अंक ज्योतिष अनुसार नंबर 1 : होते हैं डोमिनेट स्वभाव के


अंक ज्योतिष में नंबर 1 का अर्थ

अंक ज्योतिष में 1 से 9 तक के अंकों का अपना महत्व और अर्थ होता है। यह सारे नंबर हर व्यक्ति के व्यक्तित्व, कॅरियर , लव और हॉबी की ओर इंगित करते हैं। आज हम यहां नंबर 1 के बारे में बताने जा रहे हैं।

नंबर 1 के अंदर बहुत सारी ऊर्जा, सकारात्मकता और कुछ नया करने की ललक होती है। यह लोग महान नेतृत्व की क्षमता लिए हुए सच्चे विजेता होते हैं। यह लोग शक्ति और आत्मविश्वास का प्रतीक होते हैं। यह लोग हमेशा नई शुरुआत के आग्रह को बढ़ावा देते हैं। यदि परिस्थिति ठीक नहीं है, तो उनके पास चीजों को अपने पक्ष में करने की शक्ति भी होती है।

नंबर 1 वालो के जीवन में इसके अलावा भी बहुत सारी बातें समाई होती है। इनकी अपनी शक्ति और गुण होते है, जो समय-समय पर निकल कर आते हैं। अगर आप ऐसा सोच रहे हैं की आपने नंबर 1 के बारे में सब कुछ जान लिया तो आप बिलकुल गलत है। अभी तो ये सिर्फ शुरुआत है। आगे-आगे देखो मिलता है क्या!


नंबर 1 वालों का व्यक्तित्व

नंबर 1 वाले जातको के अंदर कुछ विशेषताएं और व्यक्तित्व होता है। यह अंक ख़ास लक्षणों का प्रतिनिधित्व करता है, जो इस प्रकार है:

स्वतंत्र: यह लोग बहुत स्वतंत्र होते हैं, जो अपने लक्ष्यों का पीछा स्वयं करते हैं। अपने लक्ष्यों को पाने के लिए यह खुद का ही दृष्टिकोण विकसित करते हैं।

महत्वाकांक्षी : नंबर 1 वाले जातक बहुत महत्वाकांक्षी होते है। ये जो भी करते हैं वो सब अपने दम पर करते हैं। इनके लिए इनकी हिम्मत ही प्रेरणा का काम करती है।

प्रोएक्टिव : एक्टिव और स्मार्ट होने की वजह से ये लोग हमेशा अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ते हैं। यह लोग आगे बढ़ने के लिए जो भी नीति और योजनाएं बनाते हैं। उनको सही तरीके से फॉलो भी करते हैं।

इनोवेटिव : किसी भी काम को सही तरीके से करने के लिए आपके पास इनोवेटिव तरीका भी होना चाहिए। इन लोगों के पास यह खूबी भी होती है। काम करने के लिए जो सक्रियता और स्वतंत्रता की आवश्यकता होती है वो इनके दिमाग में पहले से ही होती है।

मोटिवेटिड: इतने सारे कामों को करने के लिए व्यक्ति को हर समय प्रेरित होने की भी जरूरत होते हैं। यह लोग स्वयं को समय-समय पर मोटिवेट करते रहते हैं ताकि इनका जुनून कायम रहें।

सेल्फ सेंट्रिक: सब कामों की प्लानिंग और एक्सक्यूशन में बहुत समय लगता है। सब चीजों को सुनिश्चित करने के लिए व्यक्ति को अपने भीतर सीमित रहने की आवश्यकता होती है, ताकि ज्यादा समय बर्बाद न करके, सीधा चीजों पर ध्यान केंद्रित रहे।

हर कोई टॉप पर रहना चाहता है, लेकिन कुछ ही लोग ऐसा कर पाते हैं। उचित ज्योतिषीय सहायता प्राप्त करें और टॉप पर पहुंचे, अभी विशेषज्ञों से बात करें।


नंबर 1 वालों का कॅरियर

अंक ज्योतिष अनुसार नंबर 1 वाले जातक बहुत महत्वाकांक्षी होते हैं। जब भी किसी काम को करने के लिए टीम के नेतत्त्व की बात होती है यह लोग हमेशा आगे रहते हैं। कामयाबी की सीढ़ी पर चढ़ने के लिए वे किसी भी साथी को नीचे नहीं जाने देते मिलकर आगे बढ़ते है। यह लोग ऐसा रचनात्मक रूप दिखाते है जिसकी वजह से हर जगह इनकी प्रशंसा होती है, और इन्हें ग्रोथ मिलती है।

यह लोग वास्तव में महान नेता होते हैं, सब कुछ पूर्णता के साथ, समय सीमा पर कर देते हैं। ज्यादातर लोग जो किसी को इतना सफल नहीं देख सकते, उनको इन लोगों के काम करने के तरीके पसंद नहीं आते।

इस अंक वाले जातक को किसी के अंडर में काम करना पसंद नहीं होता है। इनको नौकरी में नीचे स्तर पर काम करना नहीं सुहाता। ऐसे लोग स्वतंत्र रूप से बिना किसी के सपोर्ट के खुद का व्यापार करना पसंद करते हैं।


नंबर 1 वालों की प्रेम में अनुकूलता

नंबर 1 के विवाह की बात करें, तो यह लोग हमेशा नेतृत्त्व करना पसंद करते हैं। इनके इस स्वभाव की वजह से इन लोगो की जोड़ी कभी भी उन लोगों के साथ नहीं जमती जो लोग मृदुभाषी और स्वभाव से लाइट हार्टटेड होते हैं।

यह लोग अपने पार्टनर पर हमेशा डोमिनेट करते हैं। उन्हें कहीं भी लीड करने का चांस नहीं देते है। इनका ऐसा स्वभाव रिश्ते में हमेशा परेशानी पैदा करता है। इन लोगों को अपने साथी से कुछ बोलने से पहले थोड़ा बहुत सोचना चाहिए, और कुछ सीखना भी चाहिए।

इन लोगों की जोड़ी 5 और 3 वाले अंको के जातकों के साथ अच्छी रहेगी। अंक तीन वाले जातक लाइट हार्ट वाले और अंक पांच वाले जातक साहसिक होते हैं।


अंक ज्योतिष अनुसार लाइफ पाथ नंबर 1 के बारे में जानकारी

नंबर 1 की बात करें तो, यह किसी भी व्यक्ति के जीवन में अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। किसी व्यक्ति का भाग्यांक उसकी जन्म तिथि से बना होता है। किसी भी जातक के स्वभाव को जानने में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
जो लोग भी भाग्यांक 1 के साथ पैदा होते है, वे लोग अंतर्ज्ञान के साथ स्वतंत्र और आत्म-केंद्रित होते हैं। वे हमेशा आगे बढ़ते रहने का प्रयास करते हैं, और अपने जीवन में हमेशा कुछ नया करते हैं।

इस भाग्यांक से जुड़े लोग हमेशा कुछ नया करने का प्रयास करते हैं, यदि वे कुछ बेहतर करने की गुंजाइश देखते हैं। ऐसे लोग लंबे समय तक इंतजार नहीं करते हैं। यह लोग तुरंत नई संभावनाओं की ओर तुरंत अपना ध्यान केंद्रित करते हैं।

नंबर 1 वाले जातकों को ज्यादा लोगों से मिलना- जुलना पसंद नहीं होता। उन्हें संपर्क बनाना नहीं भाता है। किसी भी काम को करने के लिए इनके पास खुद का अपना तरीका होता है। यही वजह है की ये लोग अपनी लव लाइफ फोकस नहीं कर पाते। जिसकी वजह से इनके पार्टनर हमेशा हैरान- परेशान रहते हैं।

यह लोग अपने काम और योजनाओं के प्रति इतने आश्वस्त होते है, कि अन्य लोगों की तुलना में जल्दी चीजें हासिल कर लेते हैं। यह लोग अपने जीवन में नई चीजों को शुरू करने के बारे में हमेशा आत्मनिरीक्षण करते हैं।

कॅरियर में हमेशा नंबर 1 रहने के लिए किसी ज्योतिषी से सलाह लें


नंबर 1 की ताकत और कमजोरियां

ताकत –
स्वतंत्र: यह लोग अपने काम के मामले में स्वतंत्र और आत्मनिर्भर होते हैं। हमेशा जीवन में आत्मविश्वास के साथ चलते हैं। वे दूसरों पर ज्यादा भरोसा नहीं करते हैं, और तेज-तर्रार व्यक्ति वाले होते हैं। यह लोग अपने कामों के लिए खुद को पर्याप्त पाते हैं।

गोल ओरिएंटेड : यह लोग अपने लक्ष्य के प्रति हमेशा जुनूनी होते हैं। यह लोग संभावनाओं से भरी चीजों को देखते हुए हर पल आगे बढ़ने में विश्वास करते हैं। यह लोग हमेशा सक्रिय रहते हैं, और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रयास करते हैं।

इनोवेटिव: यह लोग अपने काम के प्रति बहुत ही इनोवेटिव होते है। यह अपने लक्ष्य के प्रति हमेशा बढ़ते रहते है। इस बात को हम एक उदाहरण से समझने का प्रयास करते हैं। जैसे सामने एक दीवार है- बाकी लोग सिर्फ वो दीवार ही देखेगें। लेकिन नंबर 1 वाले जातक इस दीवार में से रास्ता बनाने के लिए रचनात्मक तरीका खोजने लगते है।

कमजोरी
रिस्की : यह लोग अपने काम के प्रति इतने केंद्रित और आत्मविश्वासी होते हैं, कि वे कभी-कभी उन अन्य नुकसानों को नहीं देखते हैं, जो होने वाले होते है। किसी भी चीज को देखने का इनका अपना एक विजन होता है। जिसमें यह रिस्क के फेक्टर को नहीं देख पाते।

संदेहास्पद: नंबर 1 वाले जातको को सफलता के रास्ते में बहुत आलोचना और बाधाओं का सामना करना पड़ता है। इसकी वजह से एक समय ऐसा आता है, की इनको अपने निर्णय पर संदेह होने लगता है। यह स्थिति ज्यादा समय तक इनके ऊपर हावी नहीं हो पाती। इस कमजोरी को दूर भगाकर यह फिर से प्रयास करना शुरू कर देते है।

फोर्सफुल : अपने लक्ष्य को पाने के लिए यह लोग इतने फ़ोर्स से आगे बढ़ते है कि इनका स्वभाव बहुत कठोर हो जाता है। यह अपने आस-पास लोगों के प्रति ध्यान नहीं देते हैं। इनका काम करने का यह तरीका इन्हीं को नुक्सान पहुचता है।

अब आखिरी में हम नंबर 1 के बारें में लिखना बंद करते है। इतना सब पढने के बाद तो आपको समझ ही आ गया होगा की यह लोग कैसे होते है। आपने तो अपने उस दोस्त की कल्पना भी कर ली होगी जो हमेशा अपने लक्ष्य की पीछे बिना किसी विचार के भागता रहता होगा। आप एक बार उसकी जन्म तिथि देखिएगा। वो जरूर नंबर 1 वाला होगा।