घर की रोशनी कैसी होनी चाहिए : जानें रोशनी वास्तु टिप्स


सारांश

आजकल लोग अपने घरों के इंटीरियर डिजाइन, फर्नीचर और यहां तक कि अपने घरों की लाइटिंग भी बहुत सोच-विचार करके करते हैं। और ऐसा करना भी चाहिए क्योंकि बिना सोचे विचारे घर में कुछ भी लगा देने से उसकी शोभा तो खराब होती ही है, वास्तु दोष का भी खतरा बना रहता है। किसी भी घर को रोशन करने के लिए सही किस्म की प्रकाश व्यवस्था बहुत ही ज़रूरी है।

अगर घर को वास्तु अनुसार रोशन किया जाए, वास्तु अनुसार लाइट्स लगाई जाए तो ये घर के निवासी के लिए प्रगति और समृद्धि लाता है। वास्तु शास्त्र में साफ़ तोर पर ये बताया गया है कि घर में किस दिशा में लाइट्स लगायीं जाए, ताकि घर मे सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो सके। वास्तु में घर के प्रत्येक कमरे में लाइट्स कहां लगाएं इसका सरल वर्णन है|


घर की लाइट्स में वास्तु की अहमियत

वास्तु की सबसे पहली सलाह ये है कि घर ऐसा हो जहां नेचुरल प्रकाश घर के सभी कोनों में पहुंच सकें। घर में जितनी रोशनी होगी घर उतना ही सकारात्मक ऊर्जा देगा और उस घर में रहने वालों का जीवन भी रोशन होगा। वास्तु के अनुसार घर के सत्व कोने में जो ईमारत या घर की उत्तर पूर्व दिशा मे होता है। वहां हमेशा ही रोशनी रहनी चाहिए और इसीलिए वास्तु की मुताबिक इस कोने मे खिड़की होनी चाहिए ताकि रोशनी इस कोने मे आ सके। इसलिए हमेशा घर ऐसा बनाइए जहां सूरज की रोशनी बड़ी आसानी से आ सके। अगर घर में प्राकृतिक रोशनी आ रही है तो ये आपके बिजली के बिल को भी कम करता है। अगर घर सही तरीके से बनाया या ख़रीदा जाए जहां पर्याप्त रोशनी आती हो तो आप दिन भर बल्ब या ट्यूब लाइट पर आप निर्भर नहीं रहेंगे।

इसके अलावा, ये भी ख्याल रखें कि आपके घर के प्रकाश का मुख्य स्रोत दक्षिण-पूर्व कोना नहीं होना चाहिए। इसका मतलब ये है कि ऐसा न हो की घर मे सबसे ज़्यादा रोशनी इसी दिशा या कोने मे आ रही हो, इसे अशुभ माना जाता है। हमेशा ये देखें की घर के सभी कोनों में रोशनी बराबर रहती हो।

इन सामान्य दिशानिर्देशों के अलावा, आपके घर में प्रत्येक कमरे को रोशन करने के लिए वास्तु दिशा निर्देश या टिप्स हैं। आइए नीचे दिए कुछ सुझावों पर नज़र डालते हैं।


घर के लाइट के लिए वास्तु

हम अक्सर वास्तु दिशानिर्देशों का पालन किए बिना घर बनाते हैं या ऐसे घरों को खरीदते हैं। अगर आपने भी ऐसा किया है तो वास्तु विलाक्कु आपकी मदद करेगा। वास्तु विलाक्कु क्या है, और यह कैसे काम करता है?

वास्तु विलाक्कु एक दीपक या दिया होता है इसे मजबूत वास्तु पाठों के आधार पर बनाया गया है। धार्मिक मान्यता यह है कि, इस दीपक को अपने घर में स्थापित करके, हम अपने घरों के निर्माण की त्रुटियों के कारण होने वाली सभी समस्याएं दूर कर सकते हैं। ये दीपक आपके परिवार के लिए परम शांति, खुशी और अनकही समृद्धि लाता है। अद्भुत डिजाईन वाला यह टुकड़ा पीता पूजा में गुप्त मंत्र के आधार पर बनाया गया है। घर के अंदर एक आरामदायक माहौल बनाने के लिए इस डिजाइन में पंचभूत बलों को सरल बनाया गया है। यह पूजा कक्ष में या घर के उत्तर-पूर्व कोने में एक सकारात्मक खिंचाव बनाए रखने के लिए स्थित है।


घर की रोशनी के लिए सामान्य वास्तु टिप्स

घर की रोशनी के लिए कुछ सामान्य वास्तु टिप्स नीचे दिए गए हैं। यदि आप निर्माण सम्बन्धी समस्याओं का सामना कर आ रहे हैं तो इन सुझावों का पालन करके देखिए, अवश्य ही लाभ होगा।

  • मुख्य दरवाजे तक जाने वाला मार्ग अच्छी तरह रोशन होना चाहिए|
  • यदि आपका पूजा कक्ष उत्तर, पूर्व, या उत्तर-पूर्व में है, तो वहां सफेद रंग की लाइट होनी चाहिए।
  • घरों की सीढ़ी के शीर्ष पर तेज रोशनी सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है।
  • स्पॉटलाइट्स का उपयोग घर में सकारात्मकता बढ़ाने के लिए किया जाता है।

घर के लिए वास्तु लाइटिंग -किचन

वास्तु वो विज्ञान है जो जीवन के हर क्षेत्र में हमारी मदद करता है। हमारे घर के हर कमरे के लिए वास्तु के कमाल के सुझाव मौजूद हैं और हमारा किचन भी इससे अछूता नहीं है। किचन पर अगर लाइट्स की वास्तु टिप्स की बात करें तो कोशिश करें कि यहां छाया कम हो। रसोई मे रोशनी की व्यवस्था को हमेशा ठीक रखें ताकि पूरे किचन में रोशनी रहे। जहां आपका स्टोर रूम या पैंट्री हो उस स्थान को हमेशा रोशन रखें।


घर के लिए वास्तु लाइटिंग : लिविंग रूम

आपका लिविंग रूम आमतौर पर घर का पहला कमरा होता है, जो सबके सामने सबसे पहले आता है। इसीलिए ये ध्यान रखें की आपका लिविंग रूम अच्छी तरह से रोशन रहे। लिविंग रूम में अच्छी तस्वीरें हों, जो आपके परिवार की हो सकती हैं, एक पारिवारिक तस्वीर दक्षिण-पश्चिम की दीवार पर ज़रूर होनी चाहिए। (यदि आपके पास है)।

परिवार की तस्वीर पर एक स्पॉटलाइट रखने से घर मे समृद्धि आती है, घर मे सभी के लिए सौभाग्य आता है, और सभी लोग सुरक्षित रहते हैं। घर में ज़्यादा चकाचोंध रोशनी से बचें या ऐसी लाइटिंग घर मे न करें जो चका चोंध पैदा करे।


लाइटिंग लैम्प के लिए वास्तु

वास्तु शास्त्र के अनुसार जितना हो सके प्राकृतिक प्रकाश या रोशनी का उपयोग करना चाहिए। नेचुरल प्रकाश के अलावा मोमबत्तियां और मिट्टी के दीपक, घरों मे समृद्धि लाते हैं। अगर आप अपने घर में मोमबत्तियां जलाना चाहते हैं, तो उन्हें दक्षिण या दक्षिण-पश्चिम कोने में रखें। यह दिशा सकारात्मक ऊर्जा देने के लिए जाना जाता है। अपने घर में किसी भी प्रकार के कृत्रिम प्रकाश व्यवस्था का ध्यान रखें। अगर उनमे कोई कमी या खराबी आ जाये तो फ़ौरन उसे बदल दें। मृत्यु के स्वामी, यम की दिशा में दीपक जलाने की वास्तु इजाज़त नहीं देता है क्योंकि इसे मृत्यु की दिशा माना जाता है।


अंत में

अपने स्थान या घर पर रोशनी की सही व्यवस्था आपके रिश्तों को मजबूत करती है और इसके साथ घर में समृद्धि और आपके कॅरियर में विकास लाती है। वास्तु के अनुसार, बिजली को सही स्थान पर लगाने से जीवन में भी प्रकाश आता है, रिश्ते मजबूत होते हैं। साथ ही वो स्थान जहां रोशनी जल रही है उसे भी सुंदरता मिलती है।

घर के लिए वास्तु टिप्स चाहते हैं, हमारे विशेषज्ञों के बात करें।