आखिर कैसे Nirmala Sitharaman बनी इतनी सशक्त महिला?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) का नाम दुनिया की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं (World’s 100 Most Powerful Women) की सूची शामिल किया गया है। Forbes ने इस सप्ताह World’s 100 Most Powerful Women की 18वीं सालाना रैंकिंग जारी की है, जिसमें देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) के साथ Nykaa की फाल्गुनी नायर (Falguni Nayar) का नाम शामिल है। फोर्ब्स की इस सूची में निर्मला सीतारमण को 37वां स्थान दिया गया है। पिछले साल निर्मला सीतारमण इस लिस्ट में 41 वें नंबर पर थी। जानते हैं Nirmala Sitharaman की सूर्य कुंडली से, आखिर क्यों वे इतनी सशक्त महिला, आगे कैसा होगा उनका सफर-

क्या आपकी कुंडली में हैं लाभकारी ग्रह, कब देंगे आपको फायदा? बात करें हमारे ज्योतिषियों से, पहला कंसलटेशन पाएं फ्री


गुरु का गोचर Nirmala Sitharaman को प्रदान करता है मजबूती

18 अगस्त 1959 को तमिलनाडु के मदुराई में जन्मी निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) की सूर्य कुंडली पर नजर दौड़ाई जाए, तो उनकी राशि मकर है। मकर राशि पर अभी शनि की साढ़े साती चल रही है। साढ़े साती के कारण व्यक्ति हमेशा नकारात्मक पब्लिसिटी में ज्यादा रहता है। पिछले कुछ समय से देश के आर्थिक हालात को लेकर उन पर नकारात्मक खबरें ही रही है, लेकिन Nirmala Sitharaman की कुंडली में सूर्य जैसा सशक्त ग्रह स्वग्रही है। जो उनके आत्मविश्वास को हमेशा बढ़ाकर रखता है। हाल ही गोचर के ग्रहों ने भी उनका सपोर्ट किया है। गोचर में गुरु जैसा बड़ा ग्रह सूर्य, शुक्र और मंगल के सामने से गुजर रहा है। जिसके कारण वे देश के लिए महत्वपूर्ण निर्णय ले रही है और प्रधानमंत्री भी उनका पूरा सहयोग कर रहे हैं। यही निर्णय उन्हें सशक्त महिला भी बनाते हैं। हालांकि चंद्र के ऊपर से शनि का गोचर उन्हें कुछ परेशानी में डाल सकता है, लेकिन वे गुरु के प्रभाव से अभी उदारवादी निर्णय ही लेंगी। कोरोना से मुश्किल में आई अर्थव्यवस्था को वे पटरी पर लाने का पूरा सफल प्रयास करेंगी।

लाभकारी ग्रहों का योग दिलाएगा आपको सफलता, नि:शुल्क बात करें हमारे ज्योतिष विशेषज्ञों से..


देश की दूसरी पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री Nirmala Sitharaman

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश की दूसरी पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री हैं। इसके अलावा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में वह दूसरी पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री भी रही है। इससे पहले आयरन लेडी इंदिरा गांधी इन दोनों पदों पर रही थी। निर्मला सीतारमण का राजनीतिक कार्यकाल ज्यादा लंबा नहीं है। वह साल 2008 में भाजपा में एक सदस्य के रूप में शामिल हुई थी। इसके बाद 2014 तक उन्होंने पार्टी की प्रवक्ता के रूप में अपनी भूमिका निभाई। इसके बाद वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में रक्षामंत्री बनाई गई। वर्तमान में निर्मला सीतारमण के पास वित्त मंत्रालय के साथ कॉर्पोरेट मामलों का मंत्रालय भी है।
साल 2022 आपके लिए कैसा रहेगा, पढ़िए राशिफल….