दुकान वास्तु टिप्स : लाएगा समृद्धि और पैसा

वास्तु शास्त्र आज का नहीं बल्कि सदियों पुराना शास्त्र है। ऐसा शास्त्र जिसके आधार पर न केवल भारत में बल्कि दुनिया में लोग सफलता हासिल कर रहे हैं। दुनिया भर के लोग इस शास्त्र और उसके नियमों का पालन कर रहे हैं। वास्तु के सिद्धांतों का पालन करना, उनके नियमों को मानना कई लोगों के लिए सफलता की कुंजी बन गया है। वे वास्तु के नियमों के आधार पर अपने दोषों को दूर कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ ऐसे लोग भी हैं, जो वास्तु दोषों के कारण सफलता हासिल नहीं कर पा रहे हैं। वे कड़ी मेहनत के बाद भी मनचाहा परिणाम हासिल नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में वास्तु शास्त्र के चमत्कार से इनकार नहीं किया जा सकता है।

हमारे जीवन में वास्तु एक ऐसी अहम भूमिका निभाता है, जिसे स्वीकार करना पड़ेगा। यह सफलता और हर्ष के नए अध्याय जीवन में जोड़ता है। अगर आप किसी व्यावसायिक संपत्ति के मालिक हैं या कोई नया काम शुरू करने जा रहे हैं, तो वास्तु के मुताबिक काम करना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। बिना सही तरीके की आंतरिक सज्जा के वास्तु पूरा नहीं होता है। इसकी अनदेखी से मनचाहे परिणाम नहीं मिल पाते हैं।


दुकान के लिए कौन से दिशा सही है

वास्तु के मुताबिक किसी भी दुकान के लिए प्रवेश द्वार पूर्व या उत्तर पूर्व में होनी चाहिए। इस दिशा में दुकान का मुंह होने से ग्राहकों का आकर्षण बना रहता है। दिशा एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। दिशा ही सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह तय करती है। सभी बातें दिशा से ही शुरू होती हैं, ऐसे में दिशा एक महत्वपूर्ण निभाती है। सफलता और कार्यस्थल पर खुशी का माहौल बनाती है।


कैश काउंटर: लक्ष्मी जी का स्थान

कैश काउंटर का दरवाजा हमेशा उत्तर दिशा की तरफ खुलना चाहिए, इससे धन का प्रवाह हमेशा बना रहता है। अगर लॉकर दक्षिण पश्चिम दिशा में भी है तो भी प्रवेश द्वार उत्तर दिशा में होना चाहिए। इससे भगवान गणपति और माता लक्ष्मी दोनों प्रसन्न होते हैं और सुख और समृद्धि से भर देते हैं। यह रास्ते की सभी बाधाएं साफ करते हैं और भरपूर आशीर्वाद दिलाते हैं।


भगवान की तस्वीर कहां लगाई जाए

वास्तु शास्त्र के मुताबिक दुकान में भगवान की मूर्ति या तस्वीर उत्तर पूर्व दिशा में लगानी चाहिए। इसके परिणाम स्वरूप मानसिक मजबूती और सकारात्मकता आती है। यह मन में आध्यात्मिकता भी पैदा करती है। अगर आप सुख शांति और समृद्धि चाहते हैं तो आपको नियमों की पालना करनी चाहिए। भगवान की मूर्ति या तस्वीर को जमीन पर नहीं रखना चाहिए। उन्हें लकड़ी के मंदिर में विराजित करना और नियमित पूजा करनी चाहिए।

वास्तु में समस्या का सामना कर रहे हैं और चिंतित हैं? आर्थिक मामले आपको परेशान कर रहे हैं। विशेषज्ञों से बात करें और खुश रहें।

कच्चा सामान किस दिशा में रखें?

जहां तक सामान रखने की है, अगर बड़ा भारी कच्चा सामान है तो उसे स्टोर में दक्षिण पूर्व दिशा में रखना चाहिए। यह सौभाग्य लेकर आता है।

इलेक्ट्रिकल उपकरण कहां हों?

वास्तु के मुताबिक दुकान में बिजली के उपकरण दक्षिण पश्चिम दिशा में रखे जाने चाहिए। सही दिशा में उपकरण रखने के कारण व्यापार में सही सफलता और अच्छी गति से मिलती है। इसे हल्के में न लें, हमेशा गंभीरता से लें।

दुकान में प्रवेश द्वार

दुकान में प्रवेश द्वार व्यापार की सफलता में अहम भूमिका निभाता है। प्रवेश द्वार हमेशा उत्तर दिशा में होना चाहिए। इस तरह का दरवाजा सकारात्मकता लाता है और मानसिक स्पष्टता भी लाता है, जिससे फैसले लेने में आसानी होती है। दुकान के मालिक को हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में बैठना चाहिए। यह अच्छी ऊर्जा का प्रवाह बनाए रखता है। व्यापार उत्तरोत्तर वृद्धि करता है।


मध्यम संगीत के फायदे

हल्का और धीमा संगीत दुकान में से नकारात्मक ऊर्जा को बाहर कर देता है। वास्तु के मुताबिक संगीत कई तरह के प्रभाव दिखाता है, इसमें से एक है नकारात्मक ऊर्जा को कम करना। यह ताजगी बनाए रखता है। सभी को खुश रखता है। कार्य की परिस्थितियों को सहज बनाता है। यह कर्मचारियों की एकाग्रता को बढ़ाता है, जिससे उनकी कार्यक्षमता बनी रहती है। व्यापार बढ़ता है।


कैसी हो स्टोर की आंतरिक सज्जा

स्टोर की आंतरिक सज्जा कुछ इस तरह की हो, जो आंखों को अच्छी लगे। आकर्षक लगे। दुकान में लाइट साफ हों। वास्तु के मुताबिक दुकान में अंधेरा नकारात्मकता को बुलाता है। सही रोशनी होने से सकारात्मकता का प्रवाह होता है, यह कर्मचारियों में उत्साह भरता है, बिक्री बढ़ जाती है। दुकान में निरंतर इस बात का ध्यान रखना जरूरी है। जरूरत से ज्यादा रंगों का इस्तेमाल करने से भी परहेज करना चाहिए।


साफ सफाई का रखें ध्यान

कहते हैं कि जहां साफ-सफाई होती है, वहीं लक्ष्मी का वास होता है। यही बात व्यापार पर भी लागू होती है। जहां गंदगी होती है वहां व्यापार प्रगति नहीं कर सकता है। यह वास्तु का प्रमुख सिद्धान्त है। जहां साफ-सफाई होती है, वहां व्यापार में निरंतर बढ़ोतरी होती है। गंदगी ग्राहकों को दूर करती है। हमें अगर व्यापार को लंबा चलाना है तो इस बात का ध्यान रखना होगा कि दुकान में पूरी तरह साफ सफाई बना रहे।


कोई खंभा या पेड़ सामने न हो

यह बड़ी अहम सावधानी है, जिसे ध्यान रखने की जरूरत है। किसी भी व्यावसायिक प्रतिष्ठान या दुकान के सामने कोई पेड़ या खंभा न हो। यह आर्थिक उन्नति की राह में अवरोध होता है। यह बिक्री घटाता है और ग्राहकों की कमी पैदा करता है। ऐसे में इसे लेकर सजग रहना चाहिए कि यदि हम कहीं दुकान लेने जा रहे हैं तो सामने कोई पेड़ या खंभा न हो।

ये वे वास्तु टिप्स हैं, जो बेहद कारगर हैं। इनके चलते व्यापार में उन्नति उत्तरोत्तर बनी रहती हैं। धन बरसता है और सफलता आपके कदम चूमती है। नफा पास रहता है और नुकसान व्यापार से कोसों दूर बना रहता है।

यदि आप भी अपने व्यवसाय में परेशानी से गुजर रहे हैं और असफलताओं में फंसे हुए हैं। तो यहां समाधान प्राप्त करें, भारत के सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषियों से बात करें और अपनी सभी समस्याओं का समाधान पाएं।