पोर्टिको (Portico)निर्माण में इन बातों का रखें ध्यान

सबसे पहले आपको बता दें कि पोर्टिको क्या होता है। पोर्टिको घर के बाहर एक स्थानिक क्षेत्र है, लेकिन यह घर की छत से जुड़ा हुआ है, और खंभों पर टिका हुआ रहता है। इसे एक तरह से घर के बाहर का बरामदा भी कहा जा सकता है। इसका उपयोग लोग अपनी अपनी जरूरत के हिसाब से करते हैं। कई लोग इसे पार्किंग के रूप में इस्तेमाल करते हैं, तो कई लोग आराम और खुली हवा के लिए यहां बैठना पसंद करते हैं। पोर्टिको के निर्माण में भी वास्तु का काफी महत्व होता है। घर का दरवाजा अगर पश्चिम की तरफ होता है, तो पोर्टिको मुख्य द्वार के एकदम बाहर होता है। जिसे अच्छा शगुन माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार यह आशावादी और सकारात्मक माहौल पैदा करता है। इसे घर के वातावरण में सकारात्मकता पैदा होती है।

पोर्टिको को पोर्च या बरामदा के रूप में भी जाना जाता है। वास्तु के अनुसार पोर्टिको को काफी शुभ माना जाता है। अच्छे स्वास्थ्य, धन और समृद्धि के लिए वास्तु के अनुसार पोर्टिकों का निर्माण करवाना बहुत ही फायदेमंद साबित होता है।

घर में सकारात्मक प्रभाव को बढ़ाने के लिए ज्योतिषी से संपर्क करें


पोर्टिको निर्माण के समय क्या करें

  • पोर्टिको बनाने का एक मुख्य कारण यह है कि यह नकारात्मक ऊर्जा के खिलाफ ढाल के रूप में कार्य करता है। यह व्यक्ति को स्वास्थ्य लाभ का आशीर्वाद देता है। इसके अलावा यह घर में यह सकारात्मक माहौल पैदा करता है।
  • इसे वास्तु के अनुसार बनाने की बात को वैज्ञानिक रूप से समझाया जा सकता है। यह सुबह की धूप को अधिक मात्रा में प्राप्त करने में मदद करता है। आपको पोर्टिको के निर्माण में इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि निर्माण वास्तु के अनुसार ही होना चाहिए।
  • पोर्टिको को सीधे मुख्य भवन के संपर्क में न आने दें। सहायक संरचनाओं के रूप में खंभों का उपयोग करें, और उन्हें दीवार का सामना न करने दें।
  • वास्तु के अनुसार, यदि आप पोर्टिको के नीचे अपनी कार पार्क करते हैं, तो उत्तर या पूर्व दिशा इसके लिए सही रहेगी। वाहन पार्क के समय इस बात का विशेष ध्यान रखें।
  • पूर्व या उत्तर की तरफ बरामदे की छत को तिरछा करने से आपके और आपके परिवार के लिए नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। वास्तु के अनुसार अगर बरामदे के निर्माण करवाते हैं, तो यह आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।
  • आप उत्तर-पूर्व क्षेत्र में पेड़ लगा सकते हैं ताकि आप कुछ स्तर पर प्रकृति से भी जुड़े रहें।
  • सुनिश्चित करें कि पोर्टिको की ऊंचाई मुख्य भवन से कम होनी चाहिए।
  • बरामदे में जगह को खुला रखें, ताकि ताजी हवा आपके स्वास्थ्य को सही रखेगी।
  • पोर्टिको की दीवार को हमेशा हल्के रंगों जैसे सफेद या पीले रंग से ही रंगे।

अगर आपको अपनी मेहनत का फल नहीं मिल पा रहा है तो विशेषज्ञों से बात करें।


पोर्टिको निर्माण में क्या न करें

पोर्टिको के निर्माण के दौरान आपको कई बातों को ध्यान रखना पड़ता है। लेकिन वास्तु के अनुसार कई ऐसी चीजें जो आपको करने से हमेशा बचना चाहिए। लोग बरामदे का निर्माण बिना वास्तु विशेषज्ञ के परामर्श लिए करते हैं, जो घर में नकारात्मक माहौल पैदा करता है। यह आपके स्वास्थ्य और धन के लिए प्रतिकूल स्थिति पैदा कर सकता है। घर के निर्माण में कभी भी आपको वास्तु को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। आपके घर में बरामदे के निर्माण के लिए भी आपको विशेषज्ञों से परामर्श लेना चाहिए। वास्तु के अनुसार घर के माहौल में सकारात्मकता लाने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है।

पोर्टिको का निर्माण करते समय आपको कुछ महत्वपूर्ण सुझावों से बचना चाहिए:

  • दक्षिण दिशा में पोर्टिको का निर्माण बिल्कुल न करें, क्योंकि इससे इससे परिवार में बहुत सारी बुरी भावनाएं और दुश्वारियां आती हैं।
  • पोर्टिको में कभी भी भारी फर्नीचर न रखें, क्योंकि यह हवा के प्रवाह को रोकता है, जिससे बरामदे में घुटन सी महसूस हो सकती है।
  • बरामदे की दीवार को गोलाकार बनाने से बचना चाहिए।
  • इसके अलावा बरामदे में टीन की छतों का उपयोग नहीं करना चाहिए, बरामदे की छत सीमेंट से बनी हो तो ही ठीक रहता है। हालांकि विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि छत का न होना अच्छा है।
  • आपको एक वास्तु विशेषज्ञ से परामर्श करना चाहिए जो पोर्टिको के निर्माण के लिए अधिक अच्छा ज्ञान रखता हो। यह घर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है, इसलिए आपको इसमें सतर्क रहना चाहिए।
  • घर बनाने से पहले हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि उसका प्लान पहले तैयार कर लें। ताकि घर के किसी भी हिस्से के निर्माण को वास्तु विशेषज्ञ को आसानी से समझाया जा सके, और विशेषज्ञ से परामर्श लिया जा सके।
  • याद रखें पश्चिम दिशा में पोर्टिको कभी न रखें, क्योंकि इसके कई नुकसान हैं। इसलिए इससे पूरी तरह से बचना ही फायदेमंद होगा। आप बरामदे को हमेशा साफ और स्वच्छ रखें।

वास्तु शास्त्र वास्तुकला का विज्ञान है, और यदि आप इसका ठीक से पालन करते हैं, तो यह जीवन में बहुत सारे सकारात्मक बदलाव लाएगा। वास्तु विज्ञान के अनुसार पोर्टिको वास्तु लाभ प्रदान करने में एक महत्वपूर्ण स्तंभ है। वास्तु टिप्स के हिसाब से इसका निर्माण आशावादी बदलाव ला सकता है और घर में रहने वाले लोगों को सकारात्मकता प्रदान करने में मदद करता है।

वास्तु शास्त्र के हिसाब से घर का निर्माण निश्चित रूप से आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। साथ ही जीवन में आप अधिक सफल होंगे, और स्वास्थ्य लाभ और खुशी भी मिलती है।

क्या आप अपने जीवन में कई कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं। आपको एक के बाद एक समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इस तरह वास्तु शास्त्र के हिसाब से घर का निर्माण करने से जीवन खुशहाल हो जाता है। हम आपको यह सलाह देते हैं कि कोई भी निर्माण कार्य वास्तु विशेषज्ञ से परामर्श लेने के बाद ही शुरू करें।