वैदिक ज्योतिष में कुंडली के 11वें भाव के बारे में समस्त जानकारी

आपके जन्म के समय आकाश में ग्रहों की क्या स्थिति होती है, यह जन्म कुंडली द्वारा दर्शाया जाता है। इस बात भर भरोसा करना थोड़ा असम्भव लगता है। पर आपकी शंका उस समय दूर हो जाती है जब इसका विज्ञान आपको समझ आता है। इसके अलावा आपको तब और आश्चर्य होता है जब कोई व्यक्ति आपकी कुंडली देखकर हर चीज बिल्कुल सही-सही बताते जाता है. वैदिक ज्योतिष के अनुसार आपकी जन्म कुंडली में नौ ग्रहों का अपना एक भाव होता है। जो ग्रह जिस भाव में बैठे रहते हैं उस हिसाब से अपना फल देते हैं।

आपकी कुंडली के 12 भाव आपके अतीत, वर्तमान और भविष्य के बारे में सारी जानकारी देती है। जैसे -जैसे ऊपर ग्रहों का चक्र घूमता है। ठीक वैसे वैसे आपके जीवन में घटनाएं घटती जाती है। जन्म, मृत्यु शादी, बच्चे सबके बारें में पहले से ही कुंडली में लिखा हुआ है. यह बारह भाव आपके जीवन को आकर्षक और संघर्षपूर्ण दोनों बनाते हैं। जब यह बारह भाव मिलकर आपकी जिन्दगी को लिख देते हैं, तो इनको हर कोई नही समझ सकता है। लेकिन हम आपको कुंडली को समझने में थोड़ी मदद कर सकते है। यहाँ पर हम सिर्फ आपकी कुंडली के ग्यारहवा भाव क्या कहता है. यह बताने जा रहे हैं।

कुंडली के पुरे 12 भावों के बारे में आप जानकारी चाहते है तो अभी MyPandit ऐप डाउनलोड करें


क्या कहता है वैदिक ज्योतिष में 11वां भाव

वैदिक ज्योतिष में 11वें भाव को लाभ भाव के रूप में भी जाना जाता है। इसको हम “लाभ, धन और सम्मान का घर” भी कहते है। परिणामस्वरूप, यह भाव हमारे जीवन के विभिन्न स्टेजो में होने वाले लाभ का प्रतिनिधित्व करता है। हालाँकि इस भाव से हम सिर्फ अपनी व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के बारे में ही नहीं बल्कि, यह सोसाइटी के प्रति हमारे कांसेप्ट और ग्रुप एडवांटेज को भी दर्शाता है।

यह घर हमारी इच्छाओं को सबसे गहरे तरीके से प्रकट करता है। इसके अलावा इस भाव को, दसवें घर की एनर्जी भी प्रभावित करती है। हमारी ग्यारहवें भाव की महत्वाकांक्षाएं दसवें घर में परिवर्तन को प्रभावित करने की हमारी क्षमता के साथ आगे बढ़ती हैं। 11वां भाव दुनिया के यूनिवर्सल नेचर का प्रतिनिधित्व करता है. लाइफ के सिग्निफिकेन्ट प्रेशर के लिए (10वां भाव) और अल्टीमेट ट्रांसफॉर्मेशन के बारे में (12वां भाव ) का अध्ययन करना चाहिए।

11वें भाव में ग्रहों की स्थिति यह निर्धारित करती है, कि आप सामाजिक और आर्थिक रूप से कैसा प्रदर्शन करेंगे और इन क्षेत्रों में आपकी सफलता की संभावना कितनी है। क्योंकि 11वां भाव लाभ या लाभ से जुड़ा है, इसलिए यह निर्धारित करता है, की आपको क्या आपको सफलता दिलाएगा, आपकी कौनसी आशाएं और इच्छाएं पूरी होंगी, या आपके प्रयास कितने सफल होंगे, इत्यादि। इन सब की जानकारी आपको इस भाव से मिल जायेगी. आपको एक सलाह देना चाहते है, अगर कोई काम शुरू कर रहे हैं तो आप एक बार अपनी कुंडली किसी योग्य व्यक्ति को दिखाइए. जिससे यह समझ आएगा कि कितना लाभ आपको इसमें मिलेगा.

11वें भाव लाभ, समृद्धि, प्रयासों में प्रगति, आकांक्षाओं के पूरा होने के बाद शांति और आजीवन दोस्ती का प्रतिनिधित्व करता है। ग्यारहवां फैमिली रीयूनियन में भाग लेने की इच्छा से भी जुड़ा हुआ है। हालांकि, इस घर के बारे में कहा जाता की, इस भाव से यह पता चलता है, की जातक का किस से किसी के साथ भावनात्मक जुड़ाव महसूस करता है। ग्यारहवां घर दोस्ती, टीम वर्क, नेटवर्किंग और मानवीय प्रयासों को नियंत्रित करता है। यह भाव मानवता की भलाई के लिए आपके सामूहिक लक्ष्य और आकांक्षा का भी प्रतिनिधित्व करता है।

आपकी जन्म कुंडली के 11 वें भाव में है कौन सा ग्रह अभी अपनी जन्मकुंडली का परीक्षण कीजिए बिल्कुल फ्री…


11वें भाव के मूल सिद्धांत

11वें घर का वैदिक नाम

लाभ भव

11 वें भाव में गतिविधियां

जीतना, धन संचय करना, लोगों के बड़े समूहों को प्रभावित करना और दुनिया को बचाना।

11वें भाव के जातक

फेमस लोग, पब्लिक फिगर्स, मशहूर हस्तियां, राजनेता, और सक्सेसफुल और धनी।

11वें भाव से संबंधित शरीर के अंग

टखना, बायां कान और पिंडली

ग्रह और राशि

सूर्य और कुंभ

अभी जानिए शुभ और अशुभ ग्रहों के फलों के बारे में, अभी प्रीमियम जन्मपत्री प्राप्त करें


ग्यारहवे भाव में ग्रह, उनका महत्व और प्रभाव

11वें भाव में सूर्य

जिन जातकों के 11वें भाव में सूर्य होता है, उनमें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने की तीव्र इच्छा होती है। यदि आपके पास दूसरों का समर्थन है, तो यह ग्रह आपके सपनों को साकार करने और सफलता प्राप्त करने के लिए फायदेमंद होता है। यदि सूर्य इस घर में है, तो आप ह्यूमैनिटेरियन हो सकते हैं।

11वें भाव में चंद्रमा

इस भाव में चंद्रमा “इनर सेल्फ” का प्रतिनिधित्व करता है। 11वें भाव में चंद्रमा आपकी भावनाओं को दूसरों के प्रति डायरेक्ट करता है। आप शायद एक बहुत ही सहयोगी व्यक्ति हैं, जो अक्सर सामाजिक कार्यों में शामिल होते हैं। आप लोगों के साथ लॉन्ग लास्टिंग बॉनड बनाते हैं। इनके यही कनेक्शन बाद में काम आते हैं। जिससे इन्हें कई प्रकार के लाभ मिलते हैं.

ज्योतिषिय विशेषज्ञों से बात कर पाएं करवाइए अपनी कुंडली का निरीक्षण, पहला कॉल फ्री…

11वें भाव में बृहस्पति

यदि आपके 11वें भाव में बृहस्पति है, तो आपके कई सोशल कनेक्शन होंगे, आपको जब भी इनकी आवश्यकता होगी, वो आपकी मदद करेंगे। गुरु इस भाव में होने की वजह से आप आदर्शवादी होते हैं, इसके साथ ही यह लव और होप की एक मजबूत भावना को भी इंगित करता है। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि आप हमेशा सामाजिक कारणों से मानवता का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का प्रयास करेंगे। आपकी मेहनत हमेशा सफल भी होती हैं.

11वें भाव में शुक्र

11वें भाव में शुक्र की स्थिति जातक के सुखद व्यक्तित्व को दर्शाती है। यह आपको समाज में बहुत पसंद करने वाले व्यक्ति के रूप में भी निखारता है। शुक्र की वजह से जातक दुनिया को बेहतर बनाने की इच्छा से प्रेरित होता है। आप हमेशा बच्चों, महिलाओं और जानवरों को लाभ पहुंचाने वाले कारणों का सपोर्ट करते हैं। आपको दूसरों को खुश करने में मजा आता है। हमेशा ध्यान रखें दूसरों को खुश करने के चक्कर में खुद की आइडेंटिटी न खोएं।

11वें भाव में मंगल

कुंडली में 11वां भाव में मंगल का होना यह दर्शाता है, कि जातक तब तक अपने प्रयासों में लगे रहेंगे जब तक कि वे अपने उद्देश्यों को प्राप्त नहीं कर लेते। इन लोगों के अंदर समाज को लीड करने के तीव्र इच्छा होती हैं। यह समाज को लीड भी बहुत प्रभावी ढंग से करने में कैपेबल होते हैं। इन जातकों का नये लोगों के साथ संबंध बहुत जल्दी बन जाता है। हालांकि, मंगल इस भाव में होने की वजह से आपका स्वभाव ऑप्टिमिस्टिक और इम्पल्सिव हो जाता है। जिसकी वजह से आपका यह व्यवहार कभी-कभी आपके विरुद्ध काम कर सकता है। लोग आपके खुले स्वभाव का अनुचित लाभ भी उठा सकते हैं।

11वें भाव में बुध

11वें भाव में बुध लोगों को सीरियस बना देता है। यह लोग हमेशा बौद्धिक सहयोग को महत्व देते हैं। यह लोग उन लोगों के प्रति हमेशा अट्रैक्ट होते है। जिनके अंदर बौद्धिक और वैज्ञानिक ज्ञान होता है। इसके अलावा, आपके पास कई तरह के यूनिक और प्रैक्टिकल अनुभव होते हैं, जिन्हें आप किसी ग्रुप में बैठकर लोगों के साथ शेयर करना पसंद करते हैं। बुध के प्रभाव के कारण, आप अपने प्रोफेशन और बिज़नस में मिलने वाली सक्सेस के लिए सामाजिकता को प्राथमिकता देते हैं।

कुंडली के 11वें भाव में ग्रहों की स्थिति क्या आपको करेगी परेशान अभी अपनी वार्षिक रिपोर्ट प्राप्त करें बिल्कुल फ्री…

11वें भाव में शनि

11वें भाव में शनि का स्थान इस बात का संकेत देता है, कि आपके प्रयास व्यावहारिक और दृढ़ निश्चयी होंगे। यह आपको दूसरों की एक्सीलेंट सर्विस की एबिलिटी के बारे में बताता है। भले ही आप कई लोगों से परिचित होंगे, लेकिन क्लोज रिलेशन बनाना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। जब एक बार आपका किसी पर ट्रस्ट हो जाता है, तो उसके बाद आप लंबे समय तक चलने वाली दोस्ती उनके साथ बनाते है। इस भाव में पीड़ित शनि हो तो आपको सावधानी बरतने की आवश्यकता हो सकती है, क्योंकि आपके रिलेटिव अपने लाभ के लिए आपका इस्तेमाल कर सकते हैं।

11वें भाव में ग्रहों की स्थिति आपके जीवन पर क्या असर करेगी अभी कॉल करें, पहला कॉल बिल्कुल फ्री….

11वें भाव में राहु

कुंडली के 11वें भाव में राहु उच्च लक्ष्यों और सफल पाने की तीव्र इच्छा के बारे में बताता है। इस भाव में राहु होने की वजह से आप ऊर्जावान और अत्यधिक प्रतिस्पर्धी होंगे, साथ ही, अपने सोशल नेटवर्क से लाभान्वित होंगे।

दूसरी ओर, राहु आपको अपने सोशल कनेक्शन के द्वारा पैसा बनाने के तरीकों का उपयोग करने के लिए प्रेरित करता है। हालांकि, राहु की कुंडली में अच्छी स्थिति होने की वजह से आप आर्ट और कल्चर जैसे एरिया में सेवा करने की इच्छा रखते हैं।

वैवाहिक जीवन में होंगे मिले-जुले परिणाम या बीतेगा बेहतरीन जीवनअभी अपनी कुंडली का मिलान कीजिए…

11वें भाव में केतु

11वें भाव में अनुकूल केतु आपके जीवन में सफलता की संभावना को बढ़ाता है। आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी होगी। इस भाव में केतु होने की वजह से जातकों की आमतौर पर कुछ ही इच्छाएं होती हैं। आपका एक छोटा सा सोशल सर्किल होगा। बड़े ग्रुप के हिस्सा बनाना आपको बिलकुल भी पसंद नहीं होता है। हालाँकि, आपके कुछ करीबी दोस्त होंगे, और आपकी सोशल लाइफ औसत रहेगी। जब केतु की स्थिति अच्छी होती है, तो जातक के पास स्किल और कल्चर की अच्छी समझ होती है।

अभी जानिए अपनी कुंडली में ग्रहों की स्थिति और उनके प्रभाव के बारे में। अभी निशुल्क जन्मपत्री प्राप्त करें।


सामान्य प्रश्न (FAQs)

11वें भाव के लिए कौन सा ग्रह उपयुक्त होता है?

बृहस्पति धन, भाग्य और प्रगति का कारक है। इसकी वजह से यह 11वें घर में सर्वश्रेष्ठ होता है।

11वां भाव खाली हो तो क्या करें?

11वें भाव में कोई ग्रह का न होना यह दर्शाता है, कि आपका सामाजिक दायरा आपके लिए महत्वपूर्ण नहीं है। ज्योतिष में खाली ग्यारहवें भाव के बारे में कहा जाता है, की आपके कई मित्र हो सकते हैं। इसके साथ ही इस जीवन क्षेत्र में आपको कई चुनौतियों का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। चीजें आपके पास स्वाभाविक रूप से आती जायेगी।