्रिय अवस्था में होते हैं, तो इस दौरान वे थोड़े ढीले और टेढ़े नजर आते हैं। अपने पार्टनर को संतुष्ट करने के लिए उनमें रोमांटिक सेंस का बड़ा अभाव होता है। साथ ही रिश्ते में अपने पार्टनर को पूरी तरीके से संतुष्ट कर पाना उनके लिए संभव नहीं होता। उनका भाषण ज्यादातर प्रभावित नहीं करने वाला होता है। सार्वजनिक रूप से बोलने की उन्हें आदत नहीं होती है। इस वजह से कई बार वे बड़ी चिंता में पड़ जाते हैं। जब बैल महिलाएं प्यार में पड़ती हैं, तो वे उस व्यक्ति के लिए पूरी तरीके से प्रतिबद्ध होती हैं, जिन्हें वे चाहते हैं। यदि कोई और भी उनसे बेहतर उन्हें मिल जाए, तब भी वे अपना विचार नहीं बदलती हैं। उनमें ईर्ष्या इतनी भरी होती है और वे इतना हक जताने वाली होती हैं कि कई बार वे बड़ी ही लालची और आत्मकेंद्रित भी हो सकती हैं। इस वजह से उनके साथी उन्हें सहन करने में खुद को असमर्थ पाते हैं और पीछा छुड़ाकर भाग भी निकलते हैं। बैल के वर्ष में पैदा होने वालीं महिलाएं पारंपरिक तरीके की होती हैं। वे अपने पति के प्रति वफादार होती हैं। वे जीवन भर शादी को कायम रखने में सक्षम होती हैं।

किनके साथ होती है बैल की अनुकूलता

एक विपरीत लिंग के अतिरिक्त एक बैल की अनुकूलता सांप, चूहे या मुर्गी के साथ सबसे अच्छी मानी जाती है। बैलों को सलाह दी जाती है कि वे ड्रैगन, भेड़, खरगोश, घोड़े और कुत्ते से बचे रहें।

साथ ही, वर्ष 2021 के लिए बैल का वर्ष क्या मायने रखता है ?

चीनी ज्योतिष के मुताबिक वर्ष 2021 एक ऐसा वर्ष रहने वाला है, जब एक बैल को उसके काम का परिणाम बहुत ही अच्छी तरीके से मिलेगा। यदि बैल ज्यादा-से-ज्यादा वित्तीय लाभ अर्जित करना चाहते हैं, तो बैलों को अपने काम में कुछ अतिरिक्त प्रयास करने की भी कोशिश करनी पड़ेगी।

 

पाठकों, सबसे अच्छे ज्योतिषीय ऐप में से एक आपका इंतजार कर रहा है। अभी डाउनलोड करें MyPandit App!


चूहा और बैल की अनुकूलता

चूहा और बैल के व्यक्तित्व में जो अंतर होता है, वही उनकी अनुकूलता की कुंजी होती है। एक पहेली के दो पहलुओं की तरह वे एक-दूसरे के पूरक बन जाते हैं और विकास एवं आध्यात्मिक बदलाव के लिए वे प्रेरणा प्रदान करते हैं। बैल एक विचारक की तरह होते हैं। छोटे-मोटे विवरण और रोजाना के मुद्दों से निबटना उन्हें पसंद नहीं होता है। फिर भी अपनी बहुमुखी प्रतिभा और गतिशीलता की वजह से चूहे इनसे निबटने के लिए बेहतर तरीके से प्रबंध कर ही लेते हैं। दूसरी ओर समझदार बैल संवेदनशील चूहे के लिए बड़ा ही भरोसेमंद सहारा बन जाते हैं। दोनों राशियों के प्रतिनिधि सभ्य परिवार के सदस्य होते हैं, जो उनके बंधन को और भी मजबूत बनाने का काम करते हैं। सभी विकल्पों में से चूहा और बैल की अनुकूलता सबसे सर्वश्रेष्ठ में से एक होती है। इस बात पर पहली बार भरोसा करना बहुत ही मुश्किल है, क्योंकि चूहे और बैल में समानता बहुत कम ही होती है।

चूहे हमेशा मस्तमौला रहने वाले प्राणी होते हैं। वे बड़े ही खुश होते हैं। वे लोगों की संगति को पसंद करते हैं। उन्हें व्यक्तिगत ध्यान मिले, तो वे इसका खूब आनंद लेते हैं। वे बड़े ही स्मार्ट होते हैं। अपने आकर्षण का इस्तेमाल करके मूल्यवान संबंध बनाने में तो वे बड़े माहिर होते हैं। वे अपेक्षाकृत बड़े ही अंतर्मुखी स्वभाव के होते हैं। उनकी ताकत का एहसास उनके शब्दों से नहीं, बल्कि उनके कर्मों से होता है। हंगामे जैसी चीजों को वे नापसंद करते हैं। किसी भी तरह का चुनाव करने से पहले सभी विकल्पों पर वे बहुत ही अच्छी तरीके से विचार कर लेते हैं।

आप यकीन करें या न करें, जिंदगी की समस्याओं को दूर करने का सबसे सही तरीका है ज्योतिष।

अभी डाउनलोड करें MyPandit App!


प्यार में पुरुष चूहे और महिला बैल की अनुकूलता

पुरुष चूहे और महिला बैल की अनुकूलता की जब हम बात करते हैं, तो हम पाते हैं कि इस रिश्ते में दोनों ही अपनी सही स्थिति में होते हैं। पुरुष पैसा कमाते हैं और अपने परिवार की देखभाल करते हैं। वहीं, महिला गृहिणी के रूप में सभी तरह की जिम्मेदारियों को अच्छी तरह से संभाल लेती हैं। वे खुद को एक पेशे के लिए पूरी तरीके से समर्पित कर देती हैं। उन्हें यह किसी कामयाबी की तरह लगता है कि घर के काम की जिम्मेवारियों से वे मुक्त हो गए हैं। इस तरह से पुरुष चूहों को अपने साथी का खूब प्यार मिलता है। सबसे महत्वपूर्ण बात होती है अपने पेशेवर जीवन को पूरी तरीके से संतुलित बनाना। महिला बैल का पुरुष उनके प्रति लापरवाही दिखाकर अपमान करते रहते हैं। वे लगातार मौजूद नहीं रह कर भी उनका अपमान करते हैं।

पुरुष चूहे और महिला बैल दोनों रिश्ते में आने के बाद बहुत ही अच्छी तरह से सामंजस्य बैठा पाने में समर्थ होते हैं। जब एक पुरुष चूहे और एक महिला बैल की जोड़ी बन जाती है, तो महिला बैल की जो नैतिकता की अच्छी भावना मौजूद होती है, उससे रिश्ता ट्रैक पर रहता है। पुरुष चूहों की यह विशेषता होती है कि रिश्ते में हुए वे बहुमुखी प्रतिभा और खुले विचारों को लेकर आते हैं। वहीं, महिला बैल उनके डर को दूर करने का काम करती हैं। दोनों अपने रोमांटिक रिश्ते को लेकर बड़े ही कामुक होते हैं। वे वास्तव में बहुत ही अच्छी जोड़ी बनाते हैं। एक-दूसरे को प्यार से सराबोर कर देने में उन्हें बड़ा आनंद मिलता है।

पुरुष चूहे और महिला बैल आपस में घुलमिल जाते हैं। दोनों के संयुक्त प्रयासों की वजह से वित्तीय रूप से उन्हें काफी आजादी मिलने की संभावना रहती है। महिला बैल बड़ी ही मेहनती होती हैं। साथ में वे दृढ़ निश्चयी भी होती हैं। यह हमेशा स्पष्ट नहीं नजर आ पाता है, क्योंकि वे बड़ी ही शांत और रिजर्व तरीके से रहती हैं। जब पुरुष चूहे आ जाते हैं, तो महिला बैल को बंद कमरे से बाहर निकलने का अधिकार मिल जाता है। वे अपनी कोशिशों को दोगुना कर देती हैं। बहुत जल्द ही उनके सबसे कठोर विरोधी भी उनके प्रदर्शन को देखकर उन पर संदेह करने में खुद को असमर्थ पाते हैं। इस तरह के कई कारणों से पुरुष चूहे और महिला बैल की व्यापार में भी अच्छी अनुकूलता देखने को मिलती है। पुरुष और महिला बैल की गांव में अनुकूलता सफलता का मार्ग प्रशस्त करती है।

जब एक चूहा और एक बैल साथ में आते हैं, तो यह एक बड़ा ही असंभव सा मेला लगता है। वे वास्तव में एक साथ बहुत ही संतुष्ट महसूस कर सकते हैं। चूहे हमेशा गतिविधियों में लिप्त रहने वाले और दृढ़ संकल्पित होते हैं। इन चीजों का वे प्रतिनिधित्व करते हैं। वहीं, बैल संतुलन का प्रतिनिधित्व करते हैं। दोनों एक-दूसरे के प्रति बड़े ही समर्पित होते हैं। उनके बीच वित्तीय संबंध भी बहुत ही अच्छे होते हैं। बैल चूहे को गैर जरूरी चीजों पर अधिक खर्च करने से रोकते भी हैं।

बैल शर्मीले स्वभाव के होते हैं। तो ऐसे में चूहे उन्हें बंद कमरे से बाहर बुलाने के लिए लुभाने का काम करते हैं। वहीं, बैल चूहे को उनकी जड़ से जोड़ कर रखते हैं। पुरुष चूहे और महिला बैल दोनों ही अपने परिवार के प्रति पूरी तरह से समर्पित होते हैं और उन्हें ज्यादा-से-ज्यादा देने की कोशिश करते रहते हैं। चीनी अनुकूलता के मुताबिक पहले कभी रिश्ते में लोगों की एक अलग जोड़ी नहीं रही है। यदि बैल जोखिम को लेकर अपने साथी की चेतावनी को अनदेखा कर देते हैं, तो उनके साथी इसे बिल्कुल भी पसंद नहीं करते हैं। बैल यह देखना शुरू कर सकते हैं कि कुछ घटनाओं के बाद उनके साथी कितने व्यवहारिक रहते हैं और उनकी योजनाओं को बदलने की वे कितनी मंजूरी देते हैं। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि पुरुष चूहे और महिला बैल के बीच के संबंध के बहुत ही फलदाई और खुशहाल रहने की संभावना होती है।

पुरुष चूहे और महिला बैल, ये दोनों ही बड़े ही जुझारू और मेहनती तरह के जातक हो सकते हैं। इस वजह से इन दोनों को भरपूर सम्मान मिल सकता है। पुरुष चूहे अपेक्षाकृत अधिक सक्रिय होते हैं। लोगों से मिलने-जुलने की प्रवृत्ति उनमें मौजूद होती है। इसकी वजह से कई बार अपने बैल प्रेमी को वे ईर्ष्या करने का मौका भी दे देते हैं। हालांकि, अंत में पुरुष चूहे और महिला बैल के बीच जो ये मामूली झगड़े होते हैं, वे रिश्ते को गतिमान रखने का काम करते हैं और इस तरीके से इन दोनों के बीच विवाह का रिश्ता बहुत ही मजबूत तरीके से आगे बढ़ता है। यही वजह है कि पुरुष चूहे और महिला बैल के बीच विवाह संबंधी अनुकूलता पूरी तरीके से सफल रहती है।


प्रेम में पुरुष बैल और महिला चूहे की अनुकूलता

चीनी ज्योतिष में महिला चूहे अक्सर घर में रहना पसंद करती हैं। अपने बच्चों के साथ रहना उन्हें पसंद होता है। इस तरह की व्यवस्था एक पुरुष बैल के लिए बहुत ही अच्छी तरह से काम करती है। अपने परिवार की सहूलियत के लिए दिन में काम करना उन्हें पसंद होता है। पुरुष और महिला चूहे एक-दूसरे के लिए लगभग आदर्श होते हैं, क्योंकि दोनों प्रेमी के रूप में एक-दूसरे का खूब सम्मान करते हैं और दूसरों से भी इनकी जोड़ी को सम्मान मिलता है। हां, इनके चिह्न अलग-अलग जरूर होते हैं। चूहे का जो हल्का-फुल्का और खुश रहने वाला बड़ा ही रोचक तरह का रवैया होता है, उसकी और बैल खिंचे चले जा सकते हैं। वहीं, बैल के अंदर जो निर्भरता और सम्मान की भावना होती है, उसकी तरफ चूहे खिंचे चले जाते हैं।

बैल जब चूहे के साथ रिश्ते में बंध जाते हैं, तो उन्हें अपने परिवार और दोस्तों की संगति बहुत ही अच्छी लगने लगती है। वे उनकी अच्छी तरह से सुरक्षा करना चाहते हैं। वे उन्हें हर तरीके से आराम देना चाहते हैं। इसकी वजह से इनका रिश्ता लंबे समय तक चलने वाला बन जाता है। चूहे बैल को हर तरीके से खुश करने का प्रयास करते हैं। उनके गंभीर स्वभाव को भी वे दूर कर देते हैं। इससे पुरुष बैल और महिला चूहे के बीच का रिश्ता बहुत ही संतुलित बन जाता है। जब प्यार की बात आती है, तो बैल बड़े ही जिद्दी होते हैं। वे चूहे राशि के जातकों के साथ जब जुड़ते हैं, तो छोटी-मोटी तकरार उनके बीच हो जाती है।

पुरुष बैल बड़े ही विश्वसनीय होते हैं। महिला चूहे के मन को वे शांति प्रदान करते हैं। इससे बैल शादी या फिर लंबे समय का रिश्ता बनाने के लिए एक अच्छे विकल्प बन जाते हैं। पुरुष बैल चूहे के मेहनती स्वभाव को बहुत पसंद करते हैं, क्योंकि बहुत अधिक ध्यान आकृष्ट करना उन्हें ज्यादा पसंद नहीं होता है। परिवार और दोस्तों के लिए वे वफादार रहते हैं। वे उनका पूरा सम्मान करते हैं। कई बार भावनात्मक उतार-चढ़ाव भी होते हैं, जिसकी वजह से महिला चूहे के लिए पुरुष बैल एक आदर्श साथी बन सकते हैं। पुरुष बैल कठिन और तनावपूर्ण परिस्थितियों में भी महिला चूहे को बहुत ही आराम महसूस कराना जानते हैं।

महिला चूहे और पुरुष बैल के बीच जो यौन संबंध बनते हैं, वे न केवल दोनों का मनोरंजन करने वाले, बल्कि बड़े ही अद्भुत होते हैं। इसकी वजह से पुरुष बैल और महिला चूहे के बीच की यौन अनुकूलता बहुत ही अच्छी होती है। चूहा और बैल व्यापारिक भागीदार के रूप में भी एक-दूसरे के साथ पूरी तरह से फिट हो सकते हैं। चूहे नए ग्राहकों और खरीदारों को आकर्षित करने के लिए अपनी बुद्धि का इस्तेमाल बहुत ही अच्छी तरह से करते हैं। वहीं, बैल अपने सम्मान करने वाले स्वभाव और सोचने-विचारने की शक्ति की वजह से व्यापार में बहुत ही अच्छा प्रदर्शन करते हैं। यही वजह है कि बैल और चूहे की व्यापार में अनुकूलता या फिर पुरुष बैल और महिला चूहे की काम में अनुकूलता बहुत ही अद्भुत हो सकती है।

महिला चूहे और पुरुष बैल के बीच की अनुकूलता वास्तव में एक बहुत ही अच्छा मेल होती है, क्योंकि एक-दूसरे की विशेषताओं को वे खूब महत्व दे सकते हैं और अपने रिश्ते में हमेशा एक कदम ऊपर की ओर बढ़ सकते हैं। बैल की यह खासियत है कि वे विश्वसनीय होते हैं। साथ ही सुरक्षा को लेकर वे बड़े जागृत होते हैं। इसका नतीजा यह होता है कि बैल चूहे की तरह एक कर्तव्यपरायण, पेशेवर और भरोसेमंद साथी की ओर आकर्षित हो जाते हैं। चूहे बहुत ही सावधान रहते हैं। घर को बहुत ही अच्छी तरीके से संभाल कर रखना उन्हें आता है।

उन दोनों के लिए यह दोस्ती बड़ी ही संतोषजनक होती है। चूहे देखभाल करने वाले साथी होते हैं और बैल बड़े ही निर्भर रहने वाले साथी होते हैं।

चूहे बड़े ही मिलनसार और सामाजिक प्राणी होते हैं। यही वजह है कि बैल का समर्थन मिलने से वे संतुष्ट हो जाते हैं। बैल शक्तिशाली और शांत प्राणी होते हैं, जो चूहे के अतिरिक्त ध्यान मिलने पर आनंदित हो जाते हैं। इस रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए चूहे को बैल की सामाजिक अयोग्यता के बारे में भी जानकारी रखनी चाहिए। बैल को भी ज्यादा घुलने-मिलने वाला बनाने के लिए चूहे को उनकी मदद करनी चाहिए। बैल को चूहे के लगातार खतरे में डालने वाले और संभावित रूप से भावनात्मक मिजाज के प्रति सतर्क रहने की कोशिश करना चाहिए और चूहे को आश्वस्त करना चाहिए कि वे एक सुरक्षित जगह पर हैं।

उनके बीच व्यक्तित्व को लेकर मतभेद होते हैं। इसके बावजूद कोई इस बात का दावा नहीं कर सकता है कि चूहा और बैल के बीच प्यार का मेल विफल हो सकता है। वास्तव में ध्रुवों की तरह ये दोनों विपरीत हैं। चूहे के अंदर अनुकूलता बनाने वाला बहुत ही अच्छा गुण होता है। उनके व्यवहार से यह मेल भी खाता है। यह चीज एक्स चूहे के साथ रिश्ते में एक आशीर्वाद की तरह हो सकती है। ऐसा इसलिए हो सकता है कि वे अपनी जिद वाले स्वभाव के लिए जाने जात हैं। चूहे के साथी में जो बहुमुखी प्रतिभा होती है, उसकी वजह से फंसने वाली परिस्थितियों से वे किसी करिश्मे की तरह उन्हें बाहर निकाल लेते हैं। उनके व्यक्तिगत रिश्ते में मौजूद उत्साह का जो मुख्य भाव होता है, उसे बदलने की जरूरत पड़ती है। जी हां, पुरुष बैल और महिला चूहे की अनुकूलता कुछ ऐसी ही होती है।

आज बदलें, कल के लिए बदलें! अपनी विशेषताओं को जानें और एकदम एडवांस बन जाएं। अभी पाएं अपनी निशुल्क जन्मपत्री!


यदि आपका साथी चूहा है तो क्या करें

चूहे के साथ यदि आप रिश्ता कायम करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको उनकी दर्द भरी कहानी सुन लेनी चाहिए और उन पर अपनी प्रतिक्रिया देनी चाहिए। उनके लिए सबसे मूल्यवान चीज यही होती है कि कोई उन्हें बहुत ही अच्छी तरह से सुने। जबरदस्ती उन्हें किसी भी तरह की सलाह आप न दें। खासकर जब वे कोई निर्णय ले रहे हों। वह इसलिए कि इन्हें मानना उनके लिए बहुत ही कठिन हो सकता है।

साथ ही वे संदेह की स्थिति में रहने वाले होते हैं। ऐसे में लोगों को उनके साथ पूरी ईमानदारी से पेश आना चाहिए। जो उनके सबसे करीब होते हैं, उनसे मिलने वाली प्रेरणा ही उन्हें सबसे ज्यादा संदेह करने की वजह देगी। इतना ही नहीं, चीनी राशि चूहे के अंतर्गत पैदा हुए लोग पैसे को कुछ ज्यादा ही महत्व देते हैं। वे बहुत ही कम खर्च करते हुए अपनी जिंदगी बिताते हैं। इसलिए वे कभी भी आप से कोई मूल्यवान तोहफा नहीं मांगने वाले। वे अपने लिए कभी पैसे भी उधार नहीं मांगेंगे।

किनके साथ होती है चूहे की अनुकूलता

चीनी राशि चक्र ज्योतिष के मुताबिक चूहे की अनुकूलता सबसे अधिक बंदर, ड्रैगन और बैल के साथ होती है। चूहों को यह सलाह दी जाती है की वे घोड़े, मुर्गे, खरगोश और भेड़ राशि वाले जातकों को प्यार में अपना साथी बनाने से बचें।

 

क्या रिश्ते को लेकर आप ज्योतिषीय सलाह चाहते हैं? विशेषज्ञों से पूछें @ सिर्फ रु.1/मिनट में


यदि आपका साथी बैल है तो क्या करें

लोगों को यह कोशिश करनी चाहिए कि वे बैल राशि वाले जातकों को उनकी सीमित दुनिया से बाहर निकालने के महत्व को समझें। वह इसलिए कि बैल राशि वाले जातक दुनिया में प्रतिष्ठा प्राप्त करने के लिए अपनी सच्ची भावनाओं को छुपा कर रखने के लिए भी जाने जाते हैं। जब आप बैल राशि वाले जातकों के साथ होते हैं, तो उनके साथ आप बातचीत करने की कोशिश करें और उनकी सच्ची भावनाओं को और वे जो महसूस कर रहे हैं, उन्हें उजागर करने की कोशिश करें।

 

पहली बार में ऐसा करना कठिन जरूर हो सकता है, लेकिन अंत में बैल अपने भीतर की सच्ची भावनाओं को सामने लाकर रखना शुरू कर देते हैं। जब असहमति की स्थिति पैदा हो जाती है, तो ऐसे में वे अपनी कहानी के दूसरे पक्ष को अपने किसी दोस्त को सुनाना चाहते हैं। संभव है कि उनके विचार असंतुलित हों। सामान्य तौर पर उनमें धैर्य की भी कमी होती है। उनके साथ जब कोई दोस्ती करने की कोशिश कर रहा है, तो ऐसे में बड़ी कुशलता की जरूरत पड़ती है। साथ में यह भी याद रखें कि इनके बीच में से कोई इतनी आसानी से लाइमलाइट में नहीं जा सकता है, क्योंकि महिला बैल की यह प्रवृत्ति होती है कि वह इसे अपनी ओर खींच लेती है। यदि आप इसे एक अच्छा रिश्ता बनाने का प्रयास करती हैं, तो दो बैलों के बीच की प्रेम की अनुकूलता और बेहतर हो जाएगी। इसलिए इससे निबटने की कोशिश आपको करनी है। अपने बैल को प्रभावित करने का प्रयास करें। साथ ही उन पर अपनी छाप छोड़ने की कोशिशों का भी आनंद लें।