पाइथागोरियन अंक ज्योतिष के बारे में

पाइथागोरियन अंक ज्योतिष अथवा आधुनिक पश्चिमी अंक ज्योतिष का अर्थ चार्ट के साथ

अंक ज्योतिष ज्योतिष की एक बड़ी शाखा है, जिसकी मदद से संख्याओं से जुड़ते हुए ब्रह्मांड के गहरे अर्थ को समझना मुमकिन है। बहुत ही कम लोगों को ही यह मालूम होगा कि अंक ज्योतिष शब्द शायद 20वीं शताब्दी में ही आ गया था। फिर भी प्राचीन मानव सभ्यताओं में इसके अवशेष मिल सकते हैं।

अलग-अलग देशों में कई प्रकार के अंक ज्योतिष का अनुसरण किया जाता है, जहां उनकी उत्पत्ति हुई है।

ग्रीक पाइथागोरियन अंक ज्योतिष का इतिहास

अंक ज्योतिष के जनक पाइथागोरस एक यूनानी दार्शनिक और गणितज्ञ थे। उनके नाम से ज्यामिति प्रमेयों की वजह से आप परिचित होंगे, जिनके बारे में आपने स्कूल के दिनों में पढ़ा है। प्राचीन ग्रीक स्कूल, जहां पर पाइथागोरस की पढ़ाई होती थी, वे पाइथागोरियन के नाम से जाने जाते हैं। इनमें संख्याओं और प्रकृति के बीच मौजूद रहस्य में सहसंबंध का अध्ययन किया जाता है। उनके लिए इस ब्रह्मांड में मौजूद रहने के लिए सभी चीजों में सामंजस्य बहुत ही जरूरी है।

पाइथागोरस का संख्याओं से बड़ा मोह था। इसलिए कालडियन्स अंक ज्योतिष की पढ़ाई के लिए वे मिश्र चले गए थे और वहां उन्होंने 22 साल बिताए थे। इनका जो विश्वास है कि सभी कुछ या किसी भी चीज को अंक वाले मूल्यों में बदला जा सकता है, सामान्यतः एकल अंकों और इस दुनिया का अंकों की ताकत में ही अस्तित्व है। अंकों को आवंटित करने का जो यह सिद्धांत है, इसे ही पाइथागोरियन अंक प्रणाली या आधुनिक पश्चिमी अंक ज्योतिष के नाम से जानते हैं।

कालडियन्स(Chaldean) अंक ज्योतिष का इतिहास

कालडियन्स एक प्राचीन और रहस्यमई प्रणाली है, जो अलग-अलग संख्याओं का अर्थ बताती है। सामान्य तौर पर एक से 52 और इसके बाद पुनरावृत्ति वाले। हालांकि किसी व्यक्ति के नाम से या फिर उसकी जन्म की तारीख से विस्तारपूर्वक संख्या चार्ट निकालने के लिए इसके पास कोई व्यापक दृष्टिकोण मौजूद नहीं है।

भाग्यशाली या फिर अशुभ अंकों को खोजने के लिए इनका प्रयोग तो किया जा सकता है, मगर ये भी आसानी से प्रयोग में लाने के लिए एकदम सटीक, व्यवहारिक और उचित तरीका प्रदान नहीं करते हैं। पंडित सेतुरमण ने कालडियन्स प्रणाली और कबला प्रणाली पर व्यापक अध्ययन किया था। उन्होंने यह पाया था कि अंक ज्योतिष की इस दुनिया में एकमात्र सटीक प्रणाली कालडियन्स प्रणाली ही है। इसके बाद पंडित सेतुरमण ने कालडियन्स अंक ज्योतिष में 108 नंबर की व्यवस्था की थी, क्योंकि इस दुनिया में वे एक प्रवर्तक की तरह आए थे।

पाइथागोरियन अंक ज्योतिष या कालडियन्स अंक ज्योतिष: अंत में कौन सी प्रणाली सबसे सटीक?

इन दोनों में सबसे बड़ा अंतर यह है कि कालडियन्स प्रणाली में अंक 9 को कोई भी अक्षर नहीं सौंपा गया है। वहीं पाइथागोरियन प्रणाली में कुछ अक्षर अंक 9 को सौंपे गए हैं। पाइथागोरियन अंक ज्योतिष का विश्लेषण अंक ज्योतिष का एक प्रमाणिक रूप है। वहीं दूसरी ओर कालडियन्स अंक ज्योतिष ज्योतिषशास्त्र से जुड़ा हुआ है। हालांकि, कालडियन्स में हर नंबर एक विशेष ग्रह से जुड़ा हुआ है। फिर भी इनके जुड़ाव के पीछे कोई तर्क मौजूद नहीं है। इसलिए यदि आप अंक ज्योतिष के तौर पर देखते हैं, तो पाइथागोरियन प्रणाली अधिक सटीक नजर आती है।

पाइथागोरियन वर्णमाला अंक ज्योतिष चार्ट

नीचे दी गई तालिका में बताया गया है कि 1 अंक को कई अक्षर सौंपे जाने के बाद गणना कैसे की जाएगी।

पाइथागोरियन प्रणाली आमतौर पर 5 केंद्रीकृत अंकों के इर्द-गिर्द घूमती है।

123456789
ABCDEFGHI
JKLMNOPQR
STUVWXYZ

भाग्यांक (Life Path Number)

पाइथागोरियन प्रणाली का यह अंक मुख्य केंद्र बिंदु है। यह अंक आपकी जिंदगी से इस तरह से संबंधित है कि सामान्य तौर पर आपका जीवन कैसा रहेगा। आपकी जिंदगी में जितनी भी चुनौतियां का सामना आप करेंगे, उनका सामना करने के लिए मौजूद अवसरों पर इसका व्यापक प्रभाव होता है।

भाग्यांक निकालने के लिए आपको बस अपनी जन्म की तिथि का हरेक अंक लेना होता है और इसे एकल अंक तक घटा देना होता है। इसके बाद अंततः आपको आपका भाग्यांक मिल जाता है।

अभिव्यक्ति अंक(Expression Number)

अभिव्यक्ति को ज्यादातर किस्मत अंक के नाम से जाना जाता है। इसकी गणना करने के लिए इसमें आपकी जन्मकुंडली पर मौजूद पूरे नाम का इस्तेमाल किया जाता है। जन्म के वक्त से ही आप में मौजूद ताकतों एवं कमजोरियों का पता लगाने में यह आपकी मदद करता है। अपनी जिंदगी के दौरान यह आप में छिपी हुई कुशलता का भी पता लगाने में मददगार होता है।

यह अंक उन बाधाओं की ओर ध्यान आकृष्ट करता है, जिन्हें पार करना आपके जीवन में किसी भी चुनौती को दूर करने के लिए जरूरी होता है। यह उस कौशल को सीखने के लिए होता है, जो जिंदगी में अपने व्यक्तिगत लक्ष्यों को हासिल करने में आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है।

दिल की इच्छा अंक(Heart’s Desire Number)

अपने जीवन में आप जो कुछ भी करते हैं, उसके कारण से यह अंक संबंधित होता है। आपके दिए गए नाम में मौजूद स्वर वर्ण का इस्तेमाल इसकी गणना करने के लिए किया जाता है। यह आपके अवचेतन में छिपी हुई इच्छाओं की एक झलक दिखा सकता है, जो कि भौतिक इच्छाओं की वजह से हमेशा नजरअंदाज कर दी जाती हैं। जब आप खुद से सवाल करना शुरू करते हैं, तो ये आपके अंदर के असली व्यक्तित्व को सामने ला सकता है।

इसके अलावा आपकी व्यक्तिगत और पेशेवर जिंदगी में लिए जाने वाले निर्णयों को भी यह प्रभावित करता है। बिल्कुल ऐसा ही उन निर्णयों को लेकर भी होता है, जो आप उन लोगों को लेकर लेते हैं, जिनसे आप जुड़ते हैं और जिनकी ओर आप आकर्षित होते हैं।

व्यक्तित्व अंक(Personality Number)

इस अंक की गणना आपके नाम में मौजूद व्यंजनों से की जाती है, जो कि आपके पहले प्रभाव के बारे में होता है। इसी मुखोटे को आप अजनबियों से मिलने के दौरान अपने चेहरे पर लगाए रखते हैं।

संक्षेप में कहने का यही मतलब है कि अपने इसी पहलू को आप दुनिया को देखने की अनुमति देते हैं। एक व्यक्ति के तौर पर यह पहलू आपको गहराई वाले स्तर तक परिभाषित नहीं करता। यह अंक एक आवरण की तरह है, जो आप डाल लेते हैं और सिर्फ भरोसेमंद लोग ही इस आवरण के पीछे आपको जान सकते हैं।

जन्मदिन अंक(Birthday Number)

जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि यह आपके जन्म की तारीख के हरेक अंक की गणना करता है और इसे एकल अंक में तब तक घटाता है, जब तक कि मास्टर अंक नहीं मिल जाता है। केंद्रीकृत अंकों में इसे सबसे कम महत्वपूर्ण अंक के रूप में देखा जाता है, क्योंकि यह उस अकेली विशेषता को बताता है, जो कि आपकी जिंदगी में किसी बिंदु पर जाकर महत्वपूर्ण बन जाता है।

मास्टर अंक पर एक सामान्य जानकारी

इस तरह से पाइथागोरियन अंक ज्योतिष को आपने समझ लिया है। यदि केंद्रीकृत अंक आपको 11, 22 और 33 जैसे अंक देते हैं, तो ये मास्टर अंक के रूप में जाने जाते हैं। इन अंकों को एकल अंक तक नहीं घटाया जाता, क्योंकि इनमें असीम शक्ति होती है और ये बड़े ही ताकतवर अंक होते हैं। हालांकि, आपका जो केंद्रीकृत अंक मास्टर अंक को दिखाता है, उससे यह अलग हो सकता है।