नामकरण मुहूर्त 2024: तिथियां और समय, बच्चे के लिए नामकरण मुहूर्त

नामकरण मुहूर्त 2024: तिथियां और समय, बच्चे के लिए नामकरण मुहूर्त

हिंदू परंपरा के अनुसार, आप अपने बच्चे के लिए जो नाम चुनते हैं उसमें एक विशिष्ट ऊर्जा होती है जो उसे उचित ब्रह्मांडीय ऊर्जा के साथ गूंजने में सक्षम बनाती है। यह बच्चे के भौतिक और आध्यात्मिक दोनों तरीकों से समग्र विकास में सहायता करता है। हिंदू धर्म में लोगों को जन्म के क्षण से ही कई संस्कारों का पालन करने की आवश्यकता होती है। परिवार और समुदाय में बच्चे का नामकरण और स्वागत करने की औपचारिक घटना घर पर होती है, और यह उन महत्वपूर्ण अनुष्ठानों में से एक है।

पारंपरिक नामकरण संस्कार बच्चे के बड़े होने के साथ-साथ उसे अच्छी सामाजिक प्रतिष्ठा प्रदान करता है। हालाँकि, आयोजित होने वाले प्रत्येक समारोह के लिए सही मुहूर्त ढूंढना महत्वपूर्ण है। हमने इस लेख में 2024 में आपके बच्चे के नामकरण समारोह की तारीखों और समय के बारे में सभी जानकारी शामिल की है। यदि आप निश्चित नहीं हैं कि नाम रखने की रस्म कैसे करें, तो किसी पेशेवर ज्योतिषी से परामर्श लें। वह आपके बच्चे की कुंडली का विश्लेषण कर सकता है और नामकरण दिवस के लिए उत्सव चुनने में आपकी मदद कर सकता है।

आइए नामकरण मुहूर्त 2024 की तारीखों और समय पर नजर डालें।

तारीखसमयनक्षत्र
बुधवार, 3 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
गुरूवार, 4 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से रात्रि 22.00 बजे तकहस्त
सोमवार, 8 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से रात्रि 22.00 बजे तकअनुराधा
शुक्रवार, 12 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा आषाढ़
बुधवार, 17 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरेवती
गुरुवार, 18 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से रात्रि 20.00 बजे तकअश्विनी
रविवार, 21 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरोहिणी
सोमवार, 22 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकमृगशीर्ष
गुरुवार, 25 जनवरी 2024प्रातः 09.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकपुष्य
बुधवार, 31 जनवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्त
गुरुवार, 1 फरवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा
शुक्रवार, 2 फरवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकस्वाति
गुरुवार, 8 फरवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से दोपहर 12.00 बजे तकउत्तराषाढ़ा
रविवार, 11 फरवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 17.00 बजे तकशतभिषा
बुधवार, 14 फरवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरेवती, अश्विनी
रविवार, 18 फरवरी 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकमृगशीर्ष
बुधवार, 21 फरवरी 2024प्रातः 15.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकपुनर्वसु
गुरुवार, 22 फरवरी 2024प्रातः 07.00 बजे से अपराह्न 13.00 बजे तकपुष्य
सोमवार, 26 फरवरी 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
गुरुवार, 29 फरवरी 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकस्वाति
शुक्रवार, 1 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से दोपहर 12.50 बजे तकस्वाति
रविवार, 3 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से अपराह्न 15.00 बजे तकअनुराधा
गुरुवार, 7 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तराषाढ़ा
शुक्रवार, 8 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से रात्रि 10.30 बजे तकश्रावण
सोमवार, 11 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तराभाद्रपद
रविवार, 17 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 16.00 बजे तकमृगशीर्ष
बुधवार, 20 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से रात्रि 22.00 बजे तकपुष्य
रविवार, 24 मार्च 2024प्रातः 10.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
सोमवार, 25 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्त
बुधवार, 27 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा
गुरुवार, 28 मार्च 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 18.00 बजे तकस्वाति
गुरुवार, 4 अप्रैल 2024प्रातः 07.00 बजे से रात्रि 20.00 बजे तकश्रावण
शुक्रवार, 12 अप्रैल 2024प्रातः 14.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरोहिणी
रविवार, 21 अप्रैल 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
बुधवार, 24 अप्रैल 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकस्वाति
बुधवार, 1 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकश्रावण
शुक्रवार, 3 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकशतभिषा
रविवार, 5 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा भाद्रपद
सोमवार, 6 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से अपराह्न 14.00 बजे तकरेवती
गुरुवार, 9 मई 2024प्रातः 12.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरोहिणी
शुक्रवार, 10 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकमृगशीर्ष
सोमवार, 13 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकपुनर्वसु, पुष्य
रविवार, 19 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्त
सोमवार, 20 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा
गुरुवार, 23 मई 2024प्रातः 09.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकअनुराधा
शुक्रवार, 24 मई 2024प्रातः 06.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तकअनुराधा
सोमवार, 27 मई 2024प्रातः 17.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा आषाढ़
गुरूवार, 30 मई 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकशतभिषा
रविवार, 2 जून 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरेवती
सोमवार, 3 जून 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकअश्विनी
शुक्रवार, 14 जून 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
रविवार, 16 जून 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्ता, चित्रा
सोमवार, 17 जून 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा
सोमवार, 24 जून 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा आषाढ़
बुधवार, 3 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरोहिणी
रविवार, 7 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकपुष्य
शुक्रवार, 12 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
बुधवार, 17 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकअनुराधा
रविवार, 21 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा आषाढ़
शुक्रवार, 26 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरेवती
बुधवार, 31 जुलाई 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकमृगशीर्ष
शुक्रवार, 9 अगस्त 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्त
रविवार, 11 अगस्त 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकस्वाति
शुक्रवार, 23 अगस्त 2024प्रातः 11.00 बजे से 23.00 बजे तकरेवती
बुधवार, 4 सितंबर 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
गुरुवार, 5 सितंबर 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्त
शुक्रवार, 6 सितंबर 2024प्रातः 06.00 बजे से अपराह्न 15.00 बजे तकहस्त
रविवार, 8 सितम्बर 2024प्रातः 06.00 बजे से अपराह्न 15.00 बजे तकस्वाति
शुक्रवार, 13 सितम्बर 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकपूर्वा आषाढ़
शुक्रवार, 20 सितंबर 2024प्रातः 06.00 बजे से रात्रि 21.00 बजे तकअश्विनी
सोमवार, 23 सितंबर 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरोहिणी
शुक्रवार, 27 सितंबर 2024प्रातः 06.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकपुष्य
गुरुवार, 3 अक्टूबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकहस्त
शुक्रवार, 4 अक्टूबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा
सोमवार, 14 अक्टूबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकशतभिषा
गुरुवार, 17 अक्टूबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकरेवती, अश्विनी
सोमवार, 21 अक्टूबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकमृगशीर्ष
गुरुवार, 24 अक्टूबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकपुष्य
रविवार, 3 नवंबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकअनुराधा
शुक्रवार, 8 नवंबर 2024प्रातः 06.30 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा आषाढ़
बुधवार, 13 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरेवती
रविवार, 17 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकरोहिणी
सोमवार, 18 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से अपराह्न 15.00 बजे तकमृगशीर्ष
गुरुवार, 21 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से अपराह्न 15.00 बजे तकपुष्य
सोमवार, 25 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
बुधवार, 27 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा
गुरुवार, 28 नवंबर 2024प्रातः 07.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा, स्वाति
शुक्रवार, 6 दिसंबर 2024प्रातः 07.0 बजे से सायं 17.00 बजे तकश्रावण
रविवार, 8 दिसंबर 2024प्रातः 07.10 बजे से सायं 16.00 बजे तकशतभिषा
बुधवार, 11 दिसंबर 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकअश्विनी
रविवार, 15 दिसंबर 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकमृगशीर्ष
रविवार, 22 दिसंबर 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकउत्तरा फाल्गुनी
सोमवार, 23 दिसंबर 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 17.00 बजे तकउत्तराफाल्गुनी, हस्त
बुधवार, 25 दिसंबर 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 23.00 बजे तकचित्रा, स्वाति
गुरुवार, 26 दिसंबर 2024प्रातः 08.00 बजे से सायं 18.00 बजे तकस्वाति

समापन नोट

तो, क्या आप अपने बच्चे का नामकरण संस्कार या बरसा समारोह रखने के लिए तैयार हैं? अपने बच्चे की कुंडली की विस्तार से जांच करने के लिए किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से बात करें। वह नामकरण दिवस समारोह को सही प्रक्रिया में करने के लिए सही मुहूर्त तय करने में आपकी सहायता करेगा।

अपने राशिफल के बारे में जानना चाहते है? अभी किसी ज्योतिषी से बात करें!

Get 100% Cashback On First Consultation
100% off
100% off
Claim Offer