टू ऑफ कप्स (Two of Cups Tarot) अपराइट और रिवर्स

टू ऑफ कप्स (Two of Cups Tarot) अपराइट और रिवर्स

टू ऑफ कप्स का अर्थ

रिलेशनशिप के मामले में टू ऑफ कप्स टैरो कार्ड सबसे महत्वपूर्ण कार्ड है। टैरो रीडिंग के दौरान यह अगर यह कार्ड आता है, तो यह आपके संबंधों की मजबूती, समर्पण और साथ काम करने की क्षमता को दर्शाता है। यह संबंधों के लिहाज से बेहतर अच्छा संकेत है।

आपको संबंधों के मामले में नीचा नहीं देखना पड़ेगा। जल्द ही आपको आगे बढऩे की प्रेरणा मिलेगी। या तो आपके नए रिलेशनशिप की शुरुआत हो चुकी हैं या होने वाली है। कार्ड में नजर आने वाले दो कप दर्शाते हैं कि यह संबंध आपके लिए बहुत सुखद व फायदेमंद साबित होने वाला है।

तत्व– पानी

ज्योतिषी राशि- कर्क

ग्रह: शुक्र

दिनांक– 21 जून से 1 जुलाई

टू ऑफ कप्स अपराइट– रिश्ते, खुशी, प्यार

टू ऑफ कप्स रिवर्स – संबंधों में तनाव, दर्द और वाद विवाद


टू ऑफ कप्स अपराइट (The Two of Cups Upright)

यह कार्ड दो लोगों के बीच प्रेम के प्रवाह को दर्शाता है। यहां कप दिल से निकलने वाले प्यार का प्रतीक हैं। आप बिना शर्त वाले प्यार में यकीन करते हैं। अटूट विश्वास, दया व समर्पण के भाव हैं आपके बीच में। टैरो रीडिंग के दौरान जब टू कप कार्ड सामने आता है, तो यह नए रिश्ते की शुरुआत हो सकती है। यह आपके प्रेमी, दोस्त या फिर व्यापारिक साझेदार, किसी के साथ भी हो सकता है। आप दोनों ही एक फायदेमंद रिश्ते की तरफ बढ़ रहे हैं, अच्छे रिश्ते बनाने में जुटे हैं। इसके परिणाम के तौर पर आपको जीत ही हासिल होगी। आप आंखों की भाषा समझते हैं और एक दूसरे की कीमत को जानते हैं।

टू कप कार्ड आपसी समझ के साथ बढऩे वाले एक प्यार भरे खुशनुमा रिश्ते को बताता है। आप एक दूसरे को बेहतर तरीके से समझते हैं और बेहतर परिणाम देने के लिए प्रोत्साहित भी करते हैं। यह रिश्ता शरीर नहीं मन से जुड़ा होता है।


टू ऑफ कप्स रिवर्स (The Two of Cups Reverse)

टू ऑफ कप्स का एक दूसरा पहलू भी है। यह आपके आत्म प्रेम से जुड़ा है। प्यार हर प्रकार का होता है। आप खुद से प्यार करने लगते हैं। बिना किसी शर्त के आत्म प्रेम। आप जो हैं, उसकी खुद ही सराहना भी करते हैं। अपनी प्रशंसा करते हैं, सम्मान भी करते हैं। आप एक खुशनुमा जीवन जीने में विश्वास करते हैं। आप मानते हैं कि आप इसके योग्य हैं, जो सही भी है। अगर आप आत्म प्रेम की स्थिति से बाहर आएंगे और दूसरे के प्रति अपनी भावनाएं प्रकट करेंगे तो यकीन मानिए आप दूसरों से भी बेहतर संबंध बना सकेंगे।

टू ऑफ कप्स का दूसरा पहलू यह है कि अत्यधिक आत्म प्रेम संबंधों के टूटने का कारण भी हो सकता है। अगर आप एक दूसरे के संपर्क में नहीं हैं, और भावनात्मक संबंध भी नहीं है तो यह आप में आत्मविश्वास की कमी हो सकती है। ऐसे में किसी दूसरे से संवाद करना आपके लिए बेहद मुश्किल हो सकता है।

बातचीत करना या तो आपने बेहद सीमित कर दिया है, या फिर बंद कर दिया है। आपके बीच में ऊर्जा का संचार भी रुक सा गया है। अगर इसे स्थिति को बदलना चाहते हैं तो खुद को खुलने का मौका दें। अपनी भावनाओं को साझा करें। बातचीत ही आपके जीवन में बहुत बड़ा बदलाव ला सकती है।

उम्मीद है शेयर किए गए जानकारी को अपना कर आप अपना जीवन अच्छा बनाएंगे।