कुंभ और वृश्चिक अनुकूलता

जैसे-जैसे हम मैच्योर होते हैं, हमें रिलेशनशिप भी मजबूत और मैच्योर ही चाहिए होती है। रिलेशनशिप को मैच्योर होने में हमारी राशि के एलिमेंट की भूमिका सबसे ज्यादा होती है। ये एलिमेंट फायर, अर्थ, एयर और वाटर होते हैं। राशिचक्र की सभी 12 राशियां इन्हीं चार एलिमेंट्स के आसपास घूमती रहती है। कई बार रिश्तों के टूटने पर हम हमेशा ही व्यावहारिक मजबूरियों को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते हैं। एस्ट्रोलॉजी में रिश्ते के बनने और टूटने के इस सिद्धांत को हम आसानी से जान सकते हैं। इसी सिद्धांत के अनुसार देखते हैं कुंभ और वृश्चिक के बीच कंपेटेबिलिटी-

कुंभ

21 Jan - 18 Feb

वृश्चिक

24 Oct - 22 Nov
ट्रूथफूल
ऑनेस्ट
पॉपुलर
ब्रॉड माइंडेड
क्रिएटिव
सोश्यल
डिप्लोमेटिक
मैग्नेटिक
स्ट्रॉन्ग
एटीट्यूड
करेजियस
इंट्रोवर्ट

कुंभ – वृश्चिक लव कंपेटेबिलिटी

कुंभ लॉर्ड शनि हैं। शनि कुंभ को व्यावहारिक व्यवस्थित नजर आते हैं। वहीं वृश्चिक के स्वामी मंगल है, जो इसे अधिक रहस्यमयी और बहादुर बनाते हैं। क्या कुंभ और वृश्चिक प्यार के रास्ते पर अपनी राह खोज पाएंगे? समझते हैं कुछ पॉइंट्स के आधार पर-

  • वृश्चिक को राशिचक्र की सबसे पेचीदा और रहस्यमय राशि माना जाता है, लेकिन उनका यह नेचर कुंभ को बेहद आकर्षक लगता है।
  • वाटर साइन वृश्चिक अपने इमोशंस को बहुत आसानी से व्यक्त नहीं करते,कुंभ को भी इससे कोई परेशानी नहीं होती है।
  • कई बार दोनों एक-दूसरे के बिहेवियर की प्रशंसा करते रहते हैं।
  • यदि वृश्चिक और कुंभ दोनों अपने रिश्ते को मजबूत बनाना चाहते हैं, तो विश्वास की डोर को और मजबूत करना होगा।

कुंभ – वृश्चिक संबंधों के फायदे

कुंभ – वृश्चिक के संबंध बनते हैं, तो यह एक बढ़िया जोड़ी हो सकती है। वृश्चिक एक वाटर साइन है और कुंभ एक एयर साइन है। देखते हैं दोनों के संबंधों में क्या फायदे होते हैं-

  • दोनों को आउडोर एडवेंचर पसंद हैं। साथ में स्कूबा डाइविंग से लेकर कई तरह के एडवेंचर गेम्स में शामिल रहेंगे।
  • दोनों ही अपने दायरे में रहते हैं और ज्यादा सामाजिक होना उन्हें पसंद नहीं आता है। इससे वे एक-दूसरे के करीब बने रहते हैं।
  • जब तक वे एक-दूसरों के पूरी तरह समझ नहीं जाते, जीवन में एक खालीपन बना रहता है।

कुंभ – वृश्चिक संबंधों के नुकसान

कुंभ और वृश्चिक दोनों राशियों के बीच प्यार आगे बढ़ सकता है, परंतु इसके बावजूद भी इनके संबंधों में कुछ खटा हो सकती है। वृश्चिक और कुंभ दोनों ही राशियों के लोग अपनी आपसी समझ और तालमेल के आधार पर अपने रिश्ते को कितना आगे बढ़ा पाते हैं, यह सोचने वाली बात हो सकती है। यहां जानते हैं दोनों संबंधों के कुछ नुकसान-

  • कुंभ – वृश्चिक दोनों दो जिद्दी लोग हैं। एक बार जिद पकड़ लेते हैं, तो उस पर डटे रहते हैं।
  • वृश्चिक बहुत ही रहस्यमयी होते हैं। कुंभ भी अपने सीक्रेट्स किसी से शेयर नहीं करता। ऐसे में दोनों की बीच कभी भी मिस अंडरस्टैंडिंग हो सकती है।
  • दोनों के बीच मतभेद तब तक चलते रहते हैं, जब तक वे एक-दूसरे को पूरी तरह समझ नहीं जाते हैं। इसमें लंबा वक्त भी लग सकता है।
  • अपनी क्यूरियोसिटी के लिए कुंभ चारों दिशाओं की खाक छानते फिरते हैं, लेकिन वृश्चिक उत्तरों की तलाश अपने में ही करता रहता है।
  • वृश्चिक किसी बात को लंबे समय तक भूलते नहीं हैं, कुंभ के लिए यह बात थोड़ी परेशान करने वाली होती है।
  • कई बार दोनों एक-दूसरे की निष्ठा पर भी सवाल उठा देते हैं।

कुंभ – वृश्चिक मैरिज कंपेटेबिलिटी

वैवाहिक संबंधों के लिहाज से यह जोड़ी कई मायनों में एक दूसरे के विपरीत नजर आती है। लेकिन यदि उनका रिश्ता सामाजिक गठबंधन के माध्यम से उतरा है, तो इसमें संभावनाएं हो सकती है।

  • दोनों की आपसी बातचीत संबंधों को और मजबूत करती है।
  • दोनों की प्रायोरिटीज और मेंटेलिटी हमेशा एक-दूसरे के लिए झुकने को प्रेरित करेगी।
  • एक बात पक्की है, उनकी शादी कभी भी उबाऊ, पुरानी या नीरस नहीं होगी। बोरिंग होने पर वे दोनों इसे फिर से शुरू करना चाहेंगे।
  • कुंभ को ज्यादा एक्सप्रेसिव होने से बचना होगा, वहीं वृश्चिक को खुद में बने रहने से बाहर आना होगा।

कुंभ – वृश्चिक सेक्सुअल कंपेटेबिलिटी

प्रेम संबंधों को अगले स्तर पर पहुंचाने के लिए सेक्सुअल लाइफ का सक्सेसफुल होना बेहद जरूरी है। आइए जानते है कुंभ और वृश्चिक के बीच सेक्सुअल अनुकूलता के बारें में कुछ अधिक।

  • बेड पर कुंभ और वृश्चिक दोनों एक-दूसरे को पूरी स्वतंत्रता देना चाहते हैं।
  • हालांकि कभी-कभी कुंभ- वृश्चिक की भावनाओं, जुनून और तार्किक सोच के बीच संतुलन बनाना बेहद जटिल कार्य हो सकता है।
  • वृश्चिक समुद्र के समान गहरे प्रेमी होते हैं और कुंभ इनकी लहरों पर सवार होना चाहते हैं।
  • दोनों अपने बेडरूम रिलेशंस को एक वंडरलैंड बना देना चाहते हैं।

निष्कर्ष के तौर पर कहा जा सकता है कि कुंभ और वृश्चिक की जोड़ी प्रेम, विवाह और सेक्सुअल तीनों ही प्रमुख बिंदुओं पर औसत स्तर तक खरी उतरती है। किसी भी रिश्ते की सफलता तभी संभव है, जब दोनों ओर से रिश्ते को संभालने की बराबर अप्रोच हो।

Your Zodiac Sign

Your Partner's Zodiac Sign