Ganesh Chaturthi festival: ऐसे पाएं भगवान गणेश का विशेष आशीर्वाद

Ganesh Chaturthi festival: ऐसे पाएं भगवान गणेश का विशेष आशीर्वाद

भाद्रपद चतुर्थी यानी 10 सितंबर को देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार पूरे उत्साह से मनाया जाएगा। घर-घर इस दिन गणेश स्थापना होगी और पूरे दस दिनों तक गणेशोत्सव की धूम रहेगी। भगवान गणेश प्रथम पूज्य है। किसी भी काम में सफलता के लिए भगवान गणेश का आशीर्वाद होना सबसे अधिक जरूरी होता है। गणेश को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। गणेश चतुर्थी के दिन पूरी विधि-विधान से भगवान गणेश की पूजा करने से सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है। जानिए इस गणेश चतुर्थी पर आप कैसे करें गणेश पूजा।


गणेश पूजा: शुभ मुहूर्त

गणेश पूजा के लिए शुभ मुहूर्त दोपहर के 11.15 से 1.15 के बीच रहेगा। इस दौरान घर में भगवान गणेश की मूर्ति स्थापना करें और फल-फूल अर्पित करकेे श्री गणेश को मिठाई, लड्डू या मोदक का भोग लगाएं।


ऐसे करें भगवान गणेश को प्रसन्न

दूर्वा से करें पूजा-  भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए गणेशोत्सव के दौरान रोजाना उन्हें दूर्वा अर्पित करें। 

मोदक का भोग- मोदक भगवान गणेश को अत्यंत प्रसन्न है। इस दिनों में भगवान गणेश से विशेष आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए मोदक का भोग जरूर लगाएं।

दीपक जलाएं-  भगवान गणेश के समक्ष रोजाना घी का दीपक लगाएं और उनसे अपने जीवन में आ रहे अंधेरे को दूर करने की प्रार्थना करें।

सिंदुर अर्पित करें-  भगवान गणेश को सिंदुर अर्पित करें। इससे जीवन में भाग्योदय होता है।


ऐसे करें भगवान गणेश की पूजा

शुभ मुहूर्त में भगवान गणेश की प्रतिमा को स्थापित करें। भगवान गणेश की प्रतिमा का मुंह उत्तर या पूर्व की ओर हो। यदि आपके घर के पूजा स्थल में पहले से गणेशजी की मूर्ति हो, तो आप उसे भी साफ करके विराजमान करवा सकते हैं। इसके बाद भगवान गणेश का आह्वान करें और कल्पना करें कि भगवान उस मूर्ति में मूर्ति रूप में विराजित हो गए हैं। इसके बाद शुद्ध आसन पर बैठकर धूप, दीप का प्रज्वलन करें। भगवान गणेश को लाल या पीले फूल अर्पण करें। मोदक और लड्डू का भोग लगाएं। इस दौरान आप गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ करें। श्री गणेश के किसी भी एक मंत्र का जाप करीब 108 बार करें। इसके बाद भगवान गणेश की आरती उतारें। यदि आपने दस दिनों के लिए भगवान गणेश की स्थापना की है, तो आपको रोजाना इस प्रक्रिया को दोहराना चाहिए।