पृथ्वी दिवस (Earth Day) क्यों मनाना चाहिए


पृथ्वी दिवस क्या है और हम इसे क्यों मनाते हैं?

पृथ्वी दिवस एक अंतरराष्ट्रीय आयोजन है जो मुख्य रूप से पर्यावरण की सुरक्षा पर केंद्रित है। 2022 में इस वार्षिक आयोजन की 52वीं वर्षगांठ है। इसकी थीम धरती को पुनःस्थापित करना है, जो यह बताता है कि जलवायु परिवर्तन ने कैसे हमारी प्राकृतिक प्रणाली को विकृत कर संकट बढाया है और कई घातक बीमारियों के साथ-साथ दुनिया की अर्थव्यवस्था में दरार आ गई है। कोरोना महामारी का एक मौसम बीत चुका है, लेकिन खतरा कम नहीं हुआ है। महामारी ने सभी को प्रकृति के महत्व का एहसास कराया है। प्रकृति न केवल पूरे मानव समुदाय के जीवन का संरक्षण करती है, बल्कि सब कुछ इसी में समाहित है। इस प्रकार, प्रकृति को एक नए दृष्टिकोण से देखना हमारा एकमात्र उद्देश्य बन जाता है और बिगड़ते पर्यावरण की रक्षा के लिए हम अपने कुछ कीमती समय का योगदान देते हैं।

जलवायु परिवर्तन हमारे वैश्विक समुदाय के लिए एक बड़ा खतरा बन गया है और इसे हमारे लालच और अनावश्यक महत्वाकांक्षा से बचाना पर्यावरण के प्रति हमारा पहला कर्तव्य है।


पृथ्वी दिवस की शुरुआत कब हुई

1969 में कैलिफोर्निया के सेंट बारबरा में तेल रिसाव की एक बडी ऐतिहासिक घटना, जिसमें भारी तबाही हुई थी, यूएसए के सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने 22 अप्रैल 1970 को पहला पृथ्वी दिवस आयोजित था।

पहले पृथ्वी दिवस को पर्यावरणीय शिक्षा के तौर पर डिजाइन किया गया था, जिसमें जलवायु परिवर्तन को खत्म करने, प्रदूषण से निजात, लुप्त हो रही प्रजातियों की रक्षा करने और सतत भविष्य के लिए पर्यावरण संरक्षण का महत्व लोगों को समझाने के लिए शिक्षित करना था। इसके अलावा इस दिन ने ऐतिहासिक उपलब्धियों को भी जन्म दिया है, जैसे 1970 में पर्यावरण संरक्षण एजेंसी की स्थापना की गई।


पृथ्वी दिवस का महत्व- मां प्रकृति को श्रद्धांजलि देने का दिन

पृथ्वी दिवस एक ऐसा दिन है जिसका लक्ष्य लोगों में पृथ्वी के महत्व, इसके मुद्दों और समस्याओं के साथ-साथ मानव जाति पर इसके परिणाम के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। आज 10 लाख से ज्यादा लोग जानते हैं कि समाज की भलाई के लिए प्रकृति कितनी महत्वपूर्ण है। इसलिए, अपने घरों से निकलते हैं और पौधरोपण कर, जलस्रोतों को स्वच्छ कर प्रदूषण पर लगाम लगाकर मातृ प्रकृति का सम्मान करते हैं।

अतीत में पृथ्वी दिवस का एक बहुत बड़ा महत्व है, जब हमारा एक घातक महामारी से सामना हुआ। जिससे हमें पता चला कि प्रकृति कितनी महत्वपूर्ण है और बच्चों व बड़ों दोनों को स्वच्छ वातावरण अपनाने के लिए जागरूक किया। रोजमर्रा के जीवन में दुनियाभर के लोग भोजन की कमी और ईंधन की आसमान छूती कीमतों के गवाह हैं और पर्यावरण पर कहर बरसा रहे ग्लोबल वार्मिंग संकट को समाप्त करने की मांग कर रहे हैं। इसके लिए रिसाइकलिंग, ऊर्जा संरक्षण, पौधरोपण बढ़ाने और जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण पानी को बचाने जैसे विभिन्न सुझाव सामने आए।


पृथ्वी दिवस 2022 समारोह और उसकी गतिविधियां

आज पृथ्वी दिवस न केवल जागरूकता फैलाने तक सीमित है, बल्कि एक साथ एकत्रित होने, कचरा साफ करने, पौधे लगाने और प्रकृति की सुंदरता को प्रतिबिंबित करने के लिए लोकप्रिय हो रहा है।

वर्ष – पृथ्वी दिवस
2022 – शुक्रवार, 22 अप्रैल
2023 – शनिवार, 22 अप्रैल
2024 – सोमवार, 22 अप्रैल


पृथ्वी दिवस की कुछ महत्वपूर्ण गतिविधियां

मधुमक्खियां महान परागणकर्ता होती हैं और सभी प्रकार के प्राणियों के लिए भोजन और आश्रय का काम आने वाले पेड़ों, फूलों और बगीचे के अन्य पौधों की वृद्धि में मददगार होती हैं।

बगीचे के लिए मधुमक्खियों का छत्ता कैसे बनाएं

मधुमक्खियों के छत्ते से मतलब एकांतवासी मधुमक्खियों द्वारा आपके बगीचे में परागण को बढ़ाने से हैं। अपने बगीचे में एक देशी मधुमक्खी का छत्ता बनाना उसे और अधिक उपयोगी बनाने, विकसित करने और आपको अंतिम परिणाम देने में मदद करता है।

रिसाइकल और फिर से उपयोग में आने वाली चीज

रिसाइकलिंग और चीजों का फिर से इस्तेमाल प्राकृतिक चीजों पर कचरे की बढ़ती मात्रा के नकारात्मक प्रभाव को कम करने के लिए पर्यावरण हितैषी तरीका मुहैया कराता है।

जंगली फूलों के पौधे लगाएं

जंगली फूलों की वृद्धि परागणकर्ताओं, लाभकारी कीटों और वन्यजीवों के लिए महत्वपूर्ण निवास स्थान प्रदान करती है, जो पारिस्थितिकी तंत्र के कार्यों और परागण के लिए महत्वपूर्ण है। जंगली फूल मिटटी की सेहत सुधार सकते हैं, उसके कटाव को रोक सकते हैं, पानी की गुणवत्ता में सुधार कर सकते हैं और अंत में पशुओं के लिए चारे की मात्रा बढ़ा सकते हैं।

प्लास्टिक की निर्भरता को कम करता है

प्लास्टिक नष्ट होने में हजारों साल लगते हैं और इस तरह प्लास्टिक पर निर्भरता को सीमित करना जरूरी है। लैंडफिल साइटों में हजारों जगह मौजूद प्लास्टिक पर्यावरण और महासागर को प्रदूषित करने का काम करता है। हालांकि एक बार में प्लास्टिक से छुटकारा पाना आसान नहीं है, इसलिए प्लास्टिक को रिसाइकल कर फिर से उपयोग करना बेहतर विकल्प है। यह कदम कम से कम कुछ पर्यावरणीय राहत प्रदान करेगा।

जल संरक्षण

जल संरक्षण आज की जरूरत है। यह हमारे पर्यावरण को होने वाले नुकसान से बचाता है। जब आप पानी की बचत करने वाली तकनीक का उपयोग करते हैं तो आप पैसे बचाते हैं और नदियों, खाडियों और मुहानों से पानी को कम डायवर्ट करते हैं, जो पर्यावरण को स्वस्थ रखने में मदद करता है।


ज्योतिष में पृथ्वी दिवस का महत्व

पृथ्वी दिवस की कुंडली में सूर्य, बुध, शुक्र और शनि वृषभ राशि में मौजूद हैं, जिसे सबसे अधिक मजबूत पृथ्वी तत्व माना जाता है। यह पृथ्वी दिवस को एक व्यावहारिक एजेंडा देता है और पृथ्वी की शांति और सुंदरता पर प्रकाश डालता है। चार्ट में प्लूटो को भी कन्या राशि में रखा गया है, जो विकास और संरक्षण का सुझाव देता है। इसके अलावा, वृश्चिक में चंद्रमा और गुरु विराजमान हैं और रिसाइकलिंग और प्रकृति के पुनर्निमाण में सहायक बलों की ओर इशारा करते हैं।

पृथ्वी ने आदिवासियों के रूप में पहुंचे मनुष्यों को कायम रखा, लेकिन धीरे-धीरे वे पर्यावरण को बदलने और नष्ट करने लगे। पृथ्वी दिवस तभी सार्थक हो सकता है जब हम वनों की कटाई, शहरीकरण, औद्योगिकीकरण, प्लास्टिक प्रदूषण, अवैध शिकार आदि पर अंकुश लगाने का प्रयास करें। प्रत्येक दिन पृथ्वी दिवस होना चाहिए। प्रत्येक व्यक्ति को अपने तरीकों से इन्हें बहाल करने के प्रयास करना चाहिए, जो पारिस्थितिकी तंत्र को होने वाले नुकसान को संतुलित करने में मदद करते हैं।


आखिर में

पृथ्वी दिवस हर साल 22 अप्रैल को मनाया जाता है, जिसका उद्देश्य सभी को पर्यावरण बचाने के लिए प्रोत्साहित करना, संरक्षित करना और इसे होने वाले नुकसान से रोकना जरूरी है। यह दिन आपको पर्यावरण के संरक्षण में योगदान करने के लिए प्रेरित करता है और इसे एक ऐसी जगह बनाता है, जहां सभी मनुष्य प्रकृति की गोद में रोग मुक्त रह सकते हैं।