सूर्य अगर अष्टम भाव में हो तो जीवन के सभी क्षेत्रों पर उसका प्रभाव कैसा होगा ?

मित्रों यदि यदि जन्म कुंडली में सूर्य का गोचर आठवें भाव में है तो आपको अपने माता-पिता, ससुराल वालों, दादा-दादी और पूर्वजों को धन्यवाद देना चाहिए। चकित मत होइए? पर हां इन लोगों के प्रति कृतज्ञता निश्चित रूप से आवश्यक है क्योंकि ये लोग आपको संपत्ति और धन देने जा रहे हैं। जी हां, आठवें भाव में सूर्य की मौजूदगी से आपको विरासत में धन और संपत्ति का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

इसके साथ ही आप धन को समझदारी से संभाल सकते हैं तो, निश्चित रूप से आपके पिता और ससुर का यह निर्णय कि वे आपको अपनी सारी संपत्ति दे दें सही ही कहा जाएगा। आपको यात्रा करना बहुत प्रिय होता है और इसीलिए आपके बैग हमेशा यात्रा के लिए तैयार रहते हैं। यात्रा का ये प्रेम आपको हमेशा इंटरनेट पर नए स्थान और जगहों की तलाश में व्यस्त रखता है, इसके अलावा आप खानाबदोशों की तरह जीना भी पसंद करते हैं।

क्या सुन्दरता है? आपके आस-पास के लोग आपके लिए इस टिप्पणी का इस्तेमाल करेंगे और क्यों न करें आखिरकार, आठवें भाव में सूर्य आपको आकर्षक और सुंदर व्यक्तित्व प्रदान करता है। यह तो मात्र एक ट्रेलर है। आठवें भाव में सूर्य आपको जितना देता है उस से कहीं अधिक आपको जीवन मे मिलता है। तो, आठवें घर में सूर्य की स्थिति का क्या अर्थ है? यह जानने के लिए आगे पढि़ए की कैसे आठवें घर में सूर्य की उपस्थिति जातक के जीवन के सभी क्षेत्रों को प्रभावित करती है।


आठवें भाव में सूर्य का प्रभाव

  • स्वास्थ्य और सेहत
  • बुद्धिमत्ता
  • प्रेम और रिश्ते
  • सामाजिक जीवन
  • सार्वजनिक छवि
  • अकस्मात फायदा और संपत्ति लाभ

अपनी जन्म कुंडली में सभी ग्रहों के प्रभाव को जानें,निशुल्क जन्मपत्री प्राप्त करें


क्या होता है यदि सूर्य आठवें भाव में हो तो?

क्या आठवें भाव में सूर्य की उपस्थिति हानिकारक होती है? ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य आत्मा का कारक है। जब सूर्य आठवें भाव में होता है तो जातक जीवन में बड़ी सोच रखता है। पर हां अगर इस मौजूदगी से अगर नकारात्मक पहलु की बात करें तो आठवें भाव में सूर्य जातक को कम जीवन काल प्रदान करता है। तो आइये बिना वक्तत गवाएं आपके जीवन के सभी पहलुओं पर सूर्य के प्रभावों के बारे में जानें।


आठवें भाव में सूर्य का आपके व्यक्तित्व पर प्रभाव

कठिन परिस्थितियों और मुश्किल समय में घबराना आपकी शैली नहीं है। आप तो वो हैं जो समस्याओं से तुरंत निपटते हैं और उसे नियंत्रण में लाने के लिए तत्पर रहते हैं, हालांकि आप आनन-फानन में कोई काम नहीं करते जिससे की और ज्यादा गलतियां हों। आपके पास वो क्षमता है जिससे आप हर समस्या से प्रभावी तरीके से निपट सकें। इसीलिए आपके बारे में ये कहना ही पड़ेगा कि आप अनिश्चित और अप्रत्याशित स्थितियों मे बहुत माहिर होते हैं।

आपके पास हमेशा नए विचार होते हैं साथ ही आप मानसिक रूप से भी समृद्ध हैं यही कारण है कि आप संकट के समय और अज्ञात खतरों को बहुत समझदारी से संभाल सकते हैं।

अपने बारे में सब कुछ जानें और अपनी क्षमता को सही दिशा में लगाएं, प्रीमियम जन्मपत्री प्राप्त करें।


आठवें भाव में सूर्य का आपके विवाह पर प्रभाव

आपका बेडरूम आपकी कमजोरी होता है, मतलब यह कि यहां आप अपने साथी के साथ घनिष्ठ संबंध विकसित करते हैं और अपने साथी के साथ जो अंतरंगता साझा करते हैं, लेकिन यह अंतरंगता बाद में एक आध्यात्मिक अभ्यास में बदल जाती है।

आपके लिए भरोसा किसी खजाने की तरह होता है और इसीलिए आप आसानी से दूसरों पर भरोसा नहीं करते हैं। लोगों को आपका विश्वास हासिल करने के लिए आपके द्वारा निर्धारित मापदंडों पर खरा उतरना होगा। पर हां जब कोई आपका भरोसा जीत लेगा तो आप उसे अपना करीबी मानेगें और उसके साथ अपने राज साझा करेंगे।

दूसरों लोगों को हद से ज्यादा परखने कि आपकी आदत आपको उनके बीच अलोकप्रिय बना सकती है। हालांकि, कई बार आपको अपने करीबी लोगों पर भी शक हो जाता है और यह आपके रिश्तों को तनावपूर्ण बना सकता है, अंतत: आपकी सार्वजनिक छवि को प्रभावित कर सकता है।
इसके अलावा आठवें भाव में सूर्य का प्रभाव आपको अत्यधिक संवेदनशील बनाता है इससे आपको छोटी-छोटी बातों गुस्सा आ सकता है, साथ ही आप छोटी-छोटी बातों को व्यक्तिगत रूप से ले सकते हैं और खुद को ठेस पहुंचा सकते हैं। इस तरह की छोटी-छोटी बातों से बचना ही आपके लिए बेहतर होगा नहीं तो आप उनके साथ अपने रिश्ते खराब कर सकते हैं और अपनों को खो भी सकते हैं।


आठवें भाव में सूर्य का जीवनसाथी के साथ संबंधों पर प्रभाव

अगर आपके वैवाहिक जीवन की बात करें तो जीवनसाथी को संतुष्ट करने में आपको कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है खासकर तब जब आपके जीवनसाथी कि कुंडली के आठवें भाव में भी सूर्य स्थित हो। आपका अपने जीवन साथी को अपनी आंतरिक भावनाओं को दिखाने की संभावना कम है और ज्यादातर आप अपनी भावनाओं को छिपा कर रखते हैं इसी कारणवश आपका जीवनसाथी समझ नहीं पाता आप क्या महसूस कर रहे हैं।

हालांकि आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि आपका साथी व्यावहारिक और यथार्थवादी होगा तो यह संतुलित हो जाएगा।

अपने विवाह का सही समय जानें, आज ही प्रीमियम जन्मपत्री प्राप्त करें।


आठवें भाव में सूर्य का आपके पिता पर प्रभाव

वैदिक ज्योतिष विश्लेषण के अनुसार आठवें भाव में सूर्य आपके पिता को सभी सांसारिक सुखों का आनंद लेने में मदद करता है, इसके अलावा, आपके पिता का स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। सूर्य की यह स्थिति आपको अपने पिता के साथ शानदार संबंध बनाने में मदद कर सकती है।


आठवें भाव में सूर्य का आपके कॅरियर पर प्रभाव

ऐसी गतिविधियां जिन्हें हम साधारण कहते हैं उन्हें रोज करना आपको कतई पसंद नहीं होत। आपको तो रोजाना नई चीजें करना पसंद करते होता है। किसी भी काम को बार बार करना आपके लिए बहुत नीरस होता है। आप वास्तव में गतिशील और सक्रिय जातक होते हैं।

इसके अलावा आप अपने दृढ़ संकल्प और मूल क्षमताओं को मजबूत करने के लिए भरसक प्रयास करेंगे और फिक्र न करें आप इसमें सफल भी होंगे। हम कह सकते हैं कि आपके लिए अपने व्यवसाय में नई ऊंचाइयों को प्राप्त करना एक आसान काम है। आपके सपने, आशाएं और इच्छाएं जरूर फलीभूत और सफल होती हैं।

इसके साथ ही आप अपने जीवन और भाग्य को ठीक से नियंत्रित करेंगे साथ ही आपके आसपास की घटनाएं आपको प्रभावित नहीं कर पाएंगी। ज्योतिष विश्लेषण के अनुसार आठवें घर में सूर्य के होने से जातक अपने लक्ष्यों और उद्देश्यों को प्राप्त करने के प्रति ध्यान और दृढ़ संकल्प के साथ आगे बढ़ता है।

आपको आठवें घर में सूर्य के प्रभाव के अलावा और भी बहुत कुछ जानने की जरूरत है इसके लिए आज ही निशुल्क जन्मपत्री प्राप्त करें।


समापन

ज्योतिष के अनुसार आठवें भाव में सूर्य का प्रभाव आपको नाजुक परिस्थितियों से निपटने में काफी कुशल बनाता है। हालांकि आपका अति संवेदनशील होना और लोगों को कसौटी पर परखना आपको अलोकप्रिय भी बनता है इसलिए आपके लिए बेहतर होगा कि आप कम संवेदनशील और अधिक लचीले अन्यथा आप अपने अपने सच्चे दोस्त भी खो सकते हैं। आठवें भाव में सूर्य के जातक स्थितियों को संभालने में काफी कुशल होते हैं।