वृश्चिक और कन्या अनुकूलता

ज्योतिष आपको अन्य लोगों के बारे में सहज ज्ञान उपलब्ध करने का कार्य करता है। यह दो लोगों के रिश्ते में सहानुभूति, करुणा, दया और भावनात्मक अनुकूलता को मापने का एक पैमाना हो सकता है। दो लोगों के बीच प्रेम, विवाह और सेक्सुअल रिलेशनशिप की अनुकूलता का अंदाजा लगाने के लिए ज्योतिष सदैव अपनी उपयोगिता साबित करते आया है। इसके उपयोग से दो अलग-अलग राशियों की संगतता का सटीक अनुमान लगाया जा सकता है। फिलहाल हम वृश्चिक - कन्या के बीच प्रेम, विवाह और सेक्सुअल अनुकूलता का आकलन करेंगे।

वृश्चिक

24 Oct - 22 Nov

कन्या

24 Aug - 22 Sep
विल पावर
काॅन्फिडेंस
चुंबकत्व
स्ट्राॅन्ग एटीट्यूड
डिप्लोमेटिक और करेजियस
सिस्टेमेटिक
अनाटिकल
एक्सप्रेसिव
शांत
सीरियस

वृश्चिक – कन्या लव कंपेटेबिलिटी

वृश्चिक और कन्या की जोड़ी प्रेम संबंधों के मामले में बेहद अनुकूल और सहज हो सकती है। इन दोनों राशियों का मिलन दो अच्छी आत्माओं के मिलने की तरह होता है। क्या इससे वे अपनी लव लाइफ में पूर्णता हासिल कर पाएंगे।

  • एक वृश्चिक और कन्या का मैच अपने आपसी तालमेल और आकर्षक अंदाज से अपने आसपास के लोगों को आहत कर सकता है।
  • दोनों तत्वों को राशि चक्र में अल्टरनेटिव रूप से रखा गया है, फिर भी वे एक-दूसरे से कई मायनों में अलग है। जहां कन्या शांत हैं और सोच समझ कर अपनी बात रखते हैं। वहीं वृश्चिक बिना किसी हिचकिचाहट के अपने मन की बात करते हैं।
  • वृश्चिक के रहस्यमयी और जटिल बाहरी आवरण के अंदर एक उत्सुक और चंचल व्यक्ति छिपा होता है। वे कन्या को खुश करने के लिए अपने बौद्धिक कौशल का उपयोग करते हैं और उनके लिए कमिटेड रहते हैं।
  • वृश्चिक – कन्या के बीच रिश्ते को पनपने में समय लग सकता है, लेकिन एक बार जब कन्या और वृश्चिक शुरुआती बाधाओं को पार कर लेते हैं, तो उनकी जोड़ी परमानेंट हो जाती है।

वृश्चिक – कन्या संबंधों के फायदे

वृश्चिक और कन्या दोनों विपरीत विशेषताओं के बावजूद काफी हद तक एक – दूसरे के लिए बने हैं। कन्या कहीं ज्यादा अर्थपूर्ण और तार्किक होते हैं, वहीं दूसरी ओर वृश्चिक रहस्यात्मक होते हैं, जो रिश्ते की अनुकूलता को प्रभावित कर सकते हैं। आइए जानते वृश्चिक – कन्या के संबंधों के कुछ फायदे।

  • अधिकतर मौकों पर वृश्चिक और कन्या की जोड़ी में उच्च अनुकूलता दिखाई देती है। ये दोनों लोग एक सुरक्षित, आरामदायक और सुसंगत संबंध की चाहत रखते हैं।
  • वे एक-दूसरे को बहुत अच्छी तरह से समझते हैं और समय पर उन्हें वे चीजें दे सकते हैं, जो उनके पार्टनर चाहते हैं। यह एक ऐसा रिश्ता हो सकता है जो स्कूल या कॉलेज में शुरू होता है और जीवनभर चलता है।
  • वे आसानी से एक-दूसरे की कंपनी को पसंद करते हैं। खासकर एक बार जब वे एक साथ रहना शुरू करते हैं, तो वे एक – दूसरे को समझना शुरू करते हैं और समय के साथ एक शानदार जोड़ी का निर्माण करते हैं।
  • वृश्चिक और कन्या राशि के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि वे बिना कुछ कहें भी एक दूसरे की बात को अच्छी तरह समझ सकते हैं। उनमें से कभी कोई किसी दूसरे को निराश नहीं करता है।

वृश्चिक – कन्या संबंधों के नुकसान

वृश्चिक और कन्या के बीच गहरे इमोशनल रिलेशन देखने को मिलते हैं, लेकिन यहां कुछ कमियों पर विचार करना महत्वपूर्ण है, जो उनके संबंधों में हो सकती है।

  • जल चिह्न होने के कारण वृश्चिक को इमोशनल माना जाता है। इसके अपोजिट एयर साइन कन्या को जमीनी और प्रैक्टिकल माना जाता है। इससे एक तरह की प्रतिकूल स्थिति का निर्माण होता है।
  • जब कभी इनके रिश्तों में कोई तनाव देखने को मिलता है, तो कन्या वृश्चिक को अपने नजरिए से चीजों को ठीक करने के लिए दबाव डाल सकते है। इससे रिश्तों में गैरजरूरी तनाव पैदा होता है।
  • जल तत्व की वृश्चिक राशि अपने अंतर्ज्ञान के आधार पर काम करती है। जिससे अक्सर रिश्तों के अनबैलेंस होने का खतरा रहता है।

वृश्चिक – कन्या मैरिज कंपेटेबिलिटी

वृश्चिक और कन्या अपने रिश्तों की उन बातों को हमेशा नजरअंदाज करने का प्रयास करेंगे, जो उनके रिश्ते को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। यहां वृश्चिक और कन्या विवाह अनुकूलता के बारे में कुछ अधिक बताया गया है।

  • वे दोनों अपने रिश्तों को अनालाइज करना शुरू कर सकते हैं, क्योंकि वे शादीशुदा होने के मायने जानने के लिए खुद को डवलप करना चाहते हैं।
  • निःसंदेह वृश्चिक और कन्या के बीच वैवाहिक संबंध मजबूती से डवलप होता है। क्योंकि वे दोनों एक दूसरे को मजबूत इमोशनल सपोर्ट देने का काम करते हैं।
  • कन्या राशि के लोग ट्रेडिशन और कल्चर को पसंद करते हैं, वहीं वृश्चिक को अत्यधिक देखरेख और रोमांस पसंद है। यह इस बात को साबित करता है कि वृश्चिक और कन्या की मैरिड लाइफ खुशी से आगे बढ़ सकती है।
  • दोनों ही सामाजिक तौर पर बेहद खुले और मिलनसार होते हैं। वे दोनों अपने घर पर लोगों को एकत्र करने और किसी तरह के पारिवारिक समारोह को होस्ट करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।

वृश्चिक – कन्या सेक्सुअल अनुकूलता

वृश्चिक एक जल तत्व राशि है, जो उनके गहरे इमोशन को प्रदर्शित करती है। वहीं कन्या किसी के लिए सेक्सुअल रिलेशन उनके इमोशनल अटैचमेंट को बढ़ाने वाला होता है। आइए उनकी सेक्सुअल लाइफ के बारे में कुछ अधिक जानें।

  • आप देखते हैं वृश्चिक पेशन और एग्रेशन से भरा है और कन्या थोडे सेक्सुअल होते है। परिणाम स्वरूप इन राशियों के फिजिकल रिलेशन बहुत शानदार हो सकते हैं।
  • वृश्चिक कन्या दोनों में से कोई भी प्यार करने से पीछे नहीं हटते बशर्ते वह संबंध इंट्रेस्टिंग हों। यदि वे दोनों एक ट्रस्टवर्दी रिलेशन शेयर करते हैं, तो उनकी सेक्स लाइफ भी अनुकूल और सहज हो सकती है।
  • यौन संबंधों के दौरान बुद्धिमान वृश्चिक आरक्षित कन्या को फुसलाने में कामयाब होते हैं और उन्हें अपने द्वारा निर्धारित स्तर को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते हैं।
  • वृश्चिक और कन्या दोनों ही एक दूसरे की फिजिकल नीड को अच्छे से पूरा करने क्षमता रखते हैं और उन्हें अपना चरम प्राप्त करने के लिए किसी तरह के आग्रह की जरूरत नहीं होती।

किसी भी संबंध में उनके पार्टनर के बीच हर स्तर पर आपसी समझ की आवश्यकता होती है और ये दोनों ही लोग इस बात को बहुत ही अच्छी तरह समझते हैं। आमतौर पर वृश्चिक और कन्या राशि आपस में मिलकर एक शानदार जोड़ी का निर्माण कर सकते हैं।

Your Zodiac Sign

Your Partner's Zodiac Sign