Guru Gochar 2022: नए साल में गुरु बदलेंगे अपनी राशि, जानिये12 राशियों पर क्या होगा असर

ग्रहों का भ्रमण हमेशा जारी रहता है। बिना रुके लगातार आगे बढ़ते रहने की अपनी प्रवृत्ति के क्रम में एक निश्चित समयावधि में ये ग्रह अपनी पहली राशि को छोड़ दूसरी राशि में प्रवेश या यूं कहें कि गोचर करते हैं। किसी राशि में प्रवेश के बावजूद उनका आगे बढ़ना जारी रहता है। ग्रहों के आगे बढ़ने और एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश को गोचर या ग्रहों का राशि परिवर्तन कहा जाता है। गुरू को विकास, उन्नति, ज्ञान, संतान, वृद्धि और बुद्धि का कारक माना जाता है और इस क्रम में गुरु ग्रह 13 अप्रेल को राशि कुंभ से राशि परिवर्तन (Guru ka gochar 2022) कर अपनी राशि मीन में प्रवेश करेंगे। गुरु का मीन राशि में गोचर 2022 (Jupiter Transit in Pisces) का सभी राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा। अब अगर यहां गोचर की बात करें तो मीन राशि में गुरु का यह गोचर (Guru ka gochar 2022) एक राशि के पहले भाव में होगा, तो अन्य राशि में गुरु का यह गोचर उस राशि के दूसरे या तीसरे भाव में होगा। इस तरह साल 2022 में गुरु का राशि परिवर्तन (Guru ka gochar 2022) सभी जातकों के लिए खास तौर पर शुभफलदायक होगा। मीन राशि गुरु की अपनी राशि है, ऐसे में इस गोचर के फलस्वरुप ज्यादातर लोगों को शुभ फल की ही प्राप्ति होगी। तो आइए जानते हैं गुरु के मीन राशि में गोचर 2022 (Jupiter Pisces Transit) का विभिन्न राशियों पर क्या फलाफल होगा …


गुरु के मीन राशि में गोचर 2022 (Jupiter Pisces Transit) )का हिन्दुस्तान पर असर

वर्ष 2022 में गुरु के राशि परिवर्तन (Guru ka gochar 2022) का आकलन करें तो पाते हैं कि भारत पर इसका काफी असर होगा। 15 अगस्त 1947 को हमारे देश को आजादी मिली थी। इस लिहाज से भारत की कुंडली वृषभ लग्न की बन रही है। अब वर्ष 2022 में गुरु का मीन राशि में गोचर (Jupiter Pisces Transit) की बात करें तो यह हमारे देश हिन्दुस्तान की कुंडली में ग्यारहवें स्थान में होगा। इस लिहाज से देखें तो यह देश के लिए एक शुभ और सुखद बदलाव का क्षण होगा। ग्रहीय गोचर के मुताबिक दूसरे देशों के साथ हमारी नेटवर्किंग को बढ़ावा मिलेगा। सरकार द्वारा देश में कई नए प्रोजेक्ट की भी शुरुआत की जा सकती है। यही नहीं, सरकार द्वारा बनाई जाने वाली योजनाएं भी लोगों को काफी पसंद आएगी। इसके साथ ही लंबे समय से चल रही परेशानियों से भी देश को मुक्ति मिलेगी। 


जानते हैं, गुरु का मीन राशि में गोचर (Jupiter Pisces Transit) विभिन्न राशियों पर क्या डालेगा प्रभाव


गुरु का गोचर 2022 (Jupiter Transit in Pisces) : मेष (Aries) राशि पर प्रभाव

कुछ अन्य ग्रहों की तरह गुरू जल्दी-जल्दी नहीं बल्कि साल में एक बार अपनी राशि बदल कर दूसरी राशि में गोचर करते हैं। ऐसे में गुरु ग्रह 13 अप्रैल 2022 से मीन राशि में ट्रांजिट करेंगे। अब मेष राशि की बात करें तो गुरु ग्रह का यह गोचर 2022 (Guru ka gochar 2022) में 12वें स्थान से होगा। कुंडली में 12वें स्थान को खर्च का भाव कहा जाता है। हालांकि 12वें स्थान में गुरु के आने से आपको विभिन्न चिंताओं से मुक्ति मिलेगी। यहां गुरु की सीधी दृष्टि कुंडली के छठे स्थान पर पड़ेगी। गुरु की इस दृष्टि का प्रभाव भी आपके लिए शुभ होगा और आपकी स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं का भी समाधान हो जाएगा।

इस समय आप आर्थिक रूप से मजबूत रहने का भी प्रयास करेंगे। खर्च भी काफी होगा। गुरु के मीन राशि में गोचर 2022 (Jupiter Transit in Pisces) के प्रभाव से मेष राशि के जातक किसी संपत्ति में भी निवेश कर सकते हैं। नौकरीपेशा या व्यापारी वर्ग के लोगों के लिए यह समय नई शुरुआत करने वाला भी हो सकता है। इस दौरान आपको कोई नया विकल्प भी मिल सकता हैं। घर-परिवार का माहौल भी बेहतर रहेगा। इस समय घर में किसी तरह का किसी तरह के मांगलिक आयोजन का भी माहौल बन सकता है। हालांकि अनावश्यक खर्चों से भी कभी-कभी आपको परेशानी हो सकती है। मेष राशि के जातकों को गुरु के मीन राशि में गोचर (Jupiter Transit in Pisces ) के और भी बेहतर फल की प्राप्ति के लिए वेदानुसार रुद्राभिषेक पूजा करवानी चाहिए।


गुरु का मीन राशि में गोचर 2022 (Guru ka gochar 2022) का वृषभ (Taurus) राशि पर प्रभाव

गुरु को ज्ञान का प्रतीक ग्रह माना जाता है और वे हमेशा से ही वृद्धि का कारक रहे हैं। अब साल 2022 की बात करें तो गुरु ग्रह अपनी पूर्व राशि कुंभ को छोड़कर मीन राशि में गोचर करेंगे। वृषभ राशि के लिए 2022 में गुरु ग्रह का राशि परिवर्तन (Guru ka gochar 2022) सामान्य से कुछ अच्छा हो सकता है। गुरु, मीन राशि में गोचर के दौरान वृषभ राशि के 11वें भाव से गुजरेंगे। इस अवधि में आपको मान-सम्मान मिलेगी साथ ही संतान से जुड़ी आपकी चिंता भी दूर होगी।

इस समय वृषभ राशि के लोगों की आर्थिक परेशानी भी दूर होगी। नौकरीपेशा या व्यापार करने वालों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ संबंध भी अच्छे बनेंगे। इस दौरान प्रेम विवाह में भी आपको सक्सेस मिल सकता है। किसी को प्रपोज करते वक्त भी आपको गुरु ग्रह का आशीर्वाद मिलेगा। भाई-बहनों से भी आपके संबंध मजबूत होंगे। जीवनसाथी के साथ अगर कोई तनाव हो तो वह भी दूर होगा। विद्यार्थियों के लिए भी गुरु का मीन राशि में प्रवेश (Guru ka gochar 2022) अच्छा रहेगा। अपने कौशल में वृद्धि के लिए वे किसी ऑनलाइन कोर्स में भी एडमिशन ले सकते हैं। अगर वृषभ राशि के जातक गुरु के इस राशि परिवर्तन का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें विष्णु सहस्रनाम का पाठ या वेदों के अनुसार भगवान विष्णु की पूजा अवश्य करनी चाहिए।

(यजुर्वेदीय पद्धति से पूजा करवाने से आपको मिल सकता है ज्यादा लाभ। पूजा कराने और उसका ज्यादा लाभ प्राप्त करने के लिए विजिट करें हमारा पूजा सेक्शन)


गुरु के राशि परिवर्तन 2022 (Guru ka gochar 2022) का मिथुन (Gemini) राशि पर प्रभाव

अप्रैल 2022 में गुरु के राशि परिवर्तन का मिथुन राशि पर प्रभाव देखने को मिलेगा। इसके प्रभाव से आपको कई मायनों में राहत मिलने जा रही है। गुरु का यह गोचर, मिथुन राशि के लिए दसवें स्थान से होगा। गुरु का यह गोचर (Jupiter Transit in Pisces)  मिथुन जातकों को कई अच्छे और शुभ फल प्रदान करने जा रहा है। स्वास्थ्य के लिहाज से देखें तो अभी आपको किसी पुरानी बीमारी से निजात मिलेगी। पुराने उधार की रकम भी अभी आपको वापस मिल सकती है। यदि आपको किसी प्रोजेक्ट के लिए धन की जरूरत है, तो वह भी आपको मिल सकता है।

व्यापार कर रहे मिथुन राशि वाले जातक गुरु के मीन राशि में गोचर (Jupiter Transit in Pisces ) का खास लाभ उठा सकते हैं। आपको अपने व्यापार को आगे बढ़ाने के नए मौके मिलेंगे। आप किसी नए प्रोजेक्ट की शुरुआत भी कर सकते हैं। लाइफ पार्टनर के साथ आपका तालमेल काफी बेहतर रहेगा। भगवान गणेश की पूजा करवाकर आप इस गोचर का ज्यादा से ज्यादा लाभ ले सकते हैं। इस पूरे गोचर (Guru ka gochar 2022) की बात करें तो इस एक साल की अवधि में आप ज्यादातर समय आप अपने कॅरियर को आगे बढ़ाने को लेकर ही बातें करेंगे।

(क्या आप अपने कॅरियर को लेकर असमंजस में हैं? क्या करना है, समझ नहीं पा रहे हैं, तो हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों से एक बार जरूर बात करें।)


गुरु का मीन राशि में गोचर : कर्क (Cancer) राशि पर प्रभाव

कर्क राशि में गुरु उच्च के माने जाते हैं। अब 13 अप्रैल 2022 को गुरु ग्रह का गोचर (Jupiter Transit in Pisces) मीन राशि में हो रहा है। यह राशि परिवर्तन कर्क राशि के लिए 9वें स्थान पर होगा। कर्क राशि के लोगों के लिए गुरु का यह भ्रमण अच्छा प्रूव होगा। इस समय आपकी लंबी यात्राएं होंगी। इनमें से ज्यादातर यात्राएं धार्मिक स्थलों से जुड़ी हो सकती हैं। यही नहीं अभी आपके मन में कोई दीर्घकालिक निवेश का विचार भी आएगा। ऐसे में अच्छी तरह सोच-समझ कर ही आगे बढ़ना आपके लिए अच्छा रहेगा। इस दौरान जॉब होल्डर्स को भी नए अवसर भी मिल सकते हैं।

आप पर काम का भी बोझ बढ़ सकता है। विवाहोत्सुक जातकों का रिश्ता पक्का हो सकता है। एक साल तक गुरु मीन राशि में ही रहेंगे और इस अवधि में कर्क राशि के लोगों पर गुरु (Guru ka gochar 2022) अपना विशेष प्रभाव डालेंगे। इस दौरान अगर लाइफ पार्टनर के साथ कोई तनाव चल रहा होगा तो वह भी दूर हो जाएगा। कर्क राशि के लोगों के लिए भगवान शिव की उपासना करना शुभ फलदायी होगा।


गुरु का राशि परिवर्तन 2022 (Guru ka gochar 2022) : सिंह (Leo) राशि पर प्रभाव

साल 2022 में गुरु अपना राशि परिवर्तन (Guru ka gochar 2022) कर सिंह राशि के आठवें स्थान से गुजरेंगे। इस अवधि में सिंह राशि वालों को अपने स्वास्थ्य का खास ध्यान रखना होगा। अभी आपकी आर्थिक स्थिति तो सुधरेगी, लेकिन आपके खर्चे भी उसी के मुताबिक होंगे। ऐसे में आपको अपने खर्च पर ध्यान रखने की जरूरत होगी। विवाहित जातकों के ससुराल पक्ष से संबंधों में सुधार हो सकता है। इस दौरान अनावश्यक बातों पर आपको क्रोध हो सकता है, हालांकि परिवार के लोगों के साथ अगर कोई मतभेद हों तो वे भी सुलझेंगे। अगर आप किसी नई नौकरी की तलाश में हों तो अभी आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। हालांकि अभी आप बिजनेस में कोई नई शुरुआत कर सकते हैं। इस पूरी गोचर अवधि में ड्राइविंग के समय आपको सावधानी बरतने की जरुरत होगी। हालांकि अभी आपके पुराने और फंसे कार्यों में तेजी आ सकती है।

(क्या आपका काम लंबे समय से फंसता जा रहा है, ऐसा किसी नकारात्मक ग्रहों की महादशा के कारण हो सकता है, अपनी फ्री जन्म रिपोर्ट जरूर प्राप्त करें और जानें कि आपका आगे का सफर कैसा रहेगा?)


गुरु का मीन राशि में गोचर 2022 : कन्या (Virgo) राशि पर प्रभाव

गुरु के मीन राशि में गोचर की बात करें तो अप्रेल 2022 में गुरु राशि परिवर्तन कर मीन (Jupiter Transit in Pisces) राशि के सातवें भाव में प्रवेश करेंगे। गुरु के इस गोचर (Guru ka gochar 2022) के प्रभाव से कन्या राशि के लोग मोटापे की समस्या से परेशान हो सकते हैं, यानी अभी आपका वजन बढ़ सकता है। हालांकि अभी आपको किसी पुरानी बीमारी से निजात मिल सकती है। नौकरीपेशा या व्यापार करने वालों को गुरु के इस गोचर का लाभ मिल सकता है।

हालांकि भागीदारी में काम कर रहे लोगों को अत्यंत सावधानी से काम करने की जरूरत है। लाइफ पार्टनर के साथ भी मतभेद बढ़ने की भी आशंका बनी रहेगी। आर्थिक रूप से यह समय सामान्य रहेगा। नए खर्च भी आपको परेशान करेंगे। एक साल के इस गोचर के दौरान आपको नए व्यापार की शुरुआत करने से भी परहेज करना चाहिए। इस अवधि में किसी के साथ भागीदारी का काम भी शुरू नहीं करना चाहिए। हालांकि अविवाहितों के लिए यह समय बेहतर हो सकता है।


गुरु के राशि परिवर्तन 2022 का तुला राशि (Libra) पर प्रभाव

तुला राशि वाले जातकों के लिए साल 2022 में गुरु का गोचर मीन राशि (Jupiter Transit in Pisces) में छठे भाव होगा। कुंडली में छठा भाव शत्रु या रोग स्थान भी कह जाता हैं। गुरु के इस परिवर्तन के फलस्वरुप तुला राशि वाले जातकों के लिए यह समय थोड़ा मुश्किल वाला हो सकता है। इस वक्त आप अचानक बीमार भी हो सकते हैं। अक्सर पेट दर्द की परेशानी भी होगी। हालांकि गुरु के छठे स्थान से गुजरने के कारण आपको नौकरी में फायदा हो सकता है।

इसके साथ ही लाइफ पार्टनर के साथ छोटी-छोटी बातों पर मतभेद भी हो सकता है। इतना ही नहीं अभी आप किसी तरह के लोन के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं। विदेश से जुड़े व्यवसाय में भी आपको लाभ हो सकता है। कॅरियर की दृष्टि से गुरु का छठे भाव से गुजरना आपके लिए स्थान परिवर्तन का भी लाभ उपलब्ध करा सकता है। इस अवधि में गुरु पूजन आपको लाभ देगा। इस दौरान आप निवेश को लेकर भी कोई बेहतर योजना बनाने में सक्षम हो सकेंगे।

(क्या आपकी योजनाएं लगातार असफल हो रही हैं? आपको ग्रहों का भी नहीं मिल रहा साथ? तो हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों से एक बार जरूर करें बात, पहला कॉल बिल्कुल मुफ्त!)


गुरु के मीन राशि में गोचर का वृश्चिक (Scorpio) राशि पर प्रभाव

गुरु राशि परिवर्तन कर अप्रैल 2022 (Guru ka gochar 2022) में मीन राशि के पांचवें भाव में पहुंचेंगे। पांचवां स्थान संतान या विद्या का भाव कहा जाता है। ऐसे में गुरु का मीन राशि में प्रवेश (Jupiter Transit in Pisces) आपके लिए अच्छा होगा। इस अवधि में आप अपने प्रिय को प्रपोज करने की प्लानिंग भी कर सकते हैं। इस अवधि में आप शारीरिक रूप से स्वस्थ महसूस करेंगे। किसी पुराने निवेश से भी आपको लाभ मिल सकता है। विद्यार्थी जातकों के लिए यह समय बेहतर रहेगा। वे किसी नए कोर्स में शामिल हो सकते हैं। इस समय रिलेशनशिप में बढ़ते मुद्दों का भी समाधान होगा। इस अवधि में समय सामान्य से भी अच्छा रहेगा। आपको कई जगहों से फायदा होगा। नौकरीपेशा जातकों के अधिकारियों के साथ संबंध अच्छे होंगे। गुरु के इस गोचर का ज्यादा से ज्यादा लाभ प्राप्त करने के लिए आपको वेदोक्त पद्धति से भगवान गणेश की पूजा करवानी चाहिए।


गुरु के राशि परिवर्तन 2022 का धनु (Sagittarius) राशि पर प्रभाव

अप्रैल 2022 में गुरु राशि परिवर्तन (Guru ka gochar 2022) कर मीन राशि में जाएंगे। मीन और धनु दोनों गुरु की अपनी राशि है, और धनु के लिए गुरु का यह राशि परिवर्तन चौथे स्थान पर होगा। इस अवधि में आपको अपनी मां की सेहत का ध्यान रखने की जरूरत है।

आपके कार्यक्षेत्र में विस्तार होगा। नौकरी करने वालों को भी अभी नए मौके मिल सकते हैं। इस दौरान आप किसी प्रॉपर्टी की खरीदारी या नए वाहन की खरीदारी की योजना भी बना सकते हैं। आर्थिक रूप से भी यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा। गृहस्थ जीवन के लिहाज से देखे तो यह समय आपके लिए सामान्य से अच्छा रहेगा। पैतृक संपत्ति संबंधी पहले से चले आ रहे विवादों में भी आपको बेहतर परिणाम मिल सकते हैं। विदेश जाने की योजना बना रहे जातकों के लिए यह समय बेहतर हो सकता है।

(क्या आप भी विदेश जाना चाहते हैं। जानना चाहते हैं कि 2022 में विदेश जाने का आपका सपना पूरा होगा या नहीं, पाइए अपनी 2022 मुफ्त रिपोर्ट)


मीन राशि में गुरु के गोचर 2022 का मकर (Capricorn) राशि पर प्रभाव

मकर राशि वाले जातकों की बात करें तो गुरु का मीन राशि में गोचर (Jupiter Transit in Pisces) इनके लिए सामान्य रुप से फलदायक रहेगा। गुरु, मकर राशि के तीसरे स्थान से परिभ्रमण करेंगे। कुंडली में तीसरा स्थान भाई-बहनों के साथ संबंधों और पराक्रम के लिए जाना जाता है। गुरु के इस राशि परिवर्तन के कारण भाई-बहनों के साथ आपके संबंधों में सुधार होगा। पिछले कई दिनों से चले आ रहे मतभेद भी अभी दूर हो सकते हैं।

इस दौरान आपकी यात्राएं भी ज्यादा हो सकती है। किसी तीर्थ स्थल पर भी जाना हो सकता है। इस समय नौकरीपेशा या व्यापार करने वाले लोगों को भी अभी थोड़ी परेशानी हो सकती है। अभी आपको अपने सहयोगियों से सख्ती से पेश आने से परहेज करने और उनसे प्रेम पूर्वक बात करने की जरुरत होगी। गुरु के इस गोचर (Guru ka gochar 2022) के प्रभाव के कारण आपको प्राणायम और योग में भी रुचि हो सकती है। गुरु ग्रह से अच्छे रिजल्ट प्राप्त करने के लिए आपको वेदोक्त पद्धति से भगवान शिव का रुद्राभिषेक करवाने की जरुरत होगी।


गुरु के मीन राशि में गोचर 2022 का कुंभ (aquarius) राशि पर प्रभाव

मीन राशि वाले जातकों के लिए गुरु का गोचर (Jupiter Transit in Pisces) दूसरे स्थान में होगा। इस दौरान आपको अपनी सेहत का खास ध्यान रखने की जरुरत है। पैतृक संपत्ति से जुड़े विवादों में भी बढ़ोतरी हो सकती है, हालांकि ये विवाद ज्यादा नहीं बढ़ेंगे। आप अपनी मीठी वाणी से लोगों को मोटिवेट कर सकेंगे। अभी आपको अचानक ही धन लाभ हो सकता है। ड्राइविंग में भी आपको काफी ध्यान रखने की जरुरत है।

नौकरीपेशा लोग यदि अभी किसी नए मौके की तलाश में हैं, तो गुरु का मीन राशि में परिवर्तन 2022 (Guru ka gochar 2022) में आपके लिए शुभ फलदायी हो सकता है। कार्य क्षेत्र में भी आपको इसका लाभ मिलेगा। व्यापार में भी कस्टमर्स से मदद मिलेगी। नए ग्राहकों से भी आपको खास लाभ मिल सकता है। लाइफ पार्टनर के साथ आपके संबंधों में काफी सुधार होगा। हालांकि अक्सर आपके बीच में मतभेद भी होते रहेंगे, लेकिन बात ज्यादा आगे तक नहीं जाएगी। गुरु ग्रह के गोचर का ज्यादा से ज्यादा लाभ प्राप्त करने के लिए आपको हनुमान जी की खास पूजा करवाने की जरुरत है। हनुमान जी की कृपा से आपके बिगड़ते कार्यों में भी सुधार होगा।


गुरु के राशि परिवर्तन 2022 का मीन (Pisces) राशि पर प्रभाव

13 अप्रैल 2022 को गुरु कुंभ राशि से निकलकर मीन राशि के पहले भाव में (Jupiter Transit in Pisces) गोचर करेंगे। मीन राशि गुरु की खुद की राशि है। इस गोचर (Guru ka gochar 2022) के फलस्वरुप लाइफ पार्टनर के साथ आपके संबंधों में आशानुकूल सुधार होगा। आपके बीच तालमेल भी अच्छा रहेगा और आपके ज्ञान में भी वृद्धि होगी। इस दौरान समाज में भी आपकी प्रशंसा होगी। अभी कुछ नया सीखने को लेकर भी आप उत्साहित रहेंगे।

अभी सामाजिक कार्यों में भी आपकी रुचि बढ़ेगी। व्यापारियों की बात करें तो वे अपने भागीदार के साथ मिलकर व्यापार बढ़ाने की योजना पर भी काम करेंगे। नौकरीपेशा लोगों के प्रदर्शन में सुधार देखने को मिलेगा। आपका बॉस आपकी तारीफों के पुल बांध सकता है। इससे आपके प्रदर्शन में सुधार होगा और आप अपने लंबित कार्यों को समय पर पूरा करने की योजना पर भी काम करेंगे। अगर आप भगवान शिव की पूजा करेंगे तो आपको गुरु ग्रह के और भी बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।