शनि गोचर 2023

शनि गोचर 2023

वैदिक ज्योतिष की दृष्टि से शनि कठिन परिश्रम करने वाला है। यह कड़ी मेहनत, अनुशासन, धैर्य और जीवन में देरी का प्रतीक है। इसलिए, यह समग्र सफलता और खुशी के लिए सभी के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह एक राशि से पारगमन करता है और अपना संक्रमण पूरा करने में लगभग ढाई वर्ष का समय लेता है। कुल मिलाकर शनि को सभी 12 राशियों में भ्रमण करने में 27 वर्ष लगते हैं। यह धीमी गति से चलने वाला ग्रह है, इसलिए यह अन्य ग्रहों की तुलना में अधिक समय लेता है। शनि अशुभ है इसलिए यह आपके मार्ग में बाधा उत्पन्न कर सकता है। शनि की मार से सफलता मिलना मुश्किल हो सकता है, लेकिन लंबे इंतजार के बाद आपको इसका फल मिल सकता है। इस प्रकार, हमारे लिए यह आवश्यक हो जाता है कि हम व्यक्ति की जन्म कुंडली में इसकी स्थिति की जाँच करें।

चिंतित? आपकी कुंडली में ग्रहों की स्थिति कैसी होगी? विस्तार से समाधान के लिए निःशुल्क जन्मपत्री रिपोर्ट प्राप्त करें।

शनि के गोचर के बारे में

शनि आपको जिम्मेदारियां और नियम सिखाता है, इसलिए इसे सबसे कठिन ग्रह माना जाता है। भारतीय वैदिक ज्योतिष के अनुसार मकर और कुम्भ राशियों पर शनि का शासन है। मकर राशि में शनि जिम्मेदारी दर्शाता है, जबकि कुंभ राशि में शनि बौद्धिकता का प्रतिनिधित्व करता है। किसी को अपने जीवन के क्षेत्रों पर इसके प्रभाव को पहचानना आसान हो सकता है।

जन्म कुंडली में शनि की स्थिति बताती है कि हम समाज में कहां और कैसे अपनी पहचान बनाना चाहते हैं। दूसरे शब्दों में, कोई इसकी सामाजिक स्थिति के बारे में जान सकता है। वलयाकार ग्रह के कुछ सकारात्मक लक्षण भरोसेमंदता, दृढ़ता और अनुशासन हैं। जबकि नकारात्मक लक्षण आत्म-दया, अवसाद, बाधाएँ और कठिनाइयाँ हैं। शनि के राहु, केतु और बुध के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध हैं, जबकि इसके शत्रु सूर्य, चंद्र और मंगल हैं।

शनि गोचर 2023 सेशनि गोचर 2023 तकदिनांकसमय
मकर राशिकुंभ राशि17 जनवरी 2023, मंगलवार8:02 PM

राशियों में शनि का गोचर

जानिए शनि के राशि में आने पर जातकों के साथ क्या होता है। शनि की स्थिति को जानना चाहिए क्योंकि यह सभी को अधिक मजबूती और अलग तरह से प्रभावित करता है।

तो आइए जानते हैं सभी राशियों में शनि के गोचर के बारे में:

शनि का मेष राशि में गोचर

जब शनि मेष राशि से गोचर करेगा, तो आप जीवन में अच्छी चीजों का आनंद ले सकते हैं। यह एक ऐसा समय है जब हम महान चीजें हासिल करते हैं। यह गोचर हमारी आंतरिक शक्ति का दोहन करने की इच्छा लाता है। आपकी कार्य क्षमता में वृद्धि हो सकती है। आप बेहतर महसूस कर सकते हैं और जीवन में चीजें तेजी से आ सकती हैं। आप बहुत अधिक आत्मनिर्भर हो सकते हैं। आप अंदर से जिद्दी हो सकते हैं और आपको हर चीज की जरूरत है।

शनि का वृष राशि में गोचर

यदि शनि वृष राशि में गोचर करता है, तो आप अपने धन, आराम और सुरक्षा के प्रति गंभीर रहेंगे। आपको इस बात की स्पष्ट तस्वीर मिल सकती है कि आप अभी कहां खड़े हैं। आपके विश्वास समीक्षा के लिए आ सकते हैं और आप मूल्यों को अधिक आसानी से समझ सकते हैं। यदि आप जीवन के वास्तविक अर्थ को समझ जाते हैं, तो आपको जीवन में आगे बढ़ने में आसानी हो सकती है।

शनि का मिथुन राशि में गोचर

यदि चक्राकार ग्रह शनि मिथुन राशि में प्रवेश करता है, तो आपकी विचार प्रक्रिया में बदलाव हो सकता है। आप जिद्दी होंगे, इसलिए आप वही काम करें जो आपको सबसे ज्यादा पसंद हो। आप अधिक जिज्ञासु हो सकते हैं, और उचित ज्ञान के लिए आपकी खोज बढ़ सकती है। आपको विदेश यात्रा का मौका मिल सकता है। आप सीख सकते हैं कि कैसे अधिक सावधान रहना चाहिए और अपने भविष्य के लिए स्पष्ट होना चाहिए। आप अपने संचार कौशल को बढ़ा सकते हैं।

शनि का कर्क राशि में गोचर

कर्क राशि में शनि की उपस्थिति आपके पारिवारिक जीवन और उसमें आपकी भागीदारी पर जोर दे सकती है। यह आपके घर के निर्माण के लिए एक अच्छा समय होगा, और यदि आपके पास कोई योजना है तो आपको शुरुआत करनी चाहिए। आप अपने साथी के साथ समझौता करने की योजना बना सकते हैं, और आप दोनों गर्भधारण की तैयारी कर सकते हैं। आप अपने करीबी परिवार के सदस्यों या दोस्तों के साथ दुर्जेय संबंध बना सकते हैं।

शनि का सिंह राशि में गोचर

सिंह राशि में शनि का आगमन आपको अधिक रचनात्मक बनाता है, और आपके दिमाग में अनोखे विचार आ सकते हैं। इस दौरान आपको इसे संप्रेषित करने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। आप अपने अहं को समझ सकते हैं और अपनी घमण्डी प्रवृत्ति पर काबू पाने का प्रयास कर सकते हैं। आप बहुत उदार और प्यार करने वाले व्यक्ति बन सकते हैं। आपके साहस में वृद्धि हो सकती है और आप किसी जिद्दी से कम नहीं होंगे।

शनि का कन्या राशि में गोचर

कन्या राशि में शनि का गोचर आपके नियमित जीवन को प्रभावित कर सकता है। आपको अपने पेशेवर जीवन में नई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आप अपने कार्यस्थल के भीतर संघर्ष का हिस्सा हो सकते हैं। आप अधिक व्यावहारिक और विश्लेषणात्मक होंगे। आप अपने जीवन को कुशल बनाने के नए तरीके अपना सकते हैं। अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए आप अपने भविष्य के बारे में सोचने में अधिक समय लगा सकते हैं।

शनि का तुला राशि में गोचर

यदि शनि तुला राशि में गोचर कर रहा है, तो आपको अपने प्रियजनों को प्रभावित करने के लिए अतिरिक्त प्रयासों की आवश्यकता हो सकती है। आपको अपना ध्यान अपने प्यार और रिश्ते के लक्ष्यों की ओर मोड़ने की आवश्यकता हो सकती है। आप अपने जीवन में सभी चीजों को संतुलित करने की कोशिश कर सकते हैं। गोचर के दौरान आप सभी रिश्तों को बहुत आसानी से निभाने के लिए एक ईमानदार व्यक्ति बन सकते हैं। आप समय के साथ नई चीजें सीख सकते हैं

शनि का वृश्चिक राशि में गोचर

शनि के वृश्चिक राशि में गोचर करने पर आप अपने व्यक्तित्व को लेकर चिंतित हो सकते हैं। शनि का गोचर आपके पेशेवर जीवन में कठिन समय ला सकता है। आप अपने जीवन में बड़े और सार्थक परिवर्तन कर सकते हैं। आप अपने उन प्रयासों पर अधिक ध्यान केंद्रित कर सकते हैं जिनकी आपको सबसे अधिक आवश्यकता हो सकती है। यह गोचर आपके जीवन से अनावश्यक चीजों को खत्म करने में आपकी मदद करेगा।

शनि का धनु राशि में गोचर

धनु राशि में शनि आपको अपने सभी सिद्धांतों की समीक्षा करने की शक्ति देगा। तो, आप हमारे जीवन में एक ठोस और स्थायी विश्वास प्रणाली का निर्माण कर सकते हैं। आप कानून, संस्कृति, धर्म, शिक्षा और आध्यात्मिक विकास में परिवर्तन पा सकते हैं। यह गोचर आपको सुखद पलों को वापस पाने में मदद कर सकता है। आप अपना घर बदलने की योजना बना सकते हैं या आप नए घर में जाने पर विचार कर सकते हैं।

शनि का मकर राशि में गोचर

शनि का मकर राशि में गोचर, आपकी सहनशक्ति, उत्पादकता और अडिगता की शक्तियों का उपयोग करके एक मजबूत और ठोस आधार बनाने में आपकी मदद कर सकता है। शनि कड़ी मेहनत की मांग कर सकता है, लेकिन यह आपको जीवन में सबक भी सिखा सकता है। परिणामस्वरूप, आप प्रेरित हो सकते हैं और जीवन के प्रति एक आशावादी दृष्टिकोण रख सकते हैं। गोचर शनि आपको एक लक्ष्य निर्धारित करने में मदद कर सकता है, लेकिन इसे प्राप्त करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी।

शनि का कुम्भ राशि में गोचर

कुम्भ राशि में शनि का गोचर आपके जीवन के प्रेम संबंध चरण में प्रवेश करने का संकेत है। आप एक साथ मिल सकते हैं और अपने डेटिंग पार्टनर के साथ मौज-मस्ती कर सकते हैं। आप उसे प्रभावित करने के लिए तरह-तरह के तरीके ढूंढते हैं। धीरे-धीरे आप अपने रिश्ते को उच्च स्तर पर ले जाने की योजना बनाते हैं। आप दोनों निकट भविष्य में परिणय सूत्र में बंध सकते हैं।

शनि का मीन राशि में गोचर

यदि शनि मीन राशि में गोचर कर रहा है, तो आप आत्मनिरीक्षण कर सकते हैं। आपके लिए नए विचारों के साथ आने का यह बहुत अच्छा समय होगा। आप एक नया व्यवसाय विकसित करने की योजना बना रहे हैं, और आप इसमें अपना अधिकतम प्रयास कर सकते हैं। आप आत्मविश्वासी होंगे और आपकी कल्पना शक्ति में वृद्धि हो सकती है। कुल मिलाकर, यह व्यापार मालिकों और यात्रियों के लिए एक अच्छा समय हो सकता है।

आपकी राशियों पर शनि के गोचर के प्रभावों के बारे में अधिक जानने के लिए किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से परामर्श करें

संक्षेप में

ऐसा तब होता है जब शनि आपकी राशि से गोचर करता है। यह प्रतिबंध और सीमाओं का ग्रह है, इसलिए आपको पता होना चाहिए कि इससे कैसे निपटना है। नहीं तो शनि आपको अत्यधिक कठिनाइयों के साथ जीवन का पाठ पढ़ाने से गुरेज नहीं करेगा। यह ग्रह आपको आपके करियर के सही रास्ते पर ले जा सकता है। शनि के गोचर के कारण आपके जीवन में सफलता और खुशियों का आगमन धीमी गति से हो सकता है।

चुनौतियों को सकारात्मक तरीके से हराना चाहते हैं? सही समाधान के लिए ज्योतिषियों से बात करें। 100% कैशबैक के साथ पहला परामर्श!