बैडरूम के लिए वास्तु टिप्स : अपना प्रेम जीवन उत्तम बनाएं

अपने साथी के साथ रिश्ते और प्यार की मजबूती के लिए आपके बेडरूम की संरचना बहुत मायने रखती है। बेडरूम को बनाते समय कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर आपको ध्यान रखना चाहिए। यह आपके प्रेम और स्नेह के साथ एक सुखी वैवाहिक जीवन जीने में मदद करता है।

स्त्री और पुरुष दोनों के लिए यह काफी महत्वपूर्ण हो जाता है कि वे एक जोड़े की तरह साथ रहते हुए अपने संबंध को मजबूत करें। जिंदगी में ऐसे कई पड़ाव आते हैं जहां आपके रिश्तों को बनाए रखने के लिए आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। अपने रिश्ते में प्यार को बरकरार रखने के लिए आपको कई बार समझौती भी करने पड़ते है। ऐसे समय में आपको वास्तु शास्त्र के अनुसार बनाया हुआ बेडरूम, आपके रिश्तों को मजबूत बनाए रखने में काफी प्रभावशाली होता है। बिस्तर और वस्तुओं को वास्तुशास्त्र में सुझाए दिशा के अनुरूप सेट करना चाहिए। विवाहित जोड़ों के लिए बेडरूम का सही वास्तु असामयिक मृत्यु, खराब स्वास्थ्य, नींद की बीमारी और संतान संबंधी समस्याओं को खत्म करने में मदद करता है।


शादीशुदा जोड़े के बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स

विवाहित जोड़ों के लिए बेडरूम निर्माण में विभिन्न प्रकार की सामग्रियों की आवश्यकता है। बेडरूम इस तरह से बनाया जाना चाहिए उसमें रहने वाले कपल सभी समस्याओं में एक दूसरे के साथ खड़े रहे। यह तभी संभव है, जब बेडरूम को वास्तु के अनुसार बनाया जाए। आज हम आपको कुछ वास्तु टिप्स के बारे में बताएंगे, जो आपके मास्टर बेडरूम के निर्माण सहायक होंगे। अगर आप वास्तु टिप्स के अनुसार ही घर में बेडरूम का निर्माण करवाते हैं, तो यकीन मानिए आपका जीवन खुशहाल व्यतीत होगा।

वास्तु विशेषज्ञ से बात करने के लिए ज्योतिषी से बात करें

  • घर में बेडरूम उत्तर या दक्षिण-पश्चिम दिशा में स्थित होना चाहिए, क्योंकि यह पोषण और प्रेम का प्रतिनिधित्व करता है। जिससे आपको जीवन में हमेशा एक दूसरे के प्रति प्यार बना रहता है।
  • बिस्तर को हमेशा एक दीवार से चिपका कर ही रखें, और इस बात का भी ध्यान रखें कि सोते समय आपका सिर भी दीवार की तरफ ही हो, यह अच्छा शगुन माना जाता है यह एक दूसरे को गहराई से समझने में मदद करता है और एक मजबूत बंधन बनाता है।
  • हमेशा धातु के बजाय लकड़ी से बने बेड या पलंग का इस्तेमाल करें। धातु रिश्तों में झगड़े और अहंकार को जन्म देती है।
  • बेडरूम को चमकीले रंगों में चित्रित किया जाना चाहिए, क्योंकि यह युगल के मूड को सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। आपके घर में अच्छी तस्वीर या चित्र होंगे, तो यह आपके मूड को सकारात्मकता प्रदान करेंगे।
  • सुनिश्चित करें कि सूर्य के प्रकार का एक भी बीम बीम बिस्तर से पार नहीं होना चाहिए क्योंकि यह बहुत अशुभ माना जाता है।
  • आप रोमांटिक और सुंदर माहौल के निर्माण के लिए बेडरूम में ताजे फूल लगा सकते हैं। इससे आपका रिश्ता जवान और खिलता रहेगा।
  • आप घर में जिस रंग के लैंप का इस्तेमाल करते हैं, सुनिश्चित करें कि उसका रंग हल्का नीला या फिर हरा होना चाहिए। क्योंकि यह एक रोमांटिक कलर माना जाता है।
  • वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों के अनुसार बेडरूम में हमेशा टीवी, लैपटॉप, कम्प्यूटर की स्क्रीन को कवर करके ही रखें। यह घर के माहौल को नकारात्मक बनाने से बचाता है।
  • जहां तक हो सके तो कोशिश करें कि दक्षिण दिशा की ओर सिर करके ही सोए।

कपल्स के लिए बेडरूम वास्तु: बुरे हालात से बचने के लिए

एक कपल के लिए हमेशा मजबूत बंधन में बंधना मुश्किल लग सकता है। क्योंकि रिश्तों में छोटी मोटी मीठी नोकझोंक होती रहती है। लेकिन कई लोगों की मानसिकता ऐसी होती है, कि वह अपने ईगो में आ जाता है। जिससे रिश्तों में दरार पड़ जाती है। अपने रिश्तों को बनाए रखने के लिए इंसान को इस बात का बखूबी ध्यान रखना चाहिए कि वह कभी भी अपने ईगो को बीच में न लाए। अगर वह ऐसा करता है, तो ऐसे कपल के रिश्तों में कभी दूरियां नहीं आती है। इसमें घर की वास्तु भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। आपके घर का माहौल आपको व्यवहार को परिवर्तित कर देता है। इसलिए आपको वास्तु शास्त्र के अनुसार ही अपने बेडरूम का निर्माण करवाना चाहिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार बेडरूम की डिजाइनिंग बहुत आसान है। बेडरूम का निर्माण कपल को कठिन समय से गुजरने में समर्थन करेगा। साथ ही यह झगड़े, हताशा और समझ की कमी से बचाता है। यह संतान और गर्भपात की समस्या में भी मदद करता है।

शादी हो गई पर संतुष्ट नहीं? वास्तु विशेषज्ञों से परामर्श लें और अपनी सभी समस्याओं से संबंधित वास्तु के लिए सभी समाधान प्राप्त करें और खुश रहें।

नीचे कुछ बातें बताई गई हैं, जिनका आप बेडरूम बनाते समय ध्यान रखेंगे, तो आपको काफी सहायता मिलेगी।

  • काले या गहरे रंग के पर्दे का उपयोग न करें, क्योंकि यह गलतफहमी पैदा करता है और खुद पर भी भरोसा करने से रोकता है।
  • कभी भी पूर्व या उत्तर दिशा की ओर सिर करके न सोएं, क्योंकि इससे पार्टनर में जलन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।
  • बेडरूम में गहरे रंग के कपड़े न पहनें, क्योंकि यह रंग आपके लिए बुरा शगुन लेकर आते हैं, और भावनात्मक अशांति पैदा करते हैं।
  • बेडरूम में किसी भी प्रकार के दर्पण का उपयोग न करें, विशेष रूप से जो कि बिस्तर को दर्शाता है। हालांकि आप दर्पण को ढक सकते हैं।
  • बेडरूम में ड्रेसिंग टेबल का उपयोग न करें।
  • बेडरूम को उत्तर-पूर्व दिशा में न रखें, क्योंकि इससे रिश्तों में कई जटिलताएँ आती हैं।
  • हमेशा याद रखें कि बेडरूम में काम से संबंधित मुद्दों को न लाएं। इससे नुकसान होता है। आपको ऐसे विषयों से बचना चाहिए और एक-दूसरे के बारे में अधिक जानने के लिए समय देना चाहिए।

अब हम जानते हैं कि बेडरूम में वास्तु अगर ठीक नहीं होती है तो यह एक कपल के जीवन में काफी प्रभाव डालती है। यंग महिला और पुरुष के बीच के रिश्तों में खटास पैदा करता है। आप वास्तु वास्त्र के अनुसार बेडरूम का निर्माण करते हैं तो आपका रिश्ता दिन प्रतिदिन मजबूत होता है। आपके रिश्तों में नकारात्मक भावनाओं को खत्म कर देता है, और जल्द ही आपके जीवन में खुशियां आ जाती है। आप निश्चित रूप से एक कदम आगे बढ़ेंगे, लेकिन अपने प्रेम और विवाहित जीवन को सुंदर बनाने के लिए वास्तविक प्रयासों और आवश्यकताओं के अनुसार समझौता करेंगे। क्योंकि प्रेम जीवन का महत्वपूर्ण अंग है, जो हर किसी के जीवन में सभी को इसकी आवश्यकता होती है।

जीवन में वास्तु से संबंधित किसी समस्या के हल के लिए विशेषज्ञ से चर्चा करें