Zodiac Compatibility

तुला और कन्या अनुकूलता

जिंदगी में किसी के पास अच्छे और लंबे रिश्ते हों, तो जीवन की आधी से ज्यादा समस्या खत्म हो जाती है, लेकिन रिश्ते बनाना और उन्हें टिकाए रखना, इतना आसान नहीं होता। मौजूदा दौर में लोगों के बीच फासले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। रिश्तों में बंधी डोर लगातार कमजोर होती जा रही है। लोगों को एक-दूसरों के साथ तालमेल बैठाने में दिक्कत आ रही है। वैदिक ज्योतिष इसमें हमारी हेल्प करता है, दो राशि के लोगों के बीच रिश्तों की मजबूत दीवार को संभाले रखने के लिए ज्योतिष हमेशा कुछ सिद्धांतों पर काम करता है। इन्हीं सिद्धांतों के आधार पर हम तुला और कन्या राशि की जोड़ी का अध्ययन करेंगे।

तुला

Libra
23 Sep - 23 Oct
Zodiac Heart Sign

कन्या

Virgo
24 Aug - 22 Sep
Libra
Virgo

तुला और कन्या लव कंपेटिबिलिटी

कन्या और वृश्चिक के प्रेम संबंध दो विपरीत ध्रुवों को साथ लाने जैसा हो सकता है। कन्या आमतौर पर शांत और पेशिनेट होते हैं, जबकि तुला जातक प्रोग्रेसिव और सोशल होते हैं। आइए तुला और कन्या राशि की जोड़ी और इनकी लव लाइफ के बारे में ज्यादा जानें।

  • कन्या और तुला के प्रेम संबंध बेहद रोमांटिक और एक्साइटिंग हो सकते हैं, वे कम्युनिकेशन के दौरान इंटीमेट बातें करना पसंद करते हैं।
  • अपने मतभेदों के बावजूद जब ये दोनों राशियां बिना शर्त के प्यार की गहराई में उतरने को तैयार होती है, तो उनके प्रेम संबंध लोगों के लिए आश्चर्य और क्यूरियोसिटी का विषय हो सकता हैं।
  • कन्या के साथ प्रेम संबंधों के दौरान तुला प्यार और मस्तीखोरी करते हैं, जिससे कन्या राशि के लोग उनकी ओर खिंचे चले आते हैं।
  • तुला और कन्या दोनों ही प्रैक्टिकल होते हैं। कन्या विशेष रूप से तुला के डिप्लोमेटिक नेचर और अट्रेक्शन को पसंद करते हैं, वहीं तुला को कन्या का केयरिंग नेचर पसंद आता है।

तुला और कन्या संबंधों के फायदे

तुला और कन्या दोनों विपरीत विशेषताओं के बावजूद काफी हद तक एक-दूसरे के लिए बने हैं। उनके बीच का बौद्धिक और शारीरिक जुड़ाव उन्हें एक दूसरे के ज्यादा करीब लाने का काम करता है, आइए जानते हैं तुला और कन्या राशि की जोड़ी के कुछ सकारात्मक पहलू –

  • तुला और कन्या संबंधों में रहने के दौरान एक साथ कुछ नया सीखने की कोशिश कर सकते हैं। तुला की न्यायप्रियता और कन्या की व्यावहारिकता आसानी से एक हो सकती है।
  • तुला और कन्या दोनों ही लाॅजिकल और इंटेलेक्चुअल तौर पर समान होते हैं, बौद्धिक क्षमता के दम पर वे किसी भी काम को आसानी से पूरा कर सकते हैं।
  • कन्या को नियमों का पालन करते हुए लाॅजिकली आगे बढ़ना पसंद होता है। तुला और कन्या के रिश्तों में तुला स्टेबल रहने की कोशिश करते हैं, ताकि कन्या की घबराहट और चिंता की प्रवृत्ति को शांत किया जा सकें।
  • तुला और कन्या पारंपरिक रूप से एक-दूसरे के लिए अधिक अनुकूल नहीं होते हैं, लेकिन समय के साथ इनके रिश्ते बेहतर होते जाते हैं।

तुला – कन्या संबंधों के नुकसान

तुला और कन्या राशियों का संयोजन बहुत सहज नहीं होता है, उनके बीच भरोसा आसानी से कायम नहीं हो पाता है, लेकिन वे हमेशा एक-दूसरे के साथ सुरक्षित महसूस करते हैं। आइए तुला और कन्या संबंधों के कुछ नुकसान जानें।

  • हर रिश्ते में एक ऐसा समय आता है, जब आपको सब सही लग रहा होता है। जब बुरा समय आता है, तो स्थितियां अलग हो जाती है और हर चीज टुकड़े-टुकड़े में सामने आ रही होती है। तुला और कन्या के संबंधों पर यह स्थिति बिल्कुल सटीक बैठती है
  • तुला-कन्या के इस रिश्ते में कन्या को यह समझना होगा कि हर कोई आपके अनुसार परफेक्शन नहीं पा सकता है, उन्हें तुला को कुछ समय और स्वतंत्रता देने पर विचार करना चाहिए।
  • तुला और कन्या के संबंधों में उनके पर्सनल डिसीजन के कारण भी भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है, जिससे धीरे-धीरे रिश्ते से उनका इंट्रेस्ट खत्म होने लगता है।
  • यदि तुला और कन्या एक बेहतरीन रिश्ता चाहते हैं, तो उन्हें एक दूसरे की कमियों और खामियों को स्वीकार करना होगा। मिसाल के तौर पर तर्कों के दौरान कन्या राशि बहुत शाॅर्ट टेंपर्ड हो जाते है। वहीं तुला रिश्तों को कंट्रोल करने का प्रयास करते हैं।
  • तुला और कन्या के रिश्तों का एक और बुरा पहलू यह है कि इनमें एक रहस्यमयी है वहीं दूसरा जरूरत से ज्यादा जानने का प्रयास करता है।
Libra - Virgo Comaptibility

तुला – कन्या मैरिज कंपेटेबिलिटी

इन दोनों के बीच अनुकूलता तुला के इंडिपेंडेंट नेचर और कर्क की अधिकारवादी प्रवृत्ति के कारण प्रभावित होगी। क्या वे एक सफल मैरिड लाइफ का मजा ले पाएंगे, आइए उनकी मैरिड लाइफ के बारे में कुछ अधिक जानें।

  • तुला जातकों के पास समझौता और बातचीत के लिए एक प्राकृतिक प्रतिभा होती है, कन्या के साथ मैरिड रिलेशन में उन्हें इसका भरपूर लाभ भी मिलता है।
  • तुला और कन्या दोनों ही राशियां आर्ट और कल्चर से जुड़ी चीजें पसंद करती है, वे साथ में समय बिताने के लिए ऐसे कार्यक्रमों में जाना पसंद करते हैं।
  • तनावपूर्ण समय के दौरान तुला का आकर्षण और संतुलन, कन्या जातकों को राहत देने का कार्य करता है।
  • वैवाहिक जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या को हल करने के लिए दोनों के पास बेहतरीन समझ होती है, वे बैठते हैं बात करते हैं और समस्या को सुलझा लेते हैं।

तुला – कन्या सेक्सुअल अनुकूलता

तुला और कन्या दोनों ही विपरीत स्वभाव की राशियां है, तत्व आधार की बात करें तो जहां तुला वायु से संबंधित है, वहीं कन्या पृथ्वी तत्व की राशि है। आइए जानते हैं कि क्या वे सेक्सुअल रिलेशनशिप में भी एक दूसरे के अनुकूल हो सकते हैं?

  • सेक्सुअल रिलेशनशिप के लिए भी तुला और कन्या की जोड़ी बेहद सटीक और उपयुक्त दिखाई देती है। कन्या सेक्सुअल रिलेशनशिप को रोमांचक बनाने का काम करते है, वहीं तुला अपने पार्टनर को चरम सुख प्रदान करने की कोशिश करते हैं।
  • सेक्सुअल रिलेशनशिप को बेहतर बनाए रखने के लिए तुला जातक सदैव नए-नए प्रयोग करते हैं और अति सेंसेटिव कन्या इन प्रयोगों में आसानी से शामिल हो जाते हैं।
  • तुला और कन्या के बीच की इंटीमेसी उनके रिश्ते को अधिक मजबूत करने का कार्य करती है। तुला और कन्या का सेक्सुअल रिलेशनशिप हवा के बहाव की तरह होता है।
  • तुला और कन्या के बीच का सेक्सुअल रिलेशनशिप उनके इमोशन का उबार होता है, जो एक पवित्र रिश्ते की नींव रखता है।

कम शब्दों में कहें तो तुला और कन्या के संबंध कुछ हद तक अनुकूल होते है, वहीं कुछ क्षेत्रों में उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि लाइफ के लगभग सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों का आकलन करने के बाद यह कहा जा सकता है कि तुला और कन्या के संबंध कई स्तर पर एवरेज से हाई ही नजर आते हैं।

Your Sign

Your Zodiac Sign
Zodiac Heart Sign

Partner’s Sign

Your Partner’s Zodiac Sign